शिवसेना नेता संजय राउत ने उठाया यह मुद्दा, महंगी हो सकती है हज यात्रा
Delhi-Ncr News in Hindi

शिवसेना नेता संजय राउत ने उठाया यह मुद्दा, महंगी हो सकती है हज यात्रा
हज यात्रियों से मुलाकात करते अल्पसंख्यक मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी. (File Photo)

चर्चा है कि वर्ष 2020 की हज यात्रा (Haj Yatra 2020) के लिए हज यात्रियों (Haj Pilgrims) को वीजा फीस चुकानी पड़ सकती है. अगर ऐसा हुआ तो वीजा फीस के रूप में पहली बार 300 सऊदी रियाल देने पड़ सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 28, 2019, 4:16 PM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. वर्ष 2020 में हज यात्रा (Haj Yatra 2020) की तैयारी कर रहे लोगों को झटका लग सकता है. हज यात्रा महंगी हो सकती है. हज यात्रियों की आने वाली इस परेशानी से शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत भी अवगत हैं. राउत ने राज्यसभा (Rajya Sabha) में भी इस मुद्दा को उठाया है. उन्होंने सरकार से गरीब हज यात्रियों को किराए में छूट देने की पेशकश की. यह पहला मौका होगा कि जब हज यात्रा के लिए वीजा फीस वसूली जा सकती है.

2020 में एक साथ बढ़ सकते हैं 300 सऊदी रियाल

ऐसी चर्चा चल रही है कि 2020 की हज यात्रा के लिए हज यात्रियों को वीजा फीस चुकानी पड़ सकती है. अगर ऐसा हुआ तो वीजा फीस के रूप में पहली बार 300 सऊदी रियाल देने पड़ सकते हैं. 18 या 19 भारतीय रुपये के हिसाब से यह रकम 5700 रुपये हो सकती है.



केन्द्रीय अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने भी राज्यसभा में 300 रियाल बढ़ाए जाने की जानकारी दी है. लेकिन, उनका कहना है कि अभी सऊदी सरकार की ओर से अधिकारिक रूप से कोई बयान नहीं आया है.





संजय राउत ने हज यात्रियों के लिए की यह मांग

27 नवंबर को शिवसेना नेता संजय राउत ने राज्यसभा में हज यात्रा से जुड़ा एक मुद्दा उठाते हुए कहा है कि वीजा फीस बढ़ने से गरीब हज यात्रियों को परेशानी होगी. महंगाई के चलते हज यात्रियों को होने वाली परेशानी का जिक्र करते हुए उन्होंने केन्द्र सरकार से पेशकश की है कि हज यात्रा के दौरान ऐसे यात्रियों की मदद की जाए जो गरीब है.

हज आवेदन कम आए तो बढ़ाए गए 25 दिन

हज कमेटी ऑफ इंडिया की ओर से हज यात्रा 2020 के लिए 10 नवंबर तक आवेदन पत्र मांगे गए थे, लेकिन हज यात्रा के लिए 10 नवंबर तक सिर्फ 1.35 लाख आवेदन पत्र ही आए थे. हज यात्रा 2020 के लिए सीटों का कोटा 1.40 लाख है. मतलब 5 हजार सीट के लिए तो आवेदन ही नहीं आए. इसी को देखते हुए हज कमेटी ऑफ इंडिया ने आवेदन के लिए आखिरी तारीख को 25 दिन और बढ़ाते हुए 5 दिसंबर कर दिया है.



इस तरह और महंगी हो सकती है हज यात्रा

पहली बार लग सकती है 300 रियाल वीजा फीस

2 साल से बढ़ रही है बस यात्रा फीस-

2018- 391 रियाल

2019- 800 रियाल

मेट्रो ट्रेन फीस 3 साल में 250 रियाल से 500 हो गई

(नोट- फीस सऊदी रियाल में है. 1 रियाल 18 से 19 भारतीय रुपये का होता है.)

हज पर जाने वाले यात्री लाख में

2017 - 1.70

2018 - 1.73

2019 - 2 लाख

ये भी पढ़ें-

दुश्मन की गोली नहीं ये 7 बातें तनावग्रस्त बना रही हैं सेना के जवानों को, रिपोर्ट से हुआ खुलासा

राइट टू एजुकेशन:एक बच्चे की पढ़ाई पर सबसे ज्यादा खर्च करती है दिल्ली सरकार
First published: November 28, 2019, 12:24 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading