छात्रा कर रही थी Remdesivir की ब्लैक मार्केटिंग, दिल्ली पुलिस ने मध्य प्रदेश से पकड़ा

डिफेंस कॉलोनी थाना पुलिस ने रेमडेसीविर इंजेक्शन की नाम पर लोगों से ठगी के मामले में युवती को गिरफ्तार किया है.  (सांकेतिक फोटो)

डिफेंस कॉलोनी थाना पुलिस ने रेमडेसीविर इंजेक्शन की नाम पर लोगों से ठगी के मामले में युवती को गिरफ्तार किया है. (सांकेतिक फोटो)

Delhi Crime: दिल्ली पुलिस ने मध्य प्रदेश से एक युवती को ठगी के आरोप में अरेस्ट किया है. युवती पर रेमडेसीविर इंजेक्शन के नाम पर दिल्ली-एनसीआर के लोगों से ठगी के आरोप हैं. मध्य प्रदेश से गिरफ्तार युवती की पहचान वर्तिका राय के रूप मेें की गई है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में एक तरफ तो लोग कोरोना (Corona) संक्रमण के दौरान दवाइयों और अस्पतालों में बेड की किल्लत से परेशान रहे हैं. वहीं, इस परेशानी का फायदा उठाने वाले भी पूरी तरीके से सक्रिय रहे हैं. इन लोगों की धरपकड़ के लिए दिल्ली पुलिस (Delhi Police) भी पूरी तरह से अलर्ट रही है और इन आरोपियों पर लगातार शिकंजा कसती रही है.

ऐसा ही ताजा मामला सामने आया है जिसमें दिल्ली पुलिस ने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से एक युवती को ठगी के आरोप में अरेस्ट किया है. युवती पर रेमडेसीविर इंजेक्शन (Remdesivir Injection) के नाम पर दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के लोगों से ठगी के आरोप हैं. मध्य प्रदेश से गिरफ्तार युवती की पहचान वर्तिका राय (18) के रूप में की गई है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

दक्षिण जिले के डिफेंस कॉलोनी थाना पुलिस ने रेमडेसीविर इंजेक्शन की नाम पर लोगों से ठगी के मामले में इस युवती को गिरफ्तार किया है. इसके पास से पुलिस ने दो मोबाइल, बैंक की पासबुक, चेक बुक, चार एटीएम कार्ड 32,400 कैश और बैंक में जमा एक लाख 33 हजार की नकदी बरामद की है. आरोपी युवती मनोवैज्ञानिक फर्स्ट ईयर की छात्रा है. वह मध्य प्रदेश के सिवनी की रहने वाली है.

डीसीपी अतुल कुमार ठाकुर ने शुक्रवार को बताया की एक शिकायतकर्ता अंकित कुमार ने डिफेंस कॉलोनी थाने में शिकायत दर्ज कराई थी. उसने बताया था कि उन्हें अपने रिश्तेदार के लिए रेमडेसीविर इंजेक्शन की तत्काल आवश्यकता थी. गूगल से उन्हें एक नंबर मिला.
उन्होंने उस नंबर पर संपर्क किया और कॉलर ने उन्हें 32,400 में रेमडेसीविर के पांच इंजेक्शन देने का वादा किया. रुपये को खाते में ट्रांसफर कर दिया गया. रुपये ट्रांसफर करने के बाद कथित व्यक्ति ने कोई जवाब नहीं दिया जिसकी जांच के दौरान एक बैंक अकाउंट  की डिटेल और टेक्निकल सर्विलांस के बाद पता चला की बैंक खाता, मध्य प्रदेश के सिवनी का है. जिसके बाद पुलिस की टीम ने आरोपी युवती को उसके घर पर छापेमारी कर गिरफ्तार कर लिया.

पुलिस को शुरूआती जांच में पता चला कि आरोपी युवती के पिता की मेडिकल की शॉप है. पुलिस के अनुसार, अब तक दिल्ली-एनसीआर से करीब 11 लोगों के साथ 2.25 लाख की ठगी कर चुकी है. फिलहाल पुलिस युवती से पूछताछ कर रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज