Home /News /delhi-ncr /

यूपी के इस शहर में जुटे हैं देशभर के 10 लाख से ज्‍यादा मुसलमान, ये है बड़ी वजह

यूपी के इस शहर में जुटे हैं देशभर के 10 लाख से ज्‍यादा मुसलमान, ये है बड़ी वजह

फोटो- इज्तेमा के लिए दरियापुर गांव की ओर रवाना होती भीड़.

फोटो- इज्तेमा के लिए दरियापुर गांव की ओर रवाना होती भीड़.

जानकारों की मानें तो इज्तेमा के लिए बुलंदशहर के गांव दरियापुर में 8 लाख स्क्वायर फुट जगह में पंडाल बनाया गया है.

    कोई असम, त्रिपुरा से आया है तो कोई केरल, तमिलनाडु से. बंगाल, महाराष्ट्र, एमपी, यूपी और हिमाचल से लेकर कश्मीर से लोग आए  हैं.  यूपी का बुलंदशहर बेशक छोटा शहर है, लेकिन जानकारों के अनुसार तीन दिन के लिए 10 लाख से अधिक मुसलमान इस शहर में पहुंच चुके हैं. हर कोई तीन दिन के आलमी इज्तेमा (धार्मिक कार्यक्रम) में शामिल होने के लिए पहुंच रहा है.

    जानकारों की मानें तो तबलीग़ी इज्तेमा के लिए बुलंदशहर के गांव दरियापुर में 8 लाख स्क्वायर फुट जगह में पंडाल बनाया गया है. आने वाले लोगों के लिए खाने का इंतजाम भी गांव में ही किया गया है. एक दिसंबर से शुरु हुआ इज्तेमा तीन दिसंबर को खत्म होगा.

    इज्तेमा में किसी भी तरह की कोई गड़बड़ी ना फैले इसके लिए प्रशासन की ओर से 17 विभागों के कर्मचारी और अधिकारियों को लगाया गया है. सुरक्षा को देखते हुए बाहरी जिले से एक एडिशनल एसपी, 10 सीओ, 10 एसओ/एसएचओ, 40 इंस्पेक्टर, 150 सब इंस्पेक्टर, 520 कांस्टेबल, 150 हेड कांस्टेबल और तीन कंपनी पीएसी की लगाई गई है.

    फोटो- शनिवार से बुलंदशहर की सड़कों पर इसी तरह से हुजूम उमड़ रहा है.


    इसके साथ ही बुलंदशहर के एसपी सिटी, एक एएसपी, 4 सीओ, 142 इंस्पेक्टर और सब इंस्पेक्टर, 70 हेड कांस्टेबल, 200 कांस्टेबल के साथ ही ट्रैफिक पुलिस तैनात रहेगी. तबलीग़ी जमात की ओर से इज्तेमा का आयोजन किया जा रहा है. आने वाले लोगों के लिए रेलवे ने भी 12 ट्रेनों के लिए गांव के पास ही अस्थाई ठहराव की व्यवस्था की है.

    ये भी पढ़ें- अब हज ही नहीं उमरा और ईरान, इराक की ज़ियारत भी कराएगी सरकार!

    मुफ्ती इमरान ने बताया, “इज्तेमा में धर्म के बताए रास्ते पर चलने, दूसरों की मदद करने, मेल-मोहब्बत से रहने, अपने वतन से मोहब्बत और उसकी हिफाजत के बारे में तकरीर (भाषण) की जाती है. इसके साथ ही इज्तेमा के आखिरी दिन दुआ होती है. मुल्क और मुल्क में रहने वालों की तरक्की के लिए दुआ होती है. मुल्क को प्राकृतिक आपदाओं से बचाने की भी दुआ होती है. ये देश का अब तक का सबसे बड़ा इज्तेमा बताया जा रहा है.”

    ये भी पढ़ें- मुसलमान केस जीत भी गए तो क्या 100 करोड़ हिंदू मस्जिद बनने देंगे? जानें यहां 

    आपके शहर से (बुलंदशहर)

    बुलंदशहर
    बुलंदशहर

    Tags: Bulandshahr news, Hindu-Muslim, Indian railway, Muslim, UP police, Uttar pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर