लाइव टीवी

संसद में बोले BJP सांसद गणेश सिंह- संस्कृत बोलने से कम होता है डायबिटीज और कॉलेस्ट्रॉल

News18 Madhya Pradesh
Updated: December 12, 2019, 9:09 PM IST
संसद में बोले BJP सांसद गणेश सिंह- संस्कृत बोलने से कम होता है डायबिटीज और कॉलेस्ट्रॉल
बीजेपी सांसद गणेश सिंह (फाइल फोटो)

लोकसभा में केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय विधेयक पर चर्चा के दौरान गुरुवार को मध्य प्रदेश के सतना से बीजेपी सांसद गणेश सिंह ने कहा कि संस्कृत बोलने से डायबिटीज और कोलेस्ट्रॉल कम होता है.

  • Share this:
नई दिल्ली.  लोकसभा में केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय विधेयक पर चर्चा के दौरान गुरुवार को मध्य प्रदेश के सतना से बीजेपी सांसद गणेश सिंह ने कहा कि संस्कृत बोलने से डायबिटीज और कॉलेस्ट्रॉल कम होता है. चर्चा में भाग लेते हुए भाजपा के गणेश सिंह ने दावा किया कि अमेरिका आधारित एक शिक्षण संस्थान के अनुसंधान के अनुसार रोजाना संस्कृत भाषा बोलने से तंत्रिका तंत्र मजबूत होता है और डायबिटीज व कॉलेस्ट्रॉल कम होता है.

उन्होंने कहा कि अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के एक अनुसंधान के अनुसार अगर कम्प्यूटर प्रोग्रामिंग संस्कृत में की जाए तो यह अधिक सुगम हो जाएगी. विधेयक पर चर्चा में हस्तक्षेप करते हुए केंद्रीय मंत्री प्रताप सारंगी ने संस्कृत में अपनी बात रखी. उन्होंने कहा कि द्रमुक के मित्र संस्कृत को लेकर जो कह रहे हैं, उनसे कहना चाहता हूं कि संस्कृत से तमिल या किसी भी भाषा का नुकसान नहीं होने वाला है. संस्कृत एक समावेशी भाषा है और दुनिया कई भाषाओं से इसका संबंध है.



 

प्रोफेसर फिरोज खान की नियुक्ति को लेकर बोले रमेश पोखरियाल

वहीं काशी हिंदू विश्वविद्यालय में संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के प्रोफेसर, प्रो. फिरोज खान की नियुक्त को लेकर केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक का बयान आया है. रमेश पोखरियाल ने गुरुवार को कहा कि प्रोफेसर फिरोज खान बीएचयू के संस्कृत विभाग में ही हैं और संस्कृत ही पढ़ायेंगे.

लोकसभा में केंद्रीय संस्कृत विश्वविद्यालय विधेयक पर चर्चा के दौरान द्रमुक सांसद ए राजा, कांग्रेस सांसद बेनी बहनान और बसपा के कुंवर दानिश अली ने इस मुद्दे को उठाया. इस पर मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा, ‘प्रोफेसर फिरोज खान संस्कृत विभाग में ही हैं. और वहीं रहेंगे. वे संस्कृत ही पढ़ायेंगे.’संस्कृत भाषा पर नहीं चल रही है बल्कि संस्कृत संपदा से जुड़ी
उन्होंने कहा कि यह चर्चा संस्कृत भाषा पर नहीं चल रही है बल्कि संस्कृत संपदा से जुड़ी है. निशंक ने कहा कि पूरी दुनिया जिस ज्ञान और विज्ञान को संस्कृत के ग्रंथों से निकाल रही है, जिसमें खगोल शास्त्र, चरक संहित, सुश्रुत संहिता आदि शामिल हैं, ये भी विषय आते हैं. बता दे कि लोकसभा ने गुरुवार को देश में संस्कृत के तीन मानद विश्वविद्यालयों को केंद्रीय विश्वविद्यालय का दर्जा देने के प्रावधान वाले विधेयक को मंजूरी दे दी

ये भी पढ़ें:

अलग अंदाजः कानपुर में पहली बार सेल्फी लेते दिखे CM योगी आदित्यनाथ, देखें Video
आज़मगढ़: ढाई लाख के इनामी बसपा नेता अखंड प्रताप सिंह का गैंगस्टर कोर्ट मे सरेंडर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Delhi से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 12, 2019, 8:48 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर