लाइव टीवी

निर्भया केस: पवन की नाबालिग वाली याचिका खारिज, SC ने कहा-पहले क्यों नहीं बताया

News18Hindi
Updated: January 20, 2020, 3:48 PM IST
निर्भया केस: पवन की नाबालिग वाली याचिका खारिज, SC ने कहा-पहले क्यों नहीं बताया
निर्भया का दोषी पवन गुप्ता

निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) मामले में मौत की सजा पाए दोषी पवन गुप्ता ने याचिका में दावा किया था कि 16 दिसंबर 2012 को वह नाबालिग था, इसलिए उसे फांसी नहीं दी जा सकती. हालांकि, सुप्रीम कोर्ट ने उसकी याचिका खारिज कर दी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2020, 3:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) मामले में फांसी की सज़ा पाए चारों दोषियों में शामिल पवन गुप्ता के नाबालिग होने के दावे वाली याचिका सुप्रीम कोर्ट में खारिज हो गई है. पवन गुप्ता ने याचिका में दावा किया कि 16 दिसंबर 2012 को वह नाबालिग था, इसलिए उसे फांसी नहीं दी जा सकती. जस्टिस आर भानुमति की अध्यक्षता वाली 3 जजों की बेंच ने उसके दावे पर कहा- 'इस मामले को कितनी बार उठाएंगे? नाबालिग होने वाली बात ट्रायल कोर्ट में क्यों नहीं बताई गई?' कोर्ट ने याचिका खारिज करते हुए कहा कि अगर आप इस तरह अर्जी दाखिल करते रहेंगे तो यह अंतहीन प्रक्रिया हो जाएगी.

बता दें कि दिल्ली कोर्ट ने निर्भया के चारों दोषियों के लिए नया डेथ वॉरंट जारी किया है. इसके तहत चारों दोषियों को 1 फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा. पहले फांसी की तारीख 22 जनवरी मुकर्रर की गई थी. लेकिन, इस दौरान मुकेश ने राष्ट्रपति के पास दया याचिका दायर कर दी थी. उसकी याचिका खारिज होने के बाद नया डेथ वॉरंट जारी किया गया. अब मुकेश को छोड़कर तीनों आरोपियों पवन गुप्ता, विनय शर्मा और अक्षय ठाकुर के पास राष्ट्रपति के पास दया याचिका भेजने का ऑप्शन बचा है.

Nirbhaya Case
निर्भया केस के चारों दोषी


पवन के वकील ने दी ये दलीलें

पवन गुप्ता के वकील एपी सिंह ने कोर्ट में गायत्री बाल स्कूल के सर्टिफिकेट का जिक्र किया. वकील ने कहा कि यह नया दस्तावेज है. दोषी पवन की जन्मतिथि 8 अक्टूबर, 1996 है. अपराध के समय पवन की उम्र 17 साल 1 महीने 20 दिन थी. इस पर बेंच ने कहा कि आप ट्रायल कोर्ट, हाईकोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में इस मुद्दे को उठा चुके हैं, कितनी बार आप यही मुद्दा उठाएंगे?

जस्टिस अशोक भूषण और जस्टिस बोपन्ना ने पवन के वकील एपी सिंह से पूछा- '9 जुलाई 2018 को आपकी (पवन) याचिका खारिज हो गई थी, लेकिन अब आप नई जानकारियों के साथ कोर्ट में कैसे आए हैं? ये कैसे मेंटेन करते हैं?'


हाईकोर्ट में पहले ही खारिज हो चुकी है याचिका
बता दें कि दोषी पवन गुप्ता की ओर से इस संबंध में दायर की गई याचिका, दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) द्वारा खारिज की जा चुकी है. इससे पहले दिल्ली हाईकोर्ट ने दोषी पवन की नाबालिग बताने वाली याचिका खारिज करते हुए पवन के वकील एपी सिंह पर 25 हजार रुपये का जुर्माना लगाया था.

गौरतलब है कि निर्भया केस के एक अन्य आरोपी मुकेश सिंह की दया याचिका पहले ही राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने खारिज कर दी है. दरअसल, क्यूरेटिव पिटिशन खारिज होने के बाद मुकेश ने राष्ट्रपति के पास दया के लिए गुहार लगाई थी. अब उसके पास कोई विकल्प नहीं बचा है.

निर्भया गैंगरेप, तिहाड़ जेल, निर्भया के गुनहगारों को फांसी, दिल्ली, Nirbhaya gangrape, Tihar Jail, hanging the culprits of Nirbhaya, Delhi,
नया डेथ वारेंट जारी होने के बावजूद भी 1 फरवरी को ही फांसी हो जाए ये अभी निश्चित नहीं है.


1 फरवरी को दोषियों को दी जाएगी फांसी
निर्भया मामले के चारों दोषियों- मुकेश, विनय शर्मा, अक्षय ठाकुर और पवन गुप्ता को एक फरवरी को सुबह 6 बजे फांसी पर लटकाया जाएगा. चारों को पहले 22 जनवरी को फांसी दी जानी थी. पटियाला हाउस कोर्ट को तिहाड़ जेल अधिकारियों ने सूचना दी थी कि मुकेश की दया याचिका को राष्ट्रपति ने खारिज कर दिया है. इसके बाद कोर्ट ने नया डेथ वॉरंट जारी किया.

इसे भी पढ़ें :- निर्भया मामला: चारों गुनहगारों को तिहाड़ जेल नंबर 3 में किया गया शिफ्ट

black death warrant, death warrant, nirbhaya case, nirbhaya gangrape case, tihar jail, patiala court, high court, ब्लैक डेथ वारंट, डेथ वारंट, निर्भया केस, निर्भया गैंगरेप केस, तिहाड़ जेल, पटियाला कोर्ट, हाईकोर्ट,
'निर्भया' की मां आशा देवी चारों दोषियों को फांसी देने में हो रही देरी से काफी दुखी हैं (फाइल फोटो)


तिहाड़ जेल नंबर 3 में शिफ्ट किए जा चुके हैं सभी दोषी
निर्भया गैंगरेप और हत्‍या मामले के चारों दोषियों को दिल्‍ली की तिहाड़ जेल नंबर 3 में शिफ्ट कर दिया गया है. चारों दोषियों का हर रोज मेडिकल परीक्षण भी कराया जा रहा है. चारों को 24 घंटे सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखा जा रहा है. जेल के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'हमने चारों दोषियों को जेल संख्या तीन में स्थानांतरित कर दिया है, जहां पर फांसी दी जानी है.' उन्होंने बताया कि अभी तक विनय शर्मा को तिहाड़ की जेल संख्या चार में रखा गया था जबकि मुकेश और पवन जेल संख्या दो में रखे गए थे.

इसे भी पढ़ें :- Nirbhaya Case: निर्भया के दोषी विनय ने की टॉयलेट में खुदकुशी की कोशिश, पुलिस ने बचाया

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए दिल्ली-एनसीआर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 5:52 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर