होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /श्रद्धा हत्याकांड: तिहाड़ में 'अंडर सुसाइड वॉच' है आफताब, जेल स्टाफ को आत्महत्या का डर

श्रद्धा हत्याकांड: तिहाड़ में 'अंडर सुसाइड वॉच' है आफताब, जेल स्टाफ को आत्महत्या का डर

आफताब अमीन पूनावाला को तिहाड़ जेल में 'सुसाइड वॉच' पर रखा गया है. यह तस्वीर तबकी है जब उसे पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए रोहिणी एफएसएल ले जाया गया था. (ANI Photo)

आफताब अमीन पूनावाला को तिहाड़ जेल में 'सुसाइड वॉच' पर रखा गया है. यह तस्वीर तबकी है जब उसे पॉलीग्राफ टेस्ट के लिए रोहिणी एफएसएल ले जाया गया था. (ANI Photo)

अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की हत्या करने और उसके शरीर को कई टुकड़ों में काटने के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को ति ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: अपनी लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वालकर की हत्या करने और उसके शरीर को कई टुकड़ों में काटने के आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को तिहाड़ जेल में ‘सुसाइड वॉच’ पर रखा गया है. सूत्रों के मुताबिक जेल प्रशासन को डर है कि वह आत्महत्या की कोशिश कर सकता है. द टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक जेल कर्मचारियों को यह सुनिश्चित करने के लिए निर्देशित किया गया है कि आफताब द्वारा खुद को नुकसान पहुंचाने के लिए इस्तेमाल की जाने वाली कोई भी चीज उसकी पहुंच के भीतर न रखी जाए. आफताब तिहाड़ में जेल नंबर 4 में बंद है. उसकी अप्रत्याशित प्रकृति को देखते हुए जेल प्रशासन ने यह कदम उठाया है.

आफताब ने 20 दिन से अधिक की पूछताछ और पुलिस हिरासत में अत्यधिक संयम और शांति दिखाई है, जिसने जांचकर्ताओं को हैरान कर दिया है. वह दो छोटे अपराधियों के साथ बंद है, जिन्हें उस पर नजर रखने के लिए कहा गया है. जेल में वह चैन से सो रहा है और उनसे बातें कर रहा है. आफताब के पॉलीग्राफ टेस्ट के एक और दौर से गुजरने की संभावना है, जिसके बाद उसका नार्को टेस्ट होगा. तिहाड़ के सूत्रों के मुताबिक, वह रविवार सुबह करीब 6 बजे उठा और नाश्ता किया. जेल कर्मचारियों के साथ बातचीत के दौरान, आफताब ने अपने किए पर कोई पछतावा नहीं दिखाया. उसने अन्य 2 कैदियों से जेल की प्रक्रियाओं के बारे में बातचीत की.

रिपोर्ट में तिहाड़ के एक सूत्र के हवाले से लिखा गया है, ‘कैदियों ने जेल स्टाफ को बताया कि आफताब उनसे कह रहा था कि वह पहली बार जेल में आया है और यहां प्रदान की जाने वाली भोजन की गुणवत्ता, समय और अन्य सुविधाओं के बारे में जानना चाहता है.’ वह टहलने के लिए सेल से बाहर जाना चाहता था, लेकिन इसमें शामिल जोखिम के कारण उसके अनुरोध को अस्वीकार कर दिया गया. आम तौर पर, कैदी आपस में अपने मामलों के बारे में बातें करते हैं, लेकिन जब उससे श्रद्धा की हत्या के बारे में पूछा गया, तो वह चुप रहा. दोनों कैदियों को आफताब के साथ मामले पर चर्चा नहीं करने के लिए कहा गया है. रविवार को उसे कोई अखबार नहीं दिया गया.

एक अधिकारी ने कहा कि अगर आफताब को किसी प्रक्रिया के लिए सेल से बाहर ले जाया जाता है, तो उसे जेल के दो कर्मचारियों द्वारा एस्कॉर्ट किया जाएगा. तिहाड़ के अधिकारियों को मिली एक आदेश प्रति के अनुसार, आफताब को 28 नवंबर, 29 नवंबर और 5 दिसंबर को परीक्षण के लिए ले जाया जाएगा. रोहिणी एफएसएल के सहायक निदेशक संजीव गुप्ता ने द टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया कि आफताब का पॉलीग्राफ टेस्ट सोमवार को भी जारी रहेगा. एक अन्य अधिकारी ने कहा कि कई अनुत्तरित प्रश्न अब भी पूछे जाने बाकी हैं. सोमवार को उसका पॉलीग्राफ टेस्ट पूरा करने की कोशिश करेंगे और फिर नार्को सेशन शुरू करेंगे.

Tags: Delhi Crime, Delhi Crime Branch, Delhi Crime News

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें