Home /News /delhi-ncr /

supertech twin tower demolish case noida expressway to be close on 22 may service roads will affected dlnh

Twin Tower ढहेगा तो बंद रहेंगी कई सड़कें, नोएडा एक्सप्रेसवे पर भी 22 मई को जाना नामुमकिन

Supertech Twin Tower News: नोएडा में बने सुपरटेक के अवैध ट्विन टावरों को ढहाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

Supertech Twin Tower News: नोएडा में बने सुपरटेक के अवैध ट्विन टावरों को ढहाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है.

Supertech Twin Tower Demolition Case: सुपरटेक के सियान और एपेक्स ट्विन टावर को गिराने के दौरान उसके पास से गुजरने वाली सर्विस रोड को बंद किया जा सकता है. यह सर्विस रोड नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे की है. हालांकि इसकी एक लेन को तो अभी से बंद कर दिया गया है. ट्विन टावर में चल रही तोड़फोड़ के चलते कोई अनहोनी न हो जाए, इसके लिए एहतियातन यह कदम उठाए गए हैं. हालांकि एफिडिस कंपनी का दावा है कि यह एक पूरी तरह से कंट्रोल ब्लास्ट होगा.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. दिल्ली से ग्रेटर नोएडा वेस्ट की ओर सफर करने वालों के लिए एक बड़ी खबर है. 22 मई को नोएडा-ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेसवे को कुछ देर के लिए बंद किया जा सकता है. इसे लेकर प्लान तैयार किया जा रहा है. गौरतलब रहे 22 मई को सुपरटेक के सियान और एपेक्स ट्विन टावर को गिराने का काम किया जाएगा. दोनों टावर विस्फोटक लगाकर गिराए जाएंगे. इस दौरान टावर का मलबा रोड पर आकर न गिर जाए, किसी को चोट न लग जाए इसके लिए यह जरूरी कदम उठाया जा सकता है. वहीं सेक्टर-93ए जहां टावर गिराने का काम चल रहा, वहां एक्सप्रेसवे से लगी सर्विस रोड को कम से कम एक महीने के लिए बंद किया जा सकता है.

सुपरटेक की एमराल्ड योजना के दोनों टावर सियान और एपेक्स को सुप्रीम कोर्ट ने अवैध घोषित कर दिया है. साइट पर काम कर रहे इंजीनियरों के मुताबिक पहला धमाका कर सियान टावर को चार सेकेंड में गिरा दिया जाएगा. फिर तीन सेकेंड का खाली वक्त दिया जाएगा. अगले आठवें सेकेंड में एपेक्स टावर को गिराया जाएगा. एक्सपर्ट टीम दोनों टावर से 200 मीटर दूर खड़े होकर रिमोट बटन से टावर को गिराएगी. सूत्रों की मानें तो इस काम के लिए करीब 4 हजार किलो बारूद का इस्तेमाल किया जाएगा.

कंट्रोल ब्लास्ट से गिराए जाएंगे ट्विन टावर

नोएडा सेक्टर-93ए में ट्विन टावर की साइट पर एफिडिस कंपनी के इंजीनियर्स का कहना है कि यह एक पूरी तरह से कंट्रोल ब्लास्ट होगा. इसका असर बहुत दूर तक नहीं होगा. वहीं कंपनी का यह भी कहना है कि अगर मुमकिन हुआ तो आसपास की आरडब्ल्यूए को कंट्रोल ब्लास्ट की एक पिक्चर भी दिखाई जाएगी कि कैसे यह किया जाता है.

mughals Heritage Monuments: Delhi-Agra की मुगल इमारतों पर सालभर में बिकती हैं 200 करोड़ की टिकटें, जानें डिटेल

वॉटरफाल के तरीके से ऐसे गिराए जाएंगे टावर

अमेरिका की कंपनी इससे पहले भारत में ही मुम्बई और कोच्चि में भी मल्टी स्टोरी बिल्डिंग गिराने का काम कर चुकी है. कंपनी ने नोएडा अथॉरिटी में अपना प्रस्ताव पेश करते हुए बताया है कि वो ट्वीन टावर को वॉटरफाल का तरीका अपनाकर तोड़ेगी. इसके लिए टावर के कॉलम, बीम और दिवारों में कई जगह छेद कर वी शेप में एक्सप्लोसिव लगाया जाएगा. इस तरीके से टावर का मलबा एक झरने से गिरने वाले पानी की तरह से नीचे आएगा. खास बात यह है कि मलबा टावर के अंदर की ओर गिरेगा.

300 मीटर दूर से देख सकते हैं टावर गिरते हुए

अक्सर देखा जाता है कि इस तरह से जब कहीं भी बिल्डिंग गिराई जाती है तो देखने वालों की भीड़ लग जाती है, लेकिन मौके पर मौजूद कंपनी के लोगों की मानें तो ट्विन टावर के 300 मीटर एरिया में किसी को भी जाने की अनुमति नहीं होगी. यहां तक कि जब टावर गिराए जाएंगे तो आसपास की सोसाइटी में भी छतों तक पर किसी को रहने की इजाजत नहीं दी जाएगी, लेकिन 300 मीटर दूर खड़े होकर टावर को गिरते हुए देखा जा सकता है.

Tags: Noida Authority, Noida Expressway, Supertech twin tower

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर