शरजील इमाम ने एक एजेंसी से जांच की मांग की, SC ने दिल्ली सरकार से मांगा विस्तृत जवाब

देशविरोधी और भड़काऊ भाषण देने के आरोपी शरजील इमाम को इसी साल जनवरी में बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया था (फाइल फोटो)
देशविरोधी और भड़काऊ भाषण देने के आरोपी शरजील इमाम को इसी साल जनवरी में बिहार के जहानाबाद से गिरफ्तार किया गया था (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने शरजील इमाम (Sharjeel Imam) की याचिका पर दिल्ली सरकार (Delhi Government) से विस्तृत जवाब मांगा है. शरजील इमाम को वर्ष 2019 में जामिया (Jamia) में देशद्रोही भाषण देने और दंगे भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने शरजील इमाम (Sharjeel Imam) की याचिका पर दिल्ली सरकार (Delhi Government) से विस्तृत जवाब मांगा है. शरजील इमाम को वर्ष 2019 में जामिया (Jamia) में देशद्रोही भाषण देने और दंगे भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. सुप्रीम कोर्ट ने शरजील पर किए गए तमाम एफआईआर को एकीकृत कर उसकी जांच एक एजेंसी को देने के लिए दिल्ली सरकार से जवाब मांगा है. सुप्रीम कोर्ट में शरजील इमाम के मामले में सुनवाई 10 दिनों में होगी.

पांच राज्यों में शरजील पर दर्ज हैं मुकदमे

शरजील इमाम पर 5 राज्यों में भड़काऊ भाषण देने के मामले में दर्ज किए गए हैं. देशद्रोह का सामना कर रहे जवाहरलाल नेहरू यूनिवर्सिटी (जेएनयू) के छात्र शरजील इमाम ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है. शरजील ने अपनी याचिका में सुप्रीम कोर्ट से यह मांग की है कि देशभर में उनके खिलाफ दाखिल सभी एफआईआर को एक ही एजेंसी द्वारा समेकित किया जाए और जांच की जाए. इस याचिका पर 01 मई को सुनवाई हुई. सुप्रीम कोर्ट ने दिल्ली सरकार से एफआईआर से विस्तृत जवाब देने को कहा है.



सीएए के विरोध में जामिया में भड़काऊ भाषण देने के आरोप
शरजील इमाम पर दिल्ली के जामिया इलाके में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध प्रदर्शनों में भाग लेने के दौरान भड़काऊ भाषण देने और हिंसा भड़काने के आरोप लगाए गए और उनपर पांच राज्यों में एफआई दर्ज कराए गए. शरजील ने सुप्रीम कोर्ट में दाखिल अपनी याचिका में कहा है कि अलग-अलग राज्यों में उसके खिलाफ एक ही मामले पर कई एफआईआर दर्ज है, इस कारण सारे मामलों को समेकित कर किसी एक एजेंसी द्वारा जांच कराई जाए. शरजील इमाम पर वर्ष 2019 के दिसंबर में मामला दर्ज हुआ था.



ये भी पढ़ें: COVID-19:Delhi Police के जवानों ने छुट्टी के लिए बनाया ये बहाना, हुए सस्पेंड

दिल्ली सरकार का नया प्लान, कंटेनमेंट जोन में अब ये होंगे नियम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज