लाइव टीवी

शरजील देशद्रोह केस: 4 छात्रों से क्राइम ब्रांच ने की पूछताछ, इमाम को फॉरेंसिक लैब लेकर जाएगी SIT
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 7:15 PM IST
शरजील देशद्रोह केस: 4 छात्रों से क्राइम ब्रांच ने की पूछताछ, इमाम को फॉरेंसिक लैब लेकर जाएगी SIT
SIT लेगी शरजील इमाम की अवाज का सैम्पल

शरजील (Sharjil Imam) के लैपटॉप से एक विवादित पोस्टर की तस्वीर बरामद हुई है. सीएए और एनआरसी के विरोध में उर्दू और अंग्रेजी में विवादित पोस्टर बनाया गया था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 7:15 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. शरजील इमाम (Sharjil Imam) देशद्रोह केस (Sedition Case) में चार छात्रों से क्राइम ब्रांच ने पूछताछ की. ये चारों छात्र जामिया मिल्लिया के हैं. बाकी के 7 छात्रों से गुरुवार को पूछताछ होगी. गुरुवार को ही SIT की क्राइम ब्रांच टीम आवाज के नमूने लेने के लिए शरजील को फॉरेंसिक लैब लेकर जाएगी. बता दें कि शरजील को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस ने उसके दिल्ली और बिहार वाले घर पर छापा मार के कई सबूत बरामद किए थे.

चक्का जाम करने की थी बड़ी योजना
राजद्रोह मामले में गिरफ्तार किए गए शरजील इमाम के लैपटॉप और मोबाइल से मिली जानकारी चौंकाने वाली हैं. क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि शरजील की बाबरी मस्जिद विध्वंस को मुसलमानों के खिलाफ अन्याय बताते हुए दिसंबर में दिल्ली में चक्का जाम करने की बड़ी योजना थी और उसके लिए उसने तैयारी भी कर ली थी. क्राइम ब्रांच ने दावा किया है कि 3 दिसंबर को जेएनयू के कुछ छात्रों और शरजील के कुछ साथियों ने ऐसे कई रूट की पहचान की थी, जिसे बाधित किया जा सके और फिर चक्का जाम की स्थिति पैदा हो सके.

शरजील के लैपटॉप से मिले अहम सबूत

शरजील के लैपटॉप से एक विवादित पोस्टर की तस्वीर बरामद हुई है. सीएए और एनआरसी के विरोध में उर्दू और अंग्रेजी में विवादित पोस्टर बनाया गया था. इसे छात्रों के सभी ग्रुपों में डाले जाने के अलावा मस्जिदों में भी बांटा गया था. माना जा रहा है कि इसने लोगो को आंदोलित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई.

वहीं, उसके मोबाइल फोन से वाट्सएप ग्रुप की मदद से जामिया और अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिंटी के पंद्रह लोगों की पहचान की गई है. इनमें से कुछ छात्र भी हैं. पुलिस ने कुछ को नोटिस भेज दिया है जबकि अन्य को नोटिस भेजने की तैयारी की जा रही है. उन्हें पुलिस पूछताछ के लिए जल्द बुलाया जा सकता है.

शरजील इमाम से पूछे जाएंगे ये सवाल...शरजील ने कथित तौर पर दावा किया पैम्फलेट केवल विभिन्न विश्वविद्यालयों के वॉट्सऐप ग्रुप में भेजे जाने थे. हालांकि पुलिस ने कथित तौर पर यह पाया कि ये पैम्फलेट 15 दिसंबर को CAA के खिलाफ फैली हिंसा से दो दिन पहले बनाए गए थे. सूत्रों ने बताया कि हिंसा में शरजील की भूमिका पर भी सवाल पूछे जाएंगे.

शरजील के करीबी मित्र से भी होगी पूछताछ
यह भी पता चला है कि पैम्फलेट दो ग्रुप में शेयर किए गए थे और इसके सदस्यों की पहचान की जा रही है. इस ग्रुप में किए गए चैट की भी जांच की जा रही है. एक सूत्र ने दावा किया कि इसे फेसबुक मैसेंजर और ई-मेल पर भी शेयर किया गया था. पुलिस शरजील के एक करीबी मित्र से भी इस बारे में पूछताछ करेगी जिसे उसने अपनी योजना के बारे में बताई थी.

शरजील ने पुलिस को बताया कि कोई भी पोस्टर हाथ से नहीं बांटा गया है और इसे भेजे गए लोगों को संबंधित ग्रुप में भेजने को कहा गया था। सूत्रों ने दावा किया कि पैम्फलेट में असम में हुई मौतों को लेकर छेड़छाड़ भी की गई थी

ये भी पढ़ें: 

CAA के विरोध के नाम पर महिलाओं-बच्चों को ‘बहकाया' जा रहा है- BJP

निर्भया केस: HC के आदेश के खिलाफ केंद्र-दिल्ली सरकार ने SC में दायर की याचिका

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 6:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर