• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • SHOPS AND MARKETS WILL OPEN FROM 7 AM TO 7 PM FROM MONDAY IN GHAZIABAD WEEKEND CURFEW WILL CONTINUE NODAA

गाजियाबाद : सोमवार सुबह 7 से शाम 7 बजे तक खुलेंगे दुकान और बाजार, वीकेंड कर्फ्यू रहेगा जारी

लॉकडाउन से मिली छूट के दौरान भी गाजियाबाद में कोविड गाइडलाइन का पालन करना अनिवार्य होगा.

दुकानदारों और खरीदारों को कोरोना गाइडलाइन का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा. कोरोना कर्फ्यू से दी गई राहत जिम, सिनेमा हॉल, मॉल, कोचिंग सेंटर और शिक्षण संस्थानों पर लागू नहीं होगी.

  • Share this:
गाजियाबाद. कोरोना संक्रमण के लगातार कम होते मामलों को देखते हुए गाजियाबाद में कोरोना कर्फ्यू में ढील देने का फैसला किया गया. गाजियाबाद में 7 जून यानी कल से दुकानें और बाजार खुल जाएंगे. इस बारे में गाजियाबाद जिलाधिकारी ने गाइडलाइन जारी कर दिया है.

कोविड गाइडलाइन का पालन अनिवार्य

जिलाधिकारी द्वारा जारी गाइडलाइन के मुताबिक, हफ्ते में 5 दिन सुबह 7 बजे से शाम के 7 बजे तक दुकानें और बाजार खोले जा सकते हैं. शनिवार और रविवार की साप्ताहिक बंदी फिलहाल जारी रहेगी. कोरोना कर्फ्यू में दी गई ढील को लेकर जारी निर्देश में स्पष्ट रूप से कहा गया है कि दुकानदारों को मास्क पहनना अनिवार्य है. उन्हें 2 गज दूरी के निर्देश का भी पालन करना होगा. अपनी दुकानों मं सैनेटाइजेशन की व्यवस्था भी करनी होगी. इसी तरह खरीदारों को भी मास्क पहनना अनिवार्य है और उन्हें भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा.

दफ्तरों के लिए निर्देश

जिलाधिकारी ने कहा है कि करोना सेवाओं से जुड़े सरकारी दफ्तर कर्मचारियों की पूरी उपस्थिति के साथ खुल सकेंगे, जबकि अन्य सरकारी दफ्तर 50 फीसदी कर्मचारियों की उपस्थिति के साथ खोले जा सकेंगे. कर्मचारियों को रोटेशन के हिसाब से दफ्तर बुलाया जाएगा. कार्यालयों में कोविड हेल्प डेस्क अनिवार्य रूप से बनाना होगा. जिलाधिकारी के निर्देश में बताया गया है कि अन्य निजी कार्यालय भी कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए खोले जा सकते हैं. निजी कार्यलयों में भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. उन्हें सैनेटाइजेशन की व्यवस्था करनी होगी और उनके कर्मचारियों को मास्क अनिवार्य रूप से इस्तेमाल करना होगा.

इन्हें नहीं मिली कोई छूट

कोरोना कर्फ्यू से दी गई राहत जिम, सिनेमा हॉल, मॉल, कोचिंग सेंटर और शिक्षण संस्थानों पर लागू नहीं होगी. ये संस्थान पहले की तरह ही फिलहाल बंद रहेंगे. स्कूलों द्वारा ऑनलाइन शिक्षण की व्यवस्था जारी रखी जाएगी. शादी समारोहों, सांस्कृतिक और धार्मिक आयोजनों पर पहले की तरह रोक जारी रहेगी. जुलूस और जलसों की इजाजत नहीं दी जाएगी.