Home /News /delhi-ncr /

super fast metro train corridoor from jewar to igi airport delhi 74 km rute and 11 station dlnh

Jewar-IGI एयरपोर्ट मेट्रो कॉरिडोर का ट्रैफिक प्लान तैयार, जानें सबकुछ

हाल ही में डीएमआरसी ने यमुना अथॉरिटी को ट्रैफिक स्टडी रिपोर्ट सौंप दी है. इस कॉरिडोर पर सुपर फॉस्ट मेट्रो ट्रेन चलाने की योजना है. Demo Pic

हाल ही में डीएमआरसी ने यमुना अथॉरिटी को ट्रैफिक स्टडी रिपोर्ट सौंप दी है. इस कॉरिडोर पर सुपर फॉस्ट मेट्रो ट्रेन चलाने की योजना है. Demo Pic

आईजीआई एयरपोर्ट (IGI Airport), दिल्ली से लेकर नॉलेज पार्क, ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के 38 किमी लम्बे रूट तक मेट्रो रेल कॉरिडोर का पहला फेज तैयार किया जाएगा. दूसरा फेज 35.6 किमी का है. इस फेज में नॉलेज पार्क से लेकर जेवर एयरपोर्ट तक मेट्रो ट्रेन दौड़ेगी. इस फेज का मेट्रो रूट एलिवेटेड होगा. यह गौतम बुद्ध नगर का सबसे लम्बा रूट होगा. नोएडा और ग्रेटर नोएडा मेट्रो रूट की लम्बाई 29.7 किमी है.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. जेवर एयरपोर्ट (Jewar Airport) से इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट (IGI Airport) तक मेट्रो ट्रेन कॉरिडोर (Metro Train Corridoor) की योजना पर तेजी से काम चल रहा है. योजना की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट और ट्रैफिक स्टडी तैयार करने की जिम्मेदारी दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (DMRC) को दी गई है. हाल ही में डीएमआरसी ने यमुना अथॉरिटी (Yamuna Authority) को ट्रैफिक स्टडी रिपोर्ट सौंप दी है. इस कॉरिडोर पर सुपर फॉस्ट मेट्रो ट्रेन चलाने की योजना है. ट्रेन के चलते एयरपोर्ट के पैसेंजर का वक्त ज्यादा खराब न हो इसके लिए कॉरिडोर में स्टेशन की संख्या कम रखी जाएगी.

74 किमी के मेट्रो कॉरिडोर में होंगे सिर्फ 11 स्टेशन

जेवर एयरपोर्ट से आईजीआई एयरपोर्ट तक आने-जाने के दौरान पैसेंजर का वक्त खराब न हो इसके लिए 74 किमी लम्बे मेट्रो कॉरिडोर में सिर्फ 11 मेट्रो स्टेशन रखने का सुझाव डीएमआरसी ने अपनी स्टडी रिपोर्ट में दिया है. स्टडी रिपोर्ट में यह भी बताया गया है कि इस कॉरिडोर की शुरुआत में करीब 40 हजार पैसेंजर रोजाना और साल 2040 तक करीब 3 लाख पैसेंजर रोजाना मेट्रो से सफर करेंगे. स्टडी रिपोर्ट मिलते ही यमुना अथॉरिथी ने अपनी आगे की कार्रवाई शुरू कर दी है.

दो फेज के मेट्रो कॉरिडोर में यहां होंगे 11 स्टेशन

यमुना अथॉरिटी से जुड़े अफसरों की मानें तो जेवर से आईजीआई एयरपोर्ट तक तैयार होने वाले मेट्रो कॉरिडोर में 11 स्टेशन बनाए जाएंगे. यह कॉरिडोर दो फेज में काम करेगा. पहला फेज जेवर एयरपोर्ट से लेकर सेक्टर-29, 21, 20, 18 और सेक्टर-2 तक होगा. वहीं दूसरा फेज सेक्टर-142, एमिटी यूनिवर्सिटी, न्यू अशोक नगर, दिल्ली गेट और नई दिल्ली स्टेशन तक होगा. सूत्रों की मानें तो इस कॉरिडोर में मेट्रो ट्रेन की रफ्तार 120 किमी की होगी.

चार्जिंग स्टेशन के लिए जगह छोड़ने पर ही होगा नक्शा पास, जाने प्लान

जेवर एयरपोर्ट में यहां बनाए जाएंगे तीन स्टेशन

यमुना अथॉरिटी के अफसरों की मानें तो जेवर एयरपोर्ट को आपस में जोड़ने के लिए परिसर में तीन मेट्रो स्टेशन बनाए जाने के प्रस्ताव को डीपीआर में शामिल कर लिया गया है. यह तीन स्टेशन पैसेंजर टर्मिनल, कार्गों टर्मिनल और मेंटीनेंस एंड रिपेयरिंग हब के पास बनेंगे. सभी स्टेशन के बीच एक से डेढ़ किमी की दूरी होगी. पैसेंजर टर्मिनल के पास ही बुलेट ट्रेन का स्टेशन भी बनाया जाएगा. खास बात यह है कि सभी स्टेशन अंडर ग्राउंड बनाए जाएंगे.

ग्रेटर नोएडा एयरपोर्ट के बीच पॉड टैक्सी प्रोजेक्ट पर भी चल रहा है विचार

ग्रेटर नोएडा और जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के बीच फास्ट कनेक्टिविटी देने के लिए कई और मॉडल पर यमुना अथॉरिटी काम कर रही है. इसमें पॉड टैक्सी चलाने के विकल्प पर भी काम किया जा रहा है. पॉड टैक्सी प्रोजेक्ट के लिए डीपीआर बनवाई जा रही है. इससे लोग ग्रेटर नोएडा से बहुत कम समय में जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक पहुंच जाएंगे. यह यातायात इको फ्रेंडली है. इसका खर्च मेट्रो के सापेक्ष केवल 20 फ़ीसदी होगा. पॉड टैक्सी प्रोजेक्ट को अमल में लाने के लिए ज्यादा जमीन की जरूरत भी नहीं पड़ेगी.

Tags: Delhi Metro, IGI airport, Jewar airport, Noida news, Yamuna Authority

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर