अपना शहर चुनें

States

Subhash Chandra Bose Jayanti पर दिल्ली सरकार ने लगाया 50 मीटर ऊंचा राष्ट्रध्वज

दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया व NSUT के वीसी के साथ.
दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया व NSUT के वीसी के साथ.

Subhash Chandra Bose Jayanti : मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (NSUT) में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम लेक्चर थिएटर कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन किया. सिसोदिया द्ववारा विश्वविद्यालय में 50 मीटर ऊंचे राष्ट्रध्वज को भी स्थापित गया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 23, 2021, 7:06 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. नेताजी सुभाषचंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री (Deputy CM) मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने नेताजी सुभाष प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (NSUT) में डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम लेक्चर थिएटर कॉम्प्लेक्स का उद्घाटन किया. सिसोदिया द्ववारा विश्वविद्यालय में 50 मीटर ऊंचे राष्ट्रध्वज को भी स्थापित गया.


उन्होंने कहा कि बेरोजगारी से युद्ध लड़ने के लिए हमें विश्वविद्यालयों को रोजगार की गंगोत्री बनाना होगा. दिल्ली सरकार का लक्ष्य विद्यार्थियों में उद्यमिता की सोच विकसित करना है. दिल्ली सरकार लगातार प्रयास कर रही है. उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी से सारे विश्व में बेरोजगारी एक चुनौती के रूप में सामने आई है.




उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि आपस के भेदभाव को भुलाकर, बेहतर शिक्षा के माध्यम से भारत के भविष्य को संवारना नेताजी को सबसे बड़ी श्रद्धांजलि है. नेताजी के सपने का भारत तब साकार होगा, जब देश के बच्चे कुशल बनकर देश के विकास में अपना योगदान दें. यही सच्ची देशभक्ति है.






उन्होंने कहा कि नेताजी के नाम पर यह भारत का एकमात्र प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय है। यह दिल्ली सरकार के लिए गौरव की बात है. आज दिल्ली के सरकारी विद्यालयों के छात्र अंतरराष्ट्रीय ओलिंपियाड में भारत का परचम लहरा रहे हैं.


यही कारण रहा है कि केंद्र सरकार के नीति आयोग (Niti Ayog) ने अपनी रिपोर्ट में दिल्ली के सरकारी विद्यालयों को प्रथम स्थान दिया है. अब दिल्ली सरकार (Delhi Government) का यह सपना है कि उच्च शिक्षा में भी दिल्ली के संस्थान भारत एवं विश्व में अव्वल स्थान प्राप्त करें. इसके लिए नई सोच के साथ निरंतर मेहनत करने की आवश्यकता है.


समारोह में एनएसयूटी के उप-कुलपति प्रो. जेपी सैनी, शिक्षा सचिव एच. राजेश प्रसाद, तकनीकी शिक्षा निदेशक अजीमुल हक़, उप-कुलपति डीटीयू प्रो. योगेश सिंह, उप-कुलपति अंबेडकर विश्वविद्यालय .अनु लाथर, उप-कुलपति कौशल विश्वविद्यालय प्रो. निहारिका वोहरा उपस्थित थे.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज