होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /मनीष सिसोदिया का दावा- हिमाचल में BJP हार रही है चुनाव, इसलिए सत्येंद्र जैन की हुई गिरफ्तारी

मनीष सिसोदिया का दावा- हिमाचल में BJP हार रही है चुनाव, इसलिए सत्येंद्र जैन की हुई गिरफ्तारी

सिसोदिया ने दावा किया, ‘‘हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बुरी तरह से हार रही है. इसलिए सत्येंद्र जैन को आज गिरफ्तार किया गया है (फाइल फोटो)

सिसोदिया ने दावा किया, ‘‘हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बुरी तरह से हार रही है. इसलिए सत्येंद्र जैन को आज गिरफ्तार किया गया है (फाइल फोटो)

Delhi News: मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘सत्येंद्र जैन के खिलाफ आठ साल से एक फर्जी मामला चलाया जा रहा है. अभी त ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने सोमवार को कहा कि स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन को आठ साल पुराने ‘फर्जी’ मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने गिरफ्तार किया, क्योंकि वह हिमाचल प्रदेश चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी के प्रभारी हैं और भाजपा को वहां चुनाव हारने का डर है. ईडी ने सोमवार को धन शोधन के एक मामले में जैन को गिरफ्तार किया. सिसोदिया ने एक ट्वीट में कहा, ‘‘सत्येंद्र जैन के खिलाफ आठ साल से एक फर्जी मामला चलाया जा रहा है. अभी तक कई बार ईडी बुला चुकी है. बीच में कई साल ईडी ने बुलाना भी बंद कर दिया था, क्योंकि उन्हें कुछ मिला ही नहीं. अब फिर शुरू कर दिया क्योंकि सत्येंद्र जैन हिमाचल के चुनाव प्रभारी हैं.’’

सिसोदिया ने दावा किया, ‘‘हिमाचल प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) बुरी तरह से हार रही है. इसलिए सत्येंद्र जैन को आज गिरफ्तार किया गया है, ताकि वह हिमाचल न जा सकें. वह कुछ दिनों में छूट जाएंगे क्योंकि मामला बिलकुल फर्जी है.’’ एजेंसी ने 2018 के मामले के संबंध में आम आदमी पार्टी के नेता से पूछताछ की थी. वहीं, राज्यसभा सांसद और आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने सत्यैंद्र जैन की गिरफ्तारी को लेकर भारतीय जनता पार्टी का निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि 8 साल से गिरफ़्तारी की याद नहीं आई. ऐसी जांच एजेंसी ED को तो बंद कर देना चाहिए जो 8 साल में एक Case का निपटारा ना कर पाए.

शेल कंपनियों से 4.81 करोड़ रुपए प्राप्त हुए थे

बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय ने कोलकाता की एक कंपनी से जुड़े हवाला लेनदेन के मामले में स्वास्थ्य मंत्री को गिरफ्तार किया है. ED के मुताबिक, जांच में पाया गया था कि 2015-16 के दौरान सत्येंद्र जैन एक लोकसेवक थे, तो उनके द्वारा लाभकारी स्वामित्व वाली और नियंत्रित कंपनियों को हवाला के जरिए कोलकाता बेस्ड एंट्री ऑपरेटरों को नकद ट्रांसफर के बदले शेल कंपनियों से 4.81 करोड़ रुपए प्राप्त हुए थे.

Tags: Delhi news, Delhi news update, Manish sisodia, Satendra Jain

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें