दिल्ली को ऑक्सीजन और ICU बेड के लिए डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने रक्षा मंत्री से मांगी मदद

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीश सिसोदिया का आरोप है कि दिल्ली को पूरी ऑक्सीजन नहीं मिल रही है.

दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीश सिसोदिया का आरोप है कि दिल्ली को पूरी ऑक्सीजन नहीं मिल रही है.

दिल्ली में कोरोना से बिगड़ते हालात के बीच डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने सेना से मांगी मदद. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को पत्र लिखकर ऑक्सीजन, आईसीयू बेड और मेडिकल टीम की सहायता मांगी. कहा- हमें जरूरत की आधी आॉक्सीजन ही मिल रही है.

  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना संक्रमण से बिगड़े हालात के बीच डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मदद मांगी है. डिप्टी सीएम ने अपने पत्र में रक्षा मंत्री से दिल्ली के लिए ऑक्सीजन, आईसीयू बेड और मेडिकल टीम की मदद देने की मांग की है. दिल्ली सरकार के वकील ने आज हाईकोर्ट में यह जानकारी दी.

दिल्ली सरकार ने अदालत को बताया कि उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह को चिट्ठी लिखी है और मदद मांगी है. उन्होंने रक्षा मंत्रालय से दिल्ली में 10000 ऑक्सीजन युक्त बेड और 1000 आईसीयू बेड बनाने में मदद मांगी है. साथ ही दुर्गापुर, कलिंगा नगर आदि प्लांटों से टैंकर से जरिए दिल्ली में ऑक्सीजन लाने में सहायता करने की मांग की है.

इससे पहले डिप्टी सीएम ने मीडिया के साथ बातचीत के दौरान कहा था किहमें जितनी ऑक्सीजन मिल रही है, वह हमारी जरूरत की आधी है. इससे हमें राहत तो मिलती दिख रही है, लेकिन समस्या खत्म नहीं हो रही. मनीष सिसोदिया ने बताया कि दिल्ली को कल यानी कि रविवार को 440 मीट्रिक टन ऑक्सीजन मिली है, जबकि दिल्ली का कोटा 590 टन है. सिसोदिया ने कहा कि हमें प्रतिदिन 976 मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत है. क्योंकि दिल्ली में हम लगातार कोरोना संक्रमितों के लिए बेड्स की संख्या बढ़ा रहे हैं.

वहीं राजधानी दिल्ली में 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोगों के लिए कोरोना टीकाकरण शुरू हो चुका है. वेस्ट विनोद नगर स्थित वैक्सीनेशन सेंटर पर दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पहुंचे और जायजा लिया. बता दें कि दिल्ली सरकार ने टीकाकरण के इस अभियान के लिए राजधानी के 77 सरकारी स्कूलों का चयन किया है, जहां आज से वैक्सीनेशन शुरू किया गया है.


PHOTOS: अमेरिका से राहत की चौथी खेप में 1 लाख 25 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन भारत पहुंचे

दिल्ली सरकार ने जिन 77 स्कूलों में टीका लगाने के इंतजाम किए हैं, उन्हें नजदीकी अस्पतालों से जोड़ा गया है. सरकार ने अपील की है कि ज्यादा से ज्यादा लोग सेंटरों पर आकर टीका लगवाएं. दिल्ली सरकार के अधिकरी के अनुसार दिल्ली में करीब 90 लाख लोग इस चरण में टीकाकरण के लिए पात्र हैं और तीसरे चरण में टीकाकरण के लिए 77 स्कूलों में पांच-पांच टीकाकरण बूथ बनाए गए हैं. राजधानी के करीब 500 केंद्रों में अभी तक 45 साल से अधिक आयु के लोगों को टीका लगाया जा रहा था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज