बड़ी खबर: किसानों के समर्थन में उतरे छात्र, दिल्ली के मंडी हाउस में 144 लागू, कई रास्ते बंद

छात्र संगठन मंडी हाउस से लेकर जंतर मंतर तक मार्च निकालना चाह रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया.

छात्र संगठन मंडी हाउस से लेकर जंतर मंतर तक मार्च निकालना चाह रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया.

Students March to Suport Kisan Protest: छात्र संगठन मंडी हाउस (Mandi House) से लेकर जंतर मंतर तक मार्च निकालना चाह रहे थे लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया. इसके विरोध में छात्र धरने पर बैठकर नारेबाजी करने लगे. कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने बड़ी संख्या में जवानों को तैनात कर दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 3, 2021, 11:44 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. किसान आंदोलन (Farmer Protest) के समर्थन में अब दिल्ली के वाम दल समर्थित छात्र संगठन भी उतर आए हैं. दिल्ली के मंडी हाउस में सैकड़ों की संख्या में जुटे छात्र किसानों के समर्थन और कृषि कानूनों के विरोध में मार्च निकाल रहे हैं. दिल्ली पुलिस ने मंडी हाउस इलाके में धारा-144 लागू कर दी है और छात्र संगठनों (Student Union) से वापस जाने को कहा है. छात्रों के प्रदर्शन की वजह से पूरा गोल चक्कर ब्लॉक कर दिया गया है. साथ ही कॉपर्निकस मार्ग, फिरोज शाह मार्ग और बाराखंभा रोड सहित कई सड़कों पर आवागमन ठप हो गया है.

छात्र संगठन मंडी हाउस से लेकर जंतर मंतर तक मार्च निकालना चाह रहे थे, लेकिन पुलिस ने उन्हें रोक लिया. इसके विरोध में छात्र धरने पर बैठकर नारेबाजी करने लगे. कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए दिल्ली पुलिस ने बड़ी संख्या में जवानों को तैनात कर दिया है.

सिंघू बॉर्डर पर 10 लेवल की बैरिकेडिंग

किसानों के आंदोलन को देखते हुए दिल्ली पुलिस ने सिंघू बॉर्डर पर सुरक्षा और कड़ी कर दी है. पुलिस ने किसानों को दिल्ली आने से रोकने के लिए बॉर्डर पर 10 लेवल की बैरिकेडिंग की है. प्रदर्शन स्थल को कंटीले तारों से घेर दिया गया है. साथ ही सड़कों पर बड़े-बड़े डिवाइडर रखकर भी रास्तों को बंद कर दिया गया है. किसानों के प्रदर्शन स्थल तक कोई पहुंच नहीं सके, इसके लिए मीडिया को भी दूर रखने की योजना बनाई गई है. दिल्ली पुलिस ने कानून-व्यवस्थान बनाए रखने के लिए मीडिया पर भी मंच से एक किलोमीटर दूर रहने की ही पाबंदी लगा दी है.

Youtube Video

ये भी पढ़ें: तेजस्वी यादव का बड़ा हमला, कहा- सत्ता के खिलाफ आवाज उठाई तो नौकरी नहीं देंगे सीएम नीतीश कुमार

राकेश टिकैत की सरकार से मांग



इधर, गाजीपुर बॉर्डर पर लाखों किसानों के साथ आंदोलन कर रहे भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने सरकार से मांग की है कि वह किसानों की बात मान लें. मीडिया के साथ बातचीत में टिकैत ने कहा कि सरकार को अक्टूबर तक का समय देने के लिए किसान तैयार हैं. अगर सरकार ने तब भी बात नहीं मानी तो देशव्यापी ट्रैक्टर रैली निकाली जाएगी. भाकियू नेता राकेश टिकैत ने कहा कि नए कृषि कानूनों के खिलाफ देशभर के किसान 40 लाख ट्रैक्टरों के साथ रैली निकालेंगे. भाकियू नेता ने साफ तौर पर कहा कि सरकार को किसानों की मांग मान लेनी चाहिए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज