लाइव टीवी

CAA Protest: दिल्ली पुलिस पर शाहीन बाग में चल रहे लंगर को उखाड़ने का आरोप
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: January 24, 2020, 4:28 PM IST
CAA Protest: दिल्ली पुलिस पर शाहीन बाग में चल रहे लंगर को उखाड़ने का आरोप
CAA-NRC के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में महिलाएं और बच्चे पिछले 42 दिन से धरने पर बैठे हैं (फाइल फोटो)

शाहीन बाग (Shaheen Bagh) के ही रहने वाले और सोशल एक्टिविस्ट शहजाद ने कहा कि शुक्रवार को जब लोग जुमे की नमाज (Namaz) के लिए गए हुए थे तभी दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने पीछे से आकर लंगर के टेंट को उखाड़ दिया

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 24, 2020, 4:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नागरिक संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) के खिलाफ शाहीन बाग (Shaheen Bagh) में बीते 40 दिन से ज्यादा से धरना-प्रदर्शन चल रहा है. धरने पर बैठे लोगों का आरोप है कि शुक्रवार (जुमा) को दोपहर बाद पहुंची दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने वहां लंगर का टेंट उखाड़ना शुरू कर दिया. सिखों के लगाए इस टेंट को पुलिस ने उखाड़ दिया. जब वहां मौजूद कुछ लोगों ने इसका विरोध किया तो पुलिस ने कहा कि अगर लंगर चलाना है तो पहले थाने में आकर मिलो. उसके बाद देखा जाएगा कि यहां टेंट लग सकता है या नहीं.

खास बात है कि दिल्ली के शाहीन बाग की तर्ज पर देश के दूसरे हिस्सों में भी कई जगहों पर महिलाएं सीएए और एनआरसी के खिलाफ धरने पर बैठ गई हैं.

दिल्ली पुलिस पर लगे ये आरोप

शाहीन बाग के ही रहने सोशल एक्टिविस्ट शहजाद ने बताया कि दिल्ली पुलिस गुरुवार रात से ही धरना खत्म करने का दबाव बना रही थी. जिस टेंट हाउस मालिक के टेंट यहां लगे हैं उससे कहा कि अपने टेंट उखाड़ लो वर्ना तुम पर केस कर दिया जाएगा. इतना ही नहीं शुक्रवार को जब लोग जुमे की नमाज के लिए गए हुए थे तभी दिल्ली पुलिस ने पीछे से आकर लंगर के टेंट को उखाड़ दिया.

हालांकि कुछ लोग इसे एक अफवाह मात्र भी बता रहे  हैं. उनका कहना है कि दिल्ली पुलिस ने ऐसी किसी भी तरह की गतिविधि को अंजाम नहीं दिया है. उसकी ओर से किसी भी तरह का कोई टैंट नहीं उखाड़ा गया है. यह टैंट तो खुद टैंट मालिक उखाड़ने की कोशिश कर रहा था.

हालांकि शाहजाद का कहना है कि कल से कुछ तरह-तरह की अफवाहें भी फैलाई जा रही हैं. अभी इस बात की तस्दीक की जा रही है कि इसमें कितनी सच्चाई है.

शाहीन बाग में लंगर के इसी टैंट को उखाड़ने की बात कही जा रही है.
दो दिन पहले चंद्रशेखर आजाद पहुंचे थे मिलने

बता दें कि बीते 42 दिन से दिल्ली के शाहीन बाग में सीएए के विरोध में प्रदर्शन जारी है. बुधवार की शाम भीम आर्मी के प्रमुख चंद्रशेखर आजाद प्रदर्शनकारियों से मिलने शाहीन बाग पहुंचे थे. बता दें कि चंद्रशेखर आजाद को मंगलवार को तीस हजारी कोर्ट ने दिल्ली आने की सशर्त अनुमति दी थी. दिल्ली पुलिस ने भी उनसे कहा था कि यदि विधानसभा चुनाव के मद्देनजर इस प्रदर्शन की वजह से कोई दिक्कत पेश आई तो उचित कार्रवाई की जा सकती है.

चंद्रशेखर आजाद ने कहा था मैं उन सभी को बधाई देना चाहता हूं जो इस प्रदर्शन में शामिल हैं. ये सिर्फ राजनीतिक विरोध नहीं है. हमें संविधान और देश की एकता को बचाना होगा. संविधान के निर्माता बीआर अंबेडकर ने कहा था कि महिलाएं ही इसे बचाएंगी. आज जब संविधान खतरे में है तो महिलाएं ही इस प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहीं हैं और इसके लिए लड़ाई में सबसे आगे हैं. न तो सर्दी और न ही सरकार इनके हौसले को तोड़ पा रहे हैं. चंद्रशेखर आजाद ने कहा कि देश में अगले 10 दिन में शाहीन बाग की तरह 5,000 और प्रदर्शन स्थल होंगे.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 24, 2020, 3:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर