होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /सुपरटेक ट्विन टावर में धमाके के बाद कुछ लोगों की आंखों में जलन, सांस लेने में दिक्कत

सुपरटेक ट्विन टावर में धमाके के बाद कुछ लोगों की आंखों में जलन, सांस लेने में दिक्कत

ट्विन टावर को ध्वस्त किए जाने से पहले एमराल्ड कोर्ट तथा एटीएस विलेज सोसाइटी के 5,000 से अधिक लोगों को वहां से खाली करा लिया गया था.

ट्विन टावर को ध्वस्त किए जाने से पहले एमराल्ड कोर्ट तथा एटीएस विलेज सोसाइटी के 5,000 से अधिक लोगों को वहां से खाली करा लिया गया था.

सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट हाउसिंग सोसाइटी में बने ट्विन टावर को रविवार दोपहर जमीदोज़ कर दिया गया. ट्विन टावर को ध्वस्त किए ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट हाउसिंग सोसाइटी में बने ट्विन टावर को रविवार दोपहर जमीदोज़ कर दिया गया.
इससे पहले आसपास की सोसाइटी के 5,000 से अधिक लोगों को वहां से हटाया गया था.
इनमें से अपने घरों में रविवार को ही लौट आए कुछ लोगों ने सांस लेने में दिक्कत तथा आंखों में जलन की शिकायत की है.

नोएडा. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से सटे उत्तर प्रदेश के नोएडा में सेक्टर 93A में स्थित सुपरटेक के ट्विन टावर को विस्फोट से जमींदोज़ किए जाने के 24 घंटे बाद लोगों की सेहत पर इसका दुष्प्रभाव दिखने लगा है. धमाके की वजह से खाली कराए गए आसपास के घरों में वापस लौटे लोगों में से कुछ लोगों ने आंखों में जलन और सांस लेने में दिक्कत की शिकायत की है.

सुपरटेक एमरल्ड कोर्ट में RWA के टास्क फोर्स के चेयरमैन गौरव कुमार ने बताया कि दिक्कत होने की वजह से उन्होंने देर रात 12 बजे एक बार फिर अपना फ्लैट छोड़ दिया. उन्होंने कहा, ‘विस्फोट के बाद वह रात को अपार्टमेंट में लौटे. घंटे भर तक रुके तो आंखों में जलन होने लगी. अपार्टमेंट में धूल, धुआं छाया हुआ था. ऐसे में सांस लेने में दिक्कत होने लगी. लिहाज़ा वापस चले गए.’ इसके साथ ही उन्होंने बताया कि उन्होंने दवा ली है और अब धुंध कम होने पर सोमवार दोपहर बाद घर लौटेंगे.

ऐसे ही जया और पद्मिनी ने भी कहा कि रात को दोनों अपार्टमेंट में लौटीं. अपार्टमेंट की बालकनी में धूल की परत जमी थी. कैंपस में चारों तरफ धुंध का असर था. ऐसे में सुबह भी लोग खांसते नजर आए. उन्हें सांस लेने में मुश्किल हो रही थी. खांसी के साथ ही आंखों में जलन की समस्या महसूस हो रही है.

आपके शहर से (दिल्ली-एनसीआर)

दिल्ली-एनसीआर
दिल्ली-एनसीआर

नोएडा स्थित फेलिक्स अस्पताल के एमडी डॉ. डीके गुप्ता ने न्यूज18हिंदी से बातचीत में बताया कि अस्पताल में एमराल्ड कोर्ट सोसाइटी से सुबह ओपीडी में 5-6 मरीज आये हैं. इन्हें आंखों में जलन, त्वचा में खुजली और खांसी की समस्या हो रही है. इन सभी मरीजों को हमारे एक्सपर्ट डॉक्टर देख रहे हैं. इसके अलावा कुछ लोगों ने अस्पताल के हेल्पलाइन नम्बर पर भी हमारे नेत्र रोग विशेषज्ञों से सलाह ली है.

मास्क लगाए, एक्जास्ट चलाए
एमराल्ड और एटीएस विलेज टॉवर्स में लोगों का लौटना रात से ही शुरू हो गया था. वहीं सुबह भी लोगों का आना जारी है. इस दौरान वहां आसपास की सड़कों और पार्क में खासा धूल जमा दिखा. इससे सांस के रोगियों की मुसीबत बढ़ गई है. वहीं कई लोग वहां मास्क लगाए दिखे.

टावर के अंदर नोएडा पार्टी की टीम सफाई कर रही है. पौधों पर पानी का छिड़काव किया जा रहा है. यहां धूल और धुंध बरकरार है. अभी फ्लैट में भी गंदगी कायम है. फ्लैट के अंदर एक्सजास्ट चलाकर लोग राहत पा रहे हैं.

3700 किलोग्राम बारूद का 50 मीटर उठा गुबार
बता दें कि सुपरटेक एमराल्ड कोर्ट हाउसिंग सोसाइटी में बने ट्विन टावर को रविवार दोपहर जमीदोज़ कर दिया गया. इन दोनों टावर को ध्वस्त करने में 3700 किलोग्राम बारूद का इस्तेमाल हुआ. इस धमाके से 50 मीटर के करीब धूल का गुबार उठा और 5 किलोमीटर तक धुंध गई. अब धुंध से निपटने के लिए पानी का छिड़काव चल रहा है. यहां पानी के 50 टैंकर मंगवाए गए हैं. इसके साथ ही सफाई की टीम भेजी जा रही है. (प्रिया गौतम की इनपुट के साथ)

Tags: Noida news, Supertech twin tower

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें