Home /News /delhi-ncr /

सुपरटेक टॉवर निर्माण में खुलासा: बिल्डर ने प्राधिकरण की 7000 वर्ग मीटर ज़मीन पर किया अवैध कब्जा

सुपरटेक टॉवर निर्माण में खुलासा: बिल्डर ने प्राधिकरण की 7000 वर्ग मीटर ज़मीन पर किया अवैध कब्जा

सुपरटेक बिल्डर ने प्राधिकरण की 7000 वर्ग मीटर ज़मीन पर अवैध कब्जा किया हुआ था.

सुपरटेक बिल्डर ने प्राधिकरण की 7000 वर्ग मीटर ज़मीन पर अवैध कब्जा किया हुआ था.

Delhi News: प्राधिकरण की ओर से जब इस मामले में संज्ञान लिया गया है तो उद्यान विभाग के अधिकारियों के नाम सामने आ रहे हैं, जिससे उद्यान विभाग में खलबली मची हुई है.

    हिमांशु शुक्ला

    नई दिल्ली. सुपरटेक ट्विन टॉवर निर्माण से जुड़ा एक और खुलासा हुआ है. सुपरटेक बिल्डर ने प्राधिकरण की 7000 वर्ग मीटर ज़मीन पर अवैध कब्जा किया हुआ था. ग्रीन बेल्ट का इस्तेमाल सुपरटेक बिल्डर कर रहा था. प्राधिकरण के एसआईटी टीम जांच करने के लिए वहां पहुंची थी, उसके बाद इसका खुलासा हुआ. ड्रोन सर्वे के दौरान यह बात सामने आई है. फिलहाल, जो सूचना मिली है, उसके मुताबिक सुपरटेक बिल्डर ने जनरेटर रख ग्रीन बेल्ट पर कब्जा किया हुआ है. सूचना मिलते ही प्राधिकरण के उद्यान विभाग में हड़कंप मच गया. अब प्राधिकरण उद्यान विभाग के अधिकरियों के मिलिभगत की जांच करेगा.

    दरअसल, सुपरटेक के एमरॉल्ड कोर्ट और एटीएस के बीच 7 हज़ार वर्ग मीटर की ज़मीन पर ग्रीन बेल्ट विकसित की गई है. नियमानुसार, एमरॉल्ड के पास दीवार होनी चाहिए, लेकिन एटीएस की तरफ से दीवार बनाई गई. यानी स्पष्ट है कि दीवार के दूसरी तरफ के हिस्से का लाभ एमरॉल्ड के निवासी ले रहे थे. ऐसे में यह कहा जा सकता है कि यह बिल्डर की तरफ से घोषित कब्जा था. फिलहाल मामला संज्ञान में आने के बाद उद्यान विभाग में अधिकारियों के बीच खलबली मची हुई है और अब इस दिशा में प्राधिकरण जांच भी करेगा. जांच के दौरान अगर उद्यान विभाग के किसी भी अधिकारी की लापरवाही सामने आती है तो उस पर सख्त कार्रवाई के बाद भी कही जा रही है.

    मामले में कौन है शामिल

    प्राधिकरण की ओर से जब इस मामले में संज्ञान लिया गया है तो उद्यान विभाग के अधिकारियों के नाम सामने आ रहे हैं, जिससे उद्यान विभाग में खलबली मची हुई है. उद्यान विभाग के निदेशक, उप निदेशक और सहायक निदेशकों के मिलीभगत की बात कही जा रही है, जबकि कुछ अधिकारी रिटायर हो चुके हैं. फिलहाल, मिली जानकारी के मुताबिक एशिया के अध्यक्षता में एक जांच कमेटी गठित की गई है, जो इस पूरे मामले की जांच करेगा और दोषियों पर कार्रवाई की बात कही जा रही है.

    Tags: Delhi, Real estate

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर