मरकज से जुड़े 8 विदेशी जमाती अभी तक नहीं जा सके हैं अपने देश, साकेत कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से मांगी जानकारी

तबलीगी जमात पर केन्द्र सरकार की गाइड लाइन के उल्लघंन का आरोप लगा था.
तबलीगी जमात पर केन्द्र सरकार की गाइड लाइन के उल्लघंन का आरोप लगा था.

Tablighi Markaz Case: एडवोकेट आशिमा मंडल और मंदाकिनी सिंह ने विदेशी जमातियों को लेकर कोर्ट में याचिका (PIL) दाखिल की है. याचिका में जमातियों को उनका पासपोर्ट (Passport) लौटाने और उनके देश जाने का उल्लेख किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 9:53 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. तबलीगी मरकज (Tablighi Markaz) से जुड़े आठ विदेशी जमाती (Foreigner jamati) अभी तक अपने देश वापस नहीं जा सके हैं. हालांकि कोरोना-लॉकडाउन में उल्लघंन के आरोप से कोर्ट इन्हें आरोप मुक्त कर चुकी है. लेकिन सभी जमातियों का पासपोर्ट जब्त है. बिना पासपोर्ट (Passport) के जमाती कैसे अपने देश लौटेंगे. इसी के चलते साकेत कोर्ट (Saket Court) में एक याचिका दाखिल हुई है. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से इस मामले पर जवाब दाखिल करने को कहा है.

24 अगस्त को आरोप मुक्त हो चुके हैं विदेशी जमाती
सभी 8 विदेशी जमातियों को 24 अगस्त को मेट्रोपॉलिटन मजिस्ट्रेट की कोर्ट में आरोप मुक्त कर दिया गया था. कोर्ट ने अब मामले की सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस से पूछा है कि इन विदेशियों को उनके देश भेजने के लिए क्या प्रक्रिया अपनाई जा रही है. जमातियों पर लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान भारत सरकार के द्वारा बनाई गई COVID-19 गाइडलाइन का उल्लंघन करने के आरोप में मामला दर्ज किया था. हालांकि किसी भी विदेशी नागरिक को गिरफ्तार नहीं किया गया था. ज्यादातर विदेशी नागरिकों ने अपनी गलती मान ली थी. कोर्ट ने इसी आधार पर उन्हें राहत दी थी.

यह भी पढ़ें- अलीबाबा को पीछे छोड़ 2021 में Bharat e commerce बन सकता है दुनिया का सबसे बड़ा e commerce पोर्टल



यह कहा गया है दायर याचिका में
विदेशी नागरिकों को उनके देश भेजने को लेकर एडवोकेट आशिमा मंडल और मंदाकिनी सिंह की तरफ से कोर्ट में याचिका दाखिल की गई है. साकेत कोर्ट में दाखिल याचिका में कहा गया था कि इन विदेशी नागरिकों को उनका पासपोर्ट लौटाया जाए. साथ ही इनके खिलाफ जारी लुकआउट नोटिस को बंद कराया जाए. जिससे यह सभी अपने देश वापस लौट सकें. हालांकि मुश्किल इन विदेशियों को अपने देश लौटने की थी, जिस पर साकेत कोर्ट ने अब दिल्ली पुलिस से इनकी वापसी की व्यवस्था करने को लेकर जवाब मांगा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज