निर्भया केस: '16 दिसंबर को ही दोषियों को फांसी हो वरना मुझे इच्छामृत्यु दी जाए'

निर्भया कांड के दोषियों को 16 दिसंबर को ही फांसी देने की उठी मांग

निर्भया केस (Nirbhaya Case) की पैरोकार योगिता भयाना ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर की मांग, कहा दोषियों को 16 दिसंबर को ही फांसी होगी तो निर्भया को हम सबकी सच्ची श्रद्धांजलि होगी

  • Share this:
    नई दिल्ली. पीपुल्स अगेंस्ट रेप इन इंडिया (परी) की संस्थापक और निर्भया केस (Nirbhaya Case) की पैरोकार योगिता भयाना (Yogita Bhayana) ने राष्ट्रपति को पत्र लिखकर गुहार लगाई है कि इस केस के दोषियों को 16 दिसंबर को ही फांसी दी जाए, अन्यथा मुझे इच्छामृत्यु की इजाजत दी जाए. योगिता ने कहा कि फास्ट ट्रैक कोर्ट में भी निर्भया कांड को चलते लगभग सात साल हो चुके हैं. लेकिन अभी तक न्याय नहीं मिला है. मुझे अपने ऊपर शर्म और बेबसी महसूस होती है.

    योगिता इस केस में न्याय दिलाने के लिए शुरू से ही जुड़ी रही हैं. निर्भया आंदोलन के जरिए लगातार मृत्युदंड की मांग करती रही हैं. उनका कहना है कि इस तरह के मामलों में न्याय मिलने का वक्त तय किया जाए. अगर फास्ट ट्रैक कोर्ट (Fast Track Court) में सात साल का वक्त लगेगा तो सामान्य केस में क्या होगा. जबकि इस केस को पूरी दुनिया जानती है. पूरा देश पीड़ित परिवार के साथ इंसाफ के लिए खड़ा हुआ था.

    Nirbhaya
    निर्भया केस के दोषियों को फांसी देने की तैयारी में जुटा तिहाड़ जेल प्रशासन. (प्रतीकात्मक फोटो)


    योगिता का कहना है कि इससे पुराने और जघन्य मामलों में भी अब तक न्याय नहीं मिला है. आखिर बेटियां कैसे सुरक्षित रहेंगी. रेपिस्ट लगातार फांसी पर लटकाए जाएंगे तभी रेप बंद होगा. रेप के मामले में अंतिम फांसी 2003 में हुई थी. इसीलिए रेप की घटनाएं रुक नहीं रही हैं. डर खत्म हो गया है. यदि 16 दिसंबर को फांसी होगी तो निर्भया को हम सबकी सच्ची श्रद्धांजलि होगी.



    भयाना ने इससे पहले भी राष्ट्रपति को एक पत्र लिखा था. जिसमें उन्होंने कहा था कि यदि जल्लाद नहीं मिल रहा है तो दोषियों को फांसी देने के लिए वो जल्लाद बनने को तैयार हैं.

    तिहाड़ में तैयारी शुरू

    उधर, इस केस के चारों दोषियों को फांसी (Hanging) पर लटकाने की तैयारी शुरू हो चुकी है. सूत्रों का कहना है कि तिहाड़ जेल (Tihar Jail) प्रशासन ने तख्त तैयार करके एक डमी का ट्रायल किया है. हालांकि अभी तक फांसी देने को लेकर जेल प्रशासन के पास कोई लेटर नहीं आया है.

    ये भी पढ़ें: तिहाड़ जेल में निर्भया के हत्यारों की फांसी देने का तख्त तैयार, हुआ ट्रायल!

    Delhi Fire: सवालों के घेरे में दिल्ली की इंडस्ट्रियल सेफ्टी पॉलिसी, 43 मौतों का जिम्मेदार कौन?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.