दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम के खिलाफ राजद्रोह का मुकदमा दर्ज

खान के खिलाफ इस एफआईआर को वसंत कुंज के रहने वाले किसी व्यक्ति ने दर्ज कराया है.

खान के खिलाफ इस एफआईआर को वसंत कुंज के रहने वाले किसी व्यक्ति ने दर्ज कराया है.

दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग (Delhi Minority Commission) के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान पर सोशल मीडिया (Social Media) पर कथित रूप से "भड़काऊ" टिप्पणी करने के आरोप में राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग (Delhi Minority Commission) के अध्यक्ष जफरुल इस्लाम खान पर सोशल मीडिया (Social Media) पर कथित रूप से "भड़काऊ" टिप्पणी करने के आरोप में राजद्रोह का मुकदमा दर्ज किया गया है. हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के अनुसार, दिल्ली पुलिस के संयुक्त आयुक्त (स्पेशल सेल) नीरज ठाकुर ने कहा कि खान के खिलाफ भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 124 ए (देशद्रोह) और 153 ए (विभिन्न समूहों के बीच वैमनस्य को बढ़ावा देना) के तहत एफआईआर दर्ज की गई है. अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष खान ने इस मामले में किसी भी तरह की टिप्पणी नहीं की. उन्होंने कहा कि मैंने एफआईआर नहीं देखी है. वे अपनी बात एफआईआर देखने और जानकारी मिलने के बाद रखेंगे.



सोशल मीडिया पर पोस्ट कर मांगी थी माफी

दरअसल, खान ने गुरुवार को सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर की थी. इस पोस्ट पर विवाद के बाद उन्होंने कहा था कि उनका इस तरह का ट्वीट करने का यह सही समय नहीं था. ये असंवेदनशील था. उनका ये भी कहना था कि इससे बहुत लोगों को दुख पहुंचा है, लेकिन उनका इस तरह का कोई इरादा नहीं था. इस रिपोर्ट के अनुसार, खान के खिलाफ इस एफआईआर को वसंत कुंज के रहने वाले किसी व्यक्ति ने दर्ज कराया है. यह शिकायत सफदरजंग के एसीपी के माध्यम से एंटी टेरर स्क्वाड के स्पेशल सेल के लोघी रोड स्थित ऑफिस पहुंची.


पोस्ट के बाद निशाने पर थे खान

सोशल मीडिया पर किए गए एक पोस्ट में खान ने कथित तौर पर भारत में मुस्लिमों के साथ होने वाले अत्याचार की बात कही थी. उसके बाद उनपर जमकर निशाना साधा गया. इस पर उन्होंने माफी भी मांगी. हमारा देश एक मेडिकल इमरजेंसी और अदृश्य दुश्मन से लड़ रहा है. ऐसे में जिन्हें भी इस पोस्ट से चोट पहुंची हैं, मैं उनसे माफी मांगता हूं.





मीडिया पर भी मढ़ा आरोप, चैनल को भेजा नोटिस

उन्होंने कहा कि 28 अप्रैल के अपने ट्वीट में उन्होंने भारतीय मुसलमानों के उत्पीड़न के मुद्दे पर कुवैत के ध्यान देने के मुद्दे पर एक ट्वीट किया था. जिसका संदर्भ उत्तर पूर्वी दिल्ली की हिंसा थी. उससे कुछ लोगों को दुख हुआ है. लेकिन उनका इस तरह का कोई इरादा नहीं था. खान ने मीडिया पर भी तथ्यों को तोड़ने मरोड़ने का आरोप लगाया है. उन्होंने बताया कि इस संबंध में एक समाचार चैनल को कानूनी नोटिस भेजा गया है.



बीजेपी ने की पद से हटाने की मांग

जफरुल इस्लाम खान के ट्वीट और फेसबुक पोस्ट पर बीजेपी ने उन्हें दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष पद से हटाने की मांग की. इस मामले में दिल्ली के बीजेपी विधायकों के एक प्रतिनिधिमंडल ने गुरुवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल से मुलाकात की और उनके खिलाफ मामला दर्ज करने की भी मांग की.



ये भी पढ़ें: 



दिल्ली अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष ने किया विवादित पोस्ट, 'मुस्लिमों ने अरब देशों से शिकायत की तो तूफान आ जाएगा'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज