होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने गंभीर रोगियों को पहले भेज दीं 1 महीने की दवाएं, ये है खास वजह

दक्षिणी दिल्ली नगर निगम ने गंभीर रोगियों को पहले भेज दीं 1 महीने की दवाएं, ये है खास वजह

एसडीएमसी ने कहा है कि हमारे स्वास्थ्य केंद्रों पर आ रहे वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता के आधार पर पहले देखा जा रहा है.

एसडीएमसी ने कहा है कि हमारे स्वास्थ्य केंद्रों पर आ रहे वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता के आधार पर पहले देखा जा रहा है.

Delhi Corona News: एसडीएमसी ने कहा है कि हमारे स्वास्थ्य केंद्रों पर आ रहे वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता के आधार पर पहले देखा जा रहा है क्योंकि वे संक्रमण के लिहाज से सबसे अधिक संवेदनशील समूह के लोग हैं. गैर-कोविड मरीज खासतौर से दीर्घकालीन बीमारियों से जूझ रहे लोगों को कम से कम एक महीने की दवाएं दी जानी चाहिए.

अधिक पढ़ें ...

नयी दिल्ली. कोरोना वायरस (Delhi Coronavirus) के मामलों में बढ़ोतरी के बीच दक्षिण दिल्ली नगर निगम (SDMC) ने उसके स्वास्थ्य केंद्रों पर आ रहे दीर्घकालीन बीमारियों से ग्रस्त रोगियों को एक महीने की अग्रिम दवाएं देने का फैसला किया है. अधिकारियों ने शनिवार को यह जानकारी दी.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘‘अगर उन्हें अधिक समय के लिए दवाएं मिल जाती है तो उन्हें अस्पताल नहीं जाना पड़ेगा, जिससे उनके कोविड-19 से संक्रमित होने की संभावना बहुत कम होगी.’’ अधिकारियों ने यह भी कहा कि नगर निगम ने अपने अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों पर कोविड मरीजों के लिए व्यापक बंदोबस्त किए हैं, जिसमें अलग पंजीकरण काउंटर, प्रतीक्षा कक्ष, कतारें और जांच प्रयोगशालाएं बनाना शामिल हैं. अधिकारियों ने कहा कि इस संबंध में नगर निगम ने एक आदेश जारी कर दिया है.

कमजोर प्रतिरक्षा के कारण बुजुर्ग लोगों के संक्रमित होने की आशंका: SDMC

एसडीएमसी ने कहा, ‘‘हमारे स्वास्थ्य केंद्रों पर आ रहे वरिष्ठ नागरिकों को प्राथमिकता के आधार पर पहले देखा जा रहा है क्योंकि वे संक्रमण के लिहाज से सबसे अधिक संवेदनशील समूह के लोग हैं. गैर-कोविड मरीज खासतौर से दीर्घकालीन बीमारियों से जूझ रहे लोगों को कम से कम एक महीने की दवाएं दी जानी चाहिए.’’

उसने कहा कि अगर कोविड के मामले अचानक बढ़ते हैं तो कमजोर प्रतिरक्षा के कारण बुजुर्ग लोगों के संक्रमित होने की आशंका अधिक है. दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने शनिवार को बताया कि शहर में कोविड-19 के 1,607 नए मामले दर्ज किए गए और दो मरीजों की मौत हो गयी. शहर में संक्रमण दर 5.28 प्रतिशत है.

सभी जरूरी दवाओं का स्टॉक रखने के आदेश

आदेश में सभी चिकित्सा अधिकारियों को पैरासिटामोल, अजिथ्रोमाइसिन, ओआरएस, लिवोसिट्रिजिन, खांसी की दवाओं, पैंटोसिड जैसी आवश्यक दवाओं का पर्याप्त भंडार बनाए रखने का निर्देश दिया गया है. इसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस की रोकथाम और नियंत्रण के लिए पीपीई किट, मास्क, दस्ताने, सैनिटाइजर, लिक्विड साबुन, पल्स ऑक्सीमीटर जैसे आवश्यक सामान का भी भंडार होना चाहिए.

आदेश के अनुसार, किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए अस्पतालों में बनायी ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता ईकाइयों और पीएसए ऑक्सीजन संयंत्र को संचालनात्मक रूप में बने रहने को कहा गया है. अधिकारियों ने बताया कि नगर निगम ने साफ-सफाई, संक्रमण रोकथाम और बायोचिकित्सा कचरे के उचित निपटान के लिए प्रत्येक अस्पताल में एक नोडल अधिकारी भी नियुक्त किया है.

Tags: Covid-19 Crisis, Delhi Corona Case

अगली ख़बर