Home /News /delhi-ncr /

sdmc mayor wrote a letter to commissioner demand to register a case for stopping the shaheen bagh bulldozer action on aap mla

Shaheen Bagh: बुलडोजर कार्रवाई रोकने पर AAP MLA पर दर्ज होगा मामला! मेयर ने SDMC कम‍िश्‍नर को ल‍िखा पत्र

एसडीएमसी कम‍िश्‍नर को पत्र ल‍िख कर न‍िर्देश द‍िए है क‍ि वह सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के मामले में व‍िधायक अमानतुल्‍लाह खान (Amanatullah Khan) के ख‍िलाफ एफआईआर दर्ज करवाएं.   (फाइल फोटो)

एसडीएमसी कम‍िश्‍नर को पत्र ल‍िख कर न‍िर्देश द‍िए है क‍ि वह सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के मामले में व‍िधायक अमानतुल्‍लाह खान (Amanatullah Khan) के ख‍िलाफ एफआईआर दर्ज करवाएं. (फाइल फोटो)

Shaheen Bagh Bulldozer Action: सोमवार को आप विधायक अमानतुल्लाह खान (Amanatullah Khan) की ओर से साउथ एमसीडी (SDMC) के अतिक्रमण विरोधी अभियान को रोकने को लेकर अब और ज्‍यादा बवाल मच गया है. व‍िधायक ने स्थानीय लोगों के साथ विरोध प्रदर्शन किया. इसकी वजह से आज अतिक्रमण हटाने की कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी. इस मामले में अब एसडीएमसी से सख्‍त रूख अख्‍त‍ियार क‍िया है और आप व‍िधायक अमानतुल्‍लाह खान के ख‍िलाफ मामला दर्ज करने की मांग की गई है.

अधिक पढ़ें ...

नई द‍िल्‍ली. दिल्ली के शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में एमसीडी (Delhi Municipal Corporation) की बुलडोजर कार्रवाई (Bulldozer action) पर एक बार फ‍िर राजनीत‍िक घमासान तेज हो गया है. भाजपा और आम आदमी पार्टी दोनों आरोप-प्रत्‍यारोप लगा रहे हैं. सोमवार को आप विधायक अमानतुल्लाह खान (Amanatullah Khan) की ओर से साउथ एमसीडी (SDMC) के अतिक्रमण विरोधी अभियान को रोकने को लेकर अब और ज्‍यादा बवाल मच गया है.

व‍िधायक ने स्थानीय लोगों के साथ विरोध प्रदर्शन किया. इसकी वजह से आज अतिक्रमण हटाने की कोई कार्रवाई नहीं की जा सकी. इस मामले में अब एसडीएमसी से सख्‍त रूख अख्‍त‍ियार क‍िया है और आप व‍िधायक अमानतुल्‍लाह खान के ख‍िलाफ मामला दर्ज करने की मांग की गई है.

शाहीन बाग में बुलडोजर रोकने वालों को झटका, SC बोला- हम दखल नहीं देंगे, HC जाओ

साउथ द‍िल्‍ली के मेयर मुकेश सूर्यान (Mukesh Suryaan) की ओर से एसडीएमसी कम‍िश्‍नर को पत्र ल‍िख कर न‍िर्देश द‍िए है क‍ि वह सरकारी काम में बाधा पहुंचाने के मामले में व‍िधायक अमानतुल्‍लाह खान (Amanatullah Khan) के ख‍िलाफ एफआईआर दर्ज करवाएं. इस मामले में द‍िल्‍ली प्रदेश भाजपा की ओर से एसडीएमसी मेयर मुकेश सूर्यान को पत्र ल‍िखा गया था.

मेयर मुकेश सूर्यान (Mukesh Suryaan) की ओर से एसडीएमसी कम‍िश्‍नर को पत्र ल‍िख कर न‍िर्देश द‍िए है

मेयर मुकेश सूर्यान (Mukesh Suryaan) की ओर से एसडीएमसी कम‍िश्‍नर को पत्र ल‍िख कर न‍िर्देश द‍िए है

इस पर कार्रवाई करते हुए मेयर ने एसडीएमसी कम‍िश्‍नर को पत्र ल‍िखा है. इसके अलावा आदेश गुप्‍ता ने एक पत्र द‍िल्‍ली पुल‍िस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना को भी ल‍िखा है और उन सभी राजनीत‍िक लोगों के ख‍िलाफ मामला दर्ज करने का आग्रह क‍िया है ज‍िन्‍होंने सरकारी कार्य में बाधा डालने का काम क‍िया है.

आदेश गुप्‍ता ने एक पत्र द‍िल्‍ली पुल‍िस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना को भी ल‍िखा है.

आदेश गुप्‍ता ने एक पत्र द‍िल्‍ली पुल‍िस कम‍िश्‍नर राकेश अस्‍थाना को भी ल‍िखा है.

इस बीच देखा जाए तो अतिक्रमण रोधी अभियान के खिलाफ प्रदर्शन की वजह से राष्ट्रीय राजधानी के शाहीन बाग और आसपास के इलाकों में सोमवार को जाम लग गया. अधिकारियों ने बताया कि वरिष्ठ पुलिस अफसरों समेत बड़ी संख्या में पुलिस कर्मियों की मौजूदगी में अतिक्रमण हटाने के लिए शाहीन बाग में बुलडोज़र पहुंचा जिसके बाद महिलाओं समेत अन्य लोगों ने वहां विरोध-प्रदर्शन शुरू कर दिया. इस वजह से शाहीन बाग, कालिंदी कुंज, जैतपुर, सरिता विहार और मथुरा रोड समेत अन्य स्थानों पर यातायात जाम हो गया.

बताते चलें क‍ि अमानतुल्‍लाह खान ने कार्रवाई को रोकते हुए कहा था कि एमसीडी बताए अतिक्रमण कहां है? इलाके में जो अतिक्रमण था उसे हटा दिया गया है. हमने खुद अतिक्रमण हटवाया था, MCD वापस जाए. बीजेपी सिर्फ हिंदू-मुसलमान करना चाहती है.

CPM की याच‍िका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार
इतना ही नहीं शाहीन बाग में एमसीडी के एक्शन पर रोक लगाने की मांग करने वालों को सुप्रीम कोर्ट से भी झटका लगा है. साउथ दिल्ली में शाहीनबाग में अवैध निर्माण कर बसाई गईं बस्तियों को हटाने के आदेश के खिलाफ भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी मार्क्सवादी यानी सीपीएम की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने सुनवाई करने से इनकार कर दिया.

Tags: AAP MLA, Delhi MCD, Delhi News Alert, MCD, Shaheen Bagh, Shaheen bagh protest

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर