दिल्ली के अस्पताल ने हाईकोर्ट से लगाई गुहार, कहा- हम बिना ऑक्सीजन के, जवाब में कोर्ट की तल्ख टिप्पणी

हाईकोर्ट आज दिल्ली सरकार पर कई बातों को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुका है.

हाईकोर्ट आज दिल्ली सरकार पर कई बातों को लेकर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुका है.

हाईकोर्ट में ऑक्सीजन सप्लाई के मुद्दे पर सुनवाई की गई. शांति मुकुंद अस्पताल की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि उसके ऑक्सीजन के आवंटन में कमी हुई है. ऑक्सीजन की कमी से हालात बिगड़ रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 28, 2021, 12:07 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोना (Corona) के बढ़ते संक्रमण के बीच हो रही ऑक्सीजन की कमी को देखते हुए शांति मुकुंद हॉस्पिटल ( Shanti Mukund Hospital ) ने हाईकोर्ट से गुहार लगाई है. इसको लेकर हाईकोर्ट में ऑक्सीजन ( Oxygen) सप्लाई के मुद्दे पर सुनवाई की गई. शांति मुकुंद अस्पताल की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि उसके ऑक्सीजन के आवंटन में कमी हुई है. हम बिना ऑक्सीजन के हैं. ऑक्सीजन की कमी से हालात बिगड़ रहे हैं. वहीं, महाराजा अग्रसेन अस्पताल का कहना है कि हमारे पास आईसीयू बेड और आपातकालीन बेड हैं. हम ऑक्सीजन के लिए आपातकालीन रोगियों से चार्ज नहीं कर रहे हैं.

शांति मुकुंद अस्पताल की तरफ से कोर्ट को बताया गया कि उसके ऑक्सीजन के आवंटन में कमी हुई है. अस्पताल की ओर से कोर्ट में कहा गया कि हम बिना ऑक्सीजन के हैं. दिल्ली सरकार से तीन दिन से ऑक्सीजन मांग रहे हैं. दिल्ली सरकार कह रही है सब अच्छा कर रहे हैं, लेकिन हमें ऑक्सीजन चाहिए.

Youtube Video


दिल्ली सरकार ने हाईकोर्ट में रख पक्ष
दिल्ली सरकार ने ऑक्सीजन सप्लाई को लेकर हाईकोर्ट में अपना पक्ष रखा है. सरकार ने बताया कि कल 407 एमटी ऑक्सीजन आई है. यह पहली बार हुआ है. ये परसों के मुकाबले 102 एमटी ज्यादा है. दिल्ली के चीफ सेक्रेटरी ने कहा कि आज शाम तक, हम अस्पताल से डेटा के आधार पर आदेश जारी करने जा रहे हैं.  ऑक्सीजन कोटा को अंतिम रूप दिया जाना बाकी है. अगर इस मामले में अभी भी शिकायतें हैं, तो हम बदलने के लिए तैयार हैं. चीफ सेक्रेटरी ने कहा कि हम डेटा तैयार कर रहे हैं कि कितने अस्पतालों को कितना एमटी ऑक्सीजन चाहिए.

फोन नहीं उठा रहे नोडल अफसर, हाईकोर्ट नाराज

दिल्ली हाईकोर्ट में कुछ अस्पताल ने कहा कि नोडल ऑफिसर को भी फोन करते हैं, लेकिन उनकी तरफ से कोई भी जवाब नहीं मिलता है. दिल्ली हाईकोर्ट ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि यह शिकायतें बार-बार आ रही हैं. आखिर नोडल ऑफिसर क्यों फोन नहीं उठा रहे हैं ? दिल्ली सरकार इस दिशा में क्या काम कर रही है ?



दिल्ली हाईकोर्ट में कुछ अस्पतालों के द्वारा यह बताया गया की दिल्ली के अस्पतालों की स्थिति बेहाल है. एक बेड पर दो मरीज हैं दिल्ली हाईकोर्ट में दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य सचिव ने जानकारी देते हुए कोर्ट को यह बताया कि वह इस दिशा में काम कर रहे हैं. ताकि ज्यादा से ज्यादा मरीजों का इलाज किया जा सके दिल्ली हाईकोर्ट ने यह कहा की तस्वीर कुछ और ही बता रही हैं.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज