South MCD ने रेल मंत्री से मांगे खराब कंटेनर, कहा-इनमें खोलेंगे स्कूल और अस्पताल!

दक्षिणी निगम ने खराब रेल कंटेनराेंं में विद्यालय , डिस्पेंसरी खोलने की योजना बनाई है. (प्रतीकात्‍मक फोटाे)

दक्षिणी निगम ने खराब रेल कंटेनराेंं में विद्यालय , डिस्पेंसरी खोलने की योजना बनाई है. (प्रतीकात्‍मक फोटाे)

अनाधिकृत कॉलोनियों में जहां बड़े अस्पताल व स्कूल नहीं हैैं वहां ‌‌इन कंटेनरों का उपयोग किया जाएगा ताकि नागरिकों को उनके घर के समीप भी ये सुविधा उपलब्ध कराई जा सके. इन कंटेनरों का उपयोग कर, SDMC कम बजट में ही छोटे विद्यालय व डिस्पेंसरी तैयार करने की योजना बना रही है. वहाँ निगम शिक्षकों और स्वास्थ्यकर्मी को तैनात कर उन्हें सुचारु रूप से चलाने की योजना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 21, 2021, 2:05 PM IST
  • Share this:


नई ‍दिल्ली. साउथ दिल्ली नगर निगम (South MCD) अपने अधीनस्थ क्षेत्र में एक अनूठी पहल शुरू करने जा रह‍‍ा है. साउथ निगम ने केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल (Piyush Goyal) से आग्रह किया है कि वह  प्रयोग में नहीं आने वाले और खराब पड़े रेल कंटेनरों को एसडीएमसी को उपलब्ध कराए ‌जिनमें स्कल और डिस्पेंसरी खोले जा सकें.





मेयर अनामिका ने केन्द्रीय रेल मंत्री पी‍यूष गोयल के साथ वर्चुअल बैठक की. उन्होंने मांग की कि दक्षिणी निगम को विद्यालय ,डिस्पेंसरी और शौचालय बनाने के लिए अनुपयोगी रेल कंटेनर उपलब्ध कराये जाएं. उन्होंने कहा कि केन्द्रीय रेल मंत्री ने यह आश्वस्त किया है कि दक्षिणी निगम को ये रेल कंटेनर जल्द से जल्द उपलब्ध कराए जाएंगे.


अनधिकृत कॉलोनियों में मिल सकेगी अस्पताल  व स्कूल की सुविधा

 उन्होंने कहा कि अनाधिकृत कॉलोनियों में जहां बड़े अस्पताल व स्कूल नहीं हैैं वह‌ां ‌‌इन कंटेनरों का उपयोग किया जाएगा ताकि नागरिकों को उनके घर के समीप भी ये सुविधा उपलब्ध कराई जा सके.






उन्होंने कहा कि इन कंटेनरों का उपयोग कर, हम कम बजट में ही छोटे विद्यालय व डिस्पेंसरी तैयार कर सकते हैं और वहाँ निगम शिक्षकों और स्वास्थ्यकर्मी को तैनात कर उन्हें सुचारु रूप से चला सकते हैं.


रेलवे ट्रैक के आस पास पब्लिक टॉयलेट बनाने को मांगी जमीन 

इस वर्चुअल बैठक में मेयर ने केन्द्रीय रेल मंत्री को यह भी प्रस्ताव दिया की दक्षिणी निगम को रेल मंत्रालय द्वारा रेलवे ट्रैक के आस पास के क्षेत्र में ज़मीन दी जाये ताकि वह‍ां सार्वजनिक शौचालय बनाए जा सकें.




उन्होंने कहा कि रेलवे ट्रैक के आस पास लोग खुले में शौच करते हैं जिस कारण अस्वच्छता फैलती है अगर निगम वहां शौचालय बनवाता है तो इस समस्या का निदान हो सकेगा. उन्होंने कहा कि हम रेल मंत्रालय के संपर्क में है और जल्द से जल्द हमें सार्वजनिक शौचालय बनवाने के लिए ज़मीन उपलब्ध करा दी जाएगी.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज