Home /News /delhi-ncr /

एलोपैथी विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव से बयान का ओरिजनल वीडियो मांगा

एलोपैथी विवाद : सुप्रीम कोर्ट ने बाबा रामदेव से बयान का ओरिजनल वीडियो मांगा

पतंजलि संस्थान के प्रमुख बाबा रामदेव.

पतंजलि संस्थान के प्रमुख बाबा रामदेव.

Baba Ramdev Controversy : दो राज्यों में आईएमए द्वारा दायर करवाई गई एफआईआर को क्लब करवाने की मांग को लेकर सुप्रीम कोर्ट पहुंचे रामदेव की याचिका पर सुनवाई हुई तो कोर्ट ने कहा कि मूल दस्तावेज़ ही प्रस्तुत नहीं किए गए.

    नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को योग गुरु बाबा रामदेव को अपने विवादास्पद बयान से जुड़े वीडियो और बयानों की प्रतिलिपियां कोर्ट के सामने पेश करने के निर्देश दिए हैं. मामला पिछले दिनों रामदेव द्वारा एलोपैथी चिकित्सा पद्धति के खिलाफ की गई बयानबाज़ी का है. इस मामले में कुछ राज्यों में रामदेव के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवाई गई थीं, जिन्हें एकजुट करने की मांग को लेकर रामदेव ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था. इस मामले में सुनवाई करते हुए शीर्ष अदालत ने बाबा रामदेव के बयान तलब किए हैं.

    चीफ जस्टिस एनवी रामन्ना, जस्टिस एएस बोपन्ना और जस्टिस ऋषिकेश रॉय की संयुक्त बेंच ने रामदेव द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई बुधवार को की. कोविड का इलाज एलोपैथी से संभव नहीं है, यह दावा करने वाले रामदेव के बयानों के विरोध में जो एफआईआर अलग अलग राज्यों में की गईं, रामदेव ने उन सभी को क्लब कर दिल्ली ​शिफ्ट करने और फिलहाल उनके संबंध में होने वाली कार्रवाई पर स्टे देने की मांग की थी.



    ये भी पढ़ें : CM तीरथ सिंह रावत को BJP आलाकमान ने अचानक क्यों बुलाया दिल्ली?

    एलोपैथी के खिलाफ बयानों पर विवाद गहराने के बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन की बिहार और छत्तीसगढ़ इकाइयों ने ये एफआईआर दर्ज करवाई थीं. लाइव लॉ की रिपोर्ट के मुताबिक इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने रामदेव की तरफ से पैरवी कर रहे वरिष्ठ वकील मुकुल रोहतगी से रामदेव के प्रामाणिक बयान मांगे. कोर्ट ने ओरिजनल बयान प्रस्तुत करने के​ निर्देश दिए तो रोहतगी ने जल्द ही पेश किए जाने की बात कही. इसके बाद कोर्ट ने मामले की अगली सुनवाई 5 जुलाई तक के लिए स्थगित कर दी.

    Tags: Allopathy, Baba ramdev, Delhi news, Supreme Court, Uttarakhand news

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर