दिल्ली में COVID-19 की तीसरी लहर के पीछे प्रदूषण बड़ा कारण: CM केजरीवाल

मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि राष्ट्रीय राजधानी में यह रूझान जारी रहेगा. (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ बैठक में सीएम अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने अनुरोध किया कि COVID-19 की तीसरी लहर को देखते हुए दिल्ली में केंद्र के अस्पतालों में अतिरिक्त 1000 ICU बेड आरक्षित किए जाएं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (PM Narendra Modi) के साथ बैठक में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल  (Arvind Kejriwal) ने मंगलवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 की तीसरी लहर की अधिक गंभीरता के कई कारण है तथा इनमें से एक महत्वपूर्ण कारण प्रदूषण (Pollution) है. सूत्रों ने बताया कि केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से कहा कि तीसरी लहर में 10 नवंबर को दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के 8,600 नए मामले सामने आए थे और उसके बाद से संक्रमण के मामलों की संख्या तथा संक्रमण की दर दोनों में तेजी से कमी आ रही है. मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि राष्ट्रीय राजधानी में यह रुझान जारी रहेगा.

    सूत्र ने बताया, ‘‘मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण की तीसरी लहर के अधिक गंभीर होने के अनेक कारण हैं. इनमें एक महत्वपूर्ण कारण प्रदूषण है. इसके साथ उन्होंने हाल ही में आई बायो-डिकम्पोजर तकनीक का उल्लेख करते हुए पड़ोसी राज्यों में पराली जलाने के कारण उत्पन्न होने वाले प्रदूषण से निजात दिलाने के लिए प्रधानमंत्री से हस्तक्षेप करने का अनुरोध किया.’’



    संक्रमण के मामलों में तेजी आई
    सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री के साथ बैठक में केजरीवाल ने अनुरोध किया कि जब तक शहर में संक्रमण की तीसरी लहर का कहर जारी है, तब तक दिल्ली स्थित केंद्र सरकार द्वारा संचालित अस्पतालों में कोरोना वायरस के मरीजों के लिए अतिरिक्त एक हजार आईसीयू बिस्तर आरक्षित किए जाएं. प्रधानमंत्री ने मंगलवार को उन राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक कर कोविड-19 की ताजा स्थिति की समीक्षा की जहां हाल के दिनों में संक्रमण के मामलों में तेजी आई है.

    1,200 बाईपैप मशीनें तुरंत खरीदी जाएंगी
    इससे पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने नए आईसीयू बिस्तरों के लिए तत्काल 1,200 बाईपैप मशीनें खरीदने का निर्देश दिया है. एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी. अधिकारी ने बताया कि इन मशीनों के आने से नए आईसीयू बिस्तर तुरंत उपयोग के लायक हो जाएंगे. अधिकारी ने बताया कि वैज्ञानिक तथा औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) से 1,200 बाईपैप मशीनें तुरंत खरीदी जाएंगी.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.