रेलवे के इस जोन के 6 फीसदी रेलकर्मी हो चुके हैं कोरोना पॉजिटिव, महाप्रबंधक ने इनके लिये कही ये बड़ी बात

पूर्वोत्तर रेलवे के अंतर्गत कार्यरत 60 फीसदी ऐसे कर्मचारी हैं जो कोरोना को मात देकर फिर काम पर लौट गए हैं. (File Photo)

पूर्वोत्तर रेलवे के अंतर्गत कार्यरत 60 फीसदी ऐसे कर्मचारी हैं जो कोरोना को मात देकर फिर काम पर लौट गए हैं. (File Photo)

Indian Railways: पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबन्धक विनय कुमार त्रिपाठी ने कहा कि रेल कर्मचारियों एवं अधिकारियों के कोविड (COVID) संक्रमण के बाद 60 प्रतिशत से ज्यादा के स्वस्थ होकर वापस कार्य पर आने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार हुआ है. उन्होंने इस कठिन परिस्थिति में कार्य कर रहे सभी रेलकर्मियों एवं अधिकारियों को बधाई एवं शुभकामनायें दीं.

  • Share this:

नई दिल्ली. देश में फैलते कोरोना (Corona) संक्रमण की वजह से कई राज्यों में लॉकडाउन (Lockdown) लागू है. बावजूद इसके रेलवे की ओर से स्पेशल ट्रेनें (Special Trains) चलाकर जहां यात्रियों को सुविधा देने का काम निरंतर किया जा रहा है. वहीं ऑक्सीजन (Oxygen) से लेकर माल की ढुलाई आदि सभी कार्य भी किए जा रहे हैं. इसकी वजह से बड़ी संख्या में रेलकर्मी (Railway Employees) भी कोरोना संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं.

लेकिन अच्छी बात यह है कि रेलकर्मी बड़ी संख्या में रिकवर होकर काम पर भी लौट रहे हैं. पूर्वोत्तर रेलवे (North Eastern Railway) के अंतर्गत कार्यरत 60 फीसदी ऐसे कर्मचारी हैं जो कोरोना को मात देकर फिर काम पर लौट गए हैं.

पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबन्धक विनय कुमार त्रिपाठी (Vinay Kumar Tripathi) ने वर्चुअल मीटिंग के माध्यम से पूर्वोत्तर रेलवे पर कोरोना से बचाव कार्यों के साथ ही अनुरक्षण एवं निर्माण कार्य की समीक्षा की है. वर्चुअल मीटिंग में प्रमुख विभागाध्यक्ष एवं तीनों मंडलों के मंडल रेल प्रबन्धकों (Divisional Rail Managers) ने भाग लिया.

Youtube Video

महाप्रबन्धक त्रिपाठी ने कहा कि रेल कर्मचारियों एवं अधिकारियों के कोविड (COVID) संक्रमण के बाद 60 प्रतिशत से ज्यादा के स्वस्थ होकर वापस कार्य पर आने से सकारात्मक ऊर्जा का संचार हुआ है. उन्होंने इस कठिन परिस्थिति में कार्य कर रहे सभी रेलकर्मियों एवं अधिकारियों को बधाई एवं शुभकामनायें दीं.

महाप्रबन्धक त्रिपाठी ने कहा कि रेलकर्मियों को कोरोना से बचाने के लिये टीकाकरण के योग्य शत प्रतिशत कर्मचारियों को टीका का कार्य यथाशीघ्र पूरा किया जाये.

पूर्वोत्तर रेलवे पर अभियान चलाकर टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है जिसके फलस्वरूप अभी तक रेलवे सुरक्षा बल/रेलवे सुरक्षा विशेष बल सहित टीकाकरण के योग्य 17215 अर्थात् 90.3 प्रतिशत कर्मचारियों को वैक्सीन की प्रथम डोज दी गई, जबकि 6507 अर्थात् 34.1 प्रतिशत कर्मचारियों को वैक्सीन की दूसरी डोज दी जा चुकी है.



उन्होंने शेष कर्मचारियों को भी यथाशीघ्र वैक्सीन लगाये जाने का निर्देेेश सम्बन्धित अधिकारियों को दिया. इसके साथ ही 18 से 45 वर्ष आयु के भी रेलकर्मियों के टीकाकरण हेतु मंडलों एवं मुख्यालय के अधिकारियों को निर्देशित किया गया.

महाप्रबन्धक ने संरक्षा मदों की समीक्षा करते हुये कहा कि रेलपथ के डि-स्ट्रैसिंग का कार्य समय से पूरा किया जाये तथा इन कार्यों को पूरा करने के दौरान कोविड प्रोटोकाल का पूरा ध्यान रखा जाये.

उन्होंने पूर्वोत्तर रेलवे पर चल रही निर्माण परियोजनाओं जैसे- आर.ओ.बी./अण्डरपास, आमान परिवर्तन, दोहरीकरण एवं विद्युतीकरण कार्यों में प्रगति लाने का निर्देश दिया, जिससे कि पूर्वोत्तर रेलवे पर चल रही परियोजनायें समय से पूरी हो सकें.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज