Eid-ul-Fitr 2021: शाही इमामों का बड़ा बयान, कहा-पूरी एहतियात बरतें और घर पर रहकर ही मनाएं ईद

शाही इमाम मुफ्ती मोहम्मद मुकर्रम अहमद.

शाही इमाम मुफ्ती मोहम्मद मुकर्रम अहमद.

दिल्ली ही नहीं बल्कि देश भर में कोविड 19 के हालात चिंताजनक हो जाने के दौरान धर्म गुरुओं ने अपील जारी करते हुए पिछले साल की तरह संयम बरतकर घरों से ही विशेष नमाज़ व प्रार्थनाएं करने की हिदायत दी.

  • Share this:

दिल्ली. राज्य में ही नहीं, बल्कि पूरे देश कोरोना की दूसरी लहर के चरम की तरफ बढ़ने और तीसरी लहर की आशंका के बीच आ रहे प्रमुख त्योहार ईद (Eid-ul-Fitr) को लेकर यह चर्चा शुरू हो चुकी है कि इस साल इसे कैसे मनाया जाएगा. शाही इमाम के मुताबिक 13 और 14 मई को ईद मनाई जाएगी, लेकिन महामारी के प्रकोप को देखते हुए शाही इमामों की तरफ से यह अपील (Shahi Imam Appeal) भी साथ में की जा रही है कि लोग ईद मनाने के लिए बाहर न निकलें और ईद की नमाज़ व दुआ घरों में ही अता करें.

दिल्ली स्थित फतेहपुरी मस्जिद के शाही इमाम मुफ्ती मोहम्मद मुकर्रम अहमद ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि महामारी के संकट के दौर में लोग पूरी तरह एहतियात बरतें. मस्जिदों की तरफ न आकर घरों में ही रहकर ईद की रस्में निभाएं ताकि संक्रमण बेवजह और खतरनाक न हो. शाही इमाम ने कहा कि ऐसा किया जाना शरीअत के मुताबिक है.

ये भी पढ़ें : सेंट्रल विस्टा के खिलाफ याचिका पर केंद्र ने दिया जवाब, कल सुनवाई करेगा हाई कोर्ट

delhi news, eid ul fitr date, eid celebration, eid kab hai,  दिल्ली न्यूज़, ईद कब है, ईद की तारीख, ईद की नमाज़
पिछले साल भी लोगों ने घर पर रहकर ही ईद मनाई थी.

शाही इमाम के संदेश की खास बातें

* चूंकि रोज़ाना आने वाले नए केसों की संख्या बढ़ रही है इसलिए अपील है कि संयम और एहतियात बरतें.

* डॉक्टरों और विशेषज्ञ बता रहे हैं कि ये लहर अभी और तबाही ला सकती है. लॉकडाउन के नियमों का पालन करें.



* पिछले साल भी लॉकडाउन के हालात थे और सभी ने घरों में ही रहकर नमाज़ अता की थी इसलिए इस बार भी ईद पर ​बेवजह घर से न निकलें.

* ईद का त्योहार घर पर सुरक्षित रहकर मनाएं और ज़्यादा से ज़्यादा गरीब लोगों, कोरोना की चपेट में आए परेशान लोगों की मदद करें.

ये भी पढ़ें : उन 23 मरीज़ों का पता चला, जो दिल्ली के हिंदू राव अस्पताल से हुए थे 'लापता'

जामा मस्जिद से भी हुई अपील

दिल्ली स्थित जामा मस्जिद के शाही इमाम सैयद अहमद बुखारी ने भी ईद उल फ़ित्र का त्योहार घर पर ही रहकर मनाए जाने की अपील की. दिल्ली के साथ ही देश के गंभीर हालात का हवाला देते हुए धर्म गुरुओं की साफ हिदायत है कि खतरे को कम किए जाने की ज़रूरत है न कि बढ़ाने की. बता दें कि चांद दिखने पर तय होगा कि ईद किस दिन मनाई जाएगी, लेकिन पूरी संभावना जताई गई है कि 14 मई को त्योहार मनाया जा सकता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज