लाइव टीवी

हदें पार कर रहे तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्‍ध, इलाज में जुटे डॉक्‍टरों पर भी थूक रहे
Delhi-Ncr News in Hindi

News18Hindi
Updated: April 1, 2020, 10:27 PM IST
हदें पार कर रहे तबलीगी जमात के कोरोना संदिग्‍ध, इलाज में जुटे डॉक्‍टरों पर भी थूक रहे
निजामुद्दीन मरकज से क्‍वारंटीन सेंटर ले जाए गए हैं तबलीगी जमात के लोग.

तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के कोरोना संदिग्‍धों (Covid 19) को मंगलवार को निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) से तुगलकाबाद स्थित क्‍वारंटीन सेंटर ले जाया गया है. वहां ये लोग डॉक्‍टरों और कर्मचारियों को परेशान कर रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 1, 2020, 10:27 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. दिल्‍ली के निजामुद्दीन मरकज (Nizamuddin Markaz) से तबलीगी जमात (Tablighi Jamaat) के कोरोना संक्रमण संदिग्‍धों (Coronavirus) को ले जाकर तुगलकाबाद में क्‍वारंटीन सेंटर (पृथक केंद्र) में रखा गया है. पहले ये लोग निजामुद्दीन मरकज को छोड़कर जाने को तैयार नहीं थे और अब ये लोग क्‍वारंटीन सेंटर में उनका इलाज कर रहे डॉक्‍टरों और अन्‍य कर्मचारियों को भी परेशान कर रहे हैं. उत्‍तर रेलवे के सीपीआरओ दीपक कुमार के मुताबिक ये सभी लोग पृथक केंद्र में जगह-जगह थूक रहे हैं. इसके साथ ही ये डॉक्‍टरों और कर्मचारियों पर भी थूक रहे हैं. बता दें कि कोरोना वायरस संक्रमित या संदिग्‍ध लोगों के थूकने से इसके संक्रमण के प्रसार का खतरा कई गुना बढ़ जाता है.

खराब बर्ताव कर रहे हैं लोग
सीपीआरओ के मुताबिक ये लोग बुधवार सुबह से ही खराब बर्ताव कर रहे हैं. ये सभी खाने-पीने की अनावश्‍यक चीजों की मांग कर रहे हैं. सीपीआरओ दीपक कुमार के अनुसार ये सभी लोग उनके इलाज में जुटे डॉक्‍टरों और उनकी देखरेख कर रहे कर्मचारियों के साथ बुरा बर्ताव कर रहे हैं. वे सभी क्‍वारंटीन सेंटर में जगह-जगह थूक रहे हैं. वह रोक के बावजूद हॉस्‍टल में घूमने लगते हैं.

सड़कों पर भी थूक रहे थे



तबलीगी जमात के इन 167 कोरोना संदिग्‍धों को मंगलवार रात को 5 बसों से निजामुद्दीन मरकज से दिल्‍ली के तुगलकाबाद स्थित क्‍वारंटीन सेंटर ले जाया गया है. इनमें से 97 लोगों को डीजल शेड ट्रेनिंग हॉस्‍टल के क्‍वारंटीन सेंटर और 70 को आरपीएफ बैरक क्‍वारंटीन सेंटर में रखा गया है. बता दें कि ये सभी निजामुद्दीन मरकज से क्‍वारंटीन सेंटर ले जाए जाने के दौरान सड़कों पर भी थूक रहे थे. इन्‍हें थूकने से रोकने के लिए बसों के शीशे भी बंद करने पड़े थे.



संक्रमण के मामले बढ़ने में मरकज प्रमुख वजह
स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना वायरस के संक्रमण के 386 नये मामलों की पुष्टि और इससे तीन लोगों की मौत होने की जानकारी देते हुए बुधवार को बताया कि कोविड-19 के मामलों में वृद्धि राष्ट्रीय स्तर पर संक्रमण फैलने की दर को नहीं दर्शाती, बल्कि इस बढ़ोतरी में निजामुद्दीन (पश्चिम) में हुआ एक आयोजन प्रमुख वजह रहा. बता दें कि दिल्ली स्थित निजामुद्दीन इलाके में एक से 15 मार्च तक हुये तबलीगी जमात के एक आयोजन में हिस्सा लेने वालों में से कई लोगों को कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि हुई है.

तबलीगी जमात के कार्यक्रम में शामिल होकर घर लौटे अधिकांश लोगों में कोरोना संक्रमण पॉजिटिव पाया गया है. ऐसे मामले देश के अलग-अलग राज्‍यों से सामने आ रहे हैं. राज्‍यों की पुलिस ऐसे लोगों की पहचान करने में जुटी हुई है.

617 लोगों में कोरोना के लक्षण
निजामुद्दीन मरकज में तबलीगी जमात के मुख्यालय में जमात के 2300 से अधिक कार्यकर्ता रूके हुए थे और उन्हें पिछले तीन दिनों में वहां से निकाला गया. इनमें से 617 लोगों में कोविड-19 के लक्षण सामने आने पर उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है जबकि शेष को पृथक रखा गया है. गृह मंत्रालय ने मंगलवार को कहा था कि 21 मार्च को देश के विभिन्न स्थानों पर तबलीगी जमात की शाखाओं में करीब 824 विदेशी रुके हुए थे.

देश में अब तक 38 मौतें
स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने नियमित संवाददाता सम्मेलन में बताया कि देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के कुल 1637 मामले हो गये हैं जबकि इस वायरस से मौत का आंकड़ा 38 हो गया है. उन्होंने स्पष्ट किया कि दिल्ली में हुये तबलीगी जमात के कार्यक्रम के कारण कोरोना वायरस के संक्रमण के मामले बढ़े हैं.

यह भी पढ़ें: क्‍या काम करती है तब्‍लीगी जमात, जुड़े हैं 15-25 करोड़ लोग,चौंका देगा ये VIDEO

निजामुद्दीन की मस्जिद खाली नहीं कर रहे थे मौलाना, देर रात 2 बजे पहुंच गए थे NSA डोभाल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 8:57 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading