AQIS से जुड़ा तहरीक-ए-पाकिस्तान का कनेक्शन, UN ने जताई भारत में बड़े आतंकी हमले की आशंका
Delhi-Ncr News in Hindi

AQIS से जुड़ा तहरीक-ए-पाकिस्तान का कनेक्शन, UN ने जताई भारत में बड़े आतंकी हमले की आशंका
भारत में बड़े आतंकी हमले की आशंका जताई गई है.

भारत (India) में काफी संख्या में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) और अलकायदा इंडियन सबकॉन्टिनेंट (AQIS) के आतंकी मौजूद हैं, जिनका कनेक्शन हाल ही में पाकिस्तान की आतंकी संगठन "तहरीक-ए-पाकिस्तान" (TTP ) के साथ जुड़ गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: July 26, 2020, 11:28 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत (India) में काफी संख्या में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) और अलकायदा इंडियन सबकॉन्टिनेंट (AQIS) के आतंकी मौजूद हैं, जिनका कनेक्शन हाल ही में पाकिस्तान की आतंकी संगठन "तहरीक-ए-पाकिस्तान" (TTP ) के साथ जुड़ गया है. ये आतंकी संगठन किसी भी वक्त ये भारत के अंदर किसी बड़े आतंकी वारदात को अंजाम दे सकते हैं. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने इस तरह की एक चेतावनी भरी रिपोर्ट भारत सरकार को हाल में ही सौंपी है. जिसमें इस बात का जिक्र है.

यूएनएससी के पत्र के मुताबिक केरल और कर्नाटक में काफी संख्या में आतंकी संगठन आईएसआईएस के आतंकी और उसके स्लीपर सेल मौजूद हैं, जो अपने आतंकी आकाओं के संपर्क में बने हुए हैं और जैसे ही कोई बड़ी आतंकी वारदात का आदेश होगा वो उसको अंजाम देने में सक्षम हैं. यूएन की इस रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र है कि आंतकी के निशाने पर सिर्फ भारत ही नहीं है. बल्कि भारतीय उपमहाद्वीप में इस तरह के हमले को अंजाम दिया जा सकता है.

इस इलाके में हैं आतंकी
रिपोर्ट में इस बात को और विस्तार ये बताते हुए ये जानकारी दी गई है कि केरल और कर्नाटक सहित अन्य कुछ राज्यों में आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (ISIS) की सहयोगी संस्था आईएसआईएल (ISIL Militants ) की के सदस्यों की काफी संख्या है. हलांकि इस मामले में पिछले साल 10 मई को ही आईएसआईएल नाम के आतंकी संगठन का नाम सबके सामने आया था. इसके साथ ही आईएसआईएल नाम के आतंक संगठन में करीब 180 से 200 आतंकियों की तादात होने की आशंका जताई गई है.
ये भी पढ़ें: सांपों का 'खास दोस्त' है बस्तर पुलिस का ये जवान, हाथ के इशारों पर नाचते हैं जहरीले नाग!



पांच साल से सक्रिय
अलकायदा इंडियन सबकॉन्टिनेंट (AQIS ) की अगर बात करें तो ये संगठन पिछले पांच साल पहले भी भारत में अपना पांव पसारने की कोशिश कर रहा था. इस आतंकी संगठन ने उतरप्रदेश, झारखंड, बिहार, मध्यप्रदेश, केरल, पश्चिम बंगाल, ओडिशा में अपना नेटवर्क स्थापित करने का प्रयास किया था, लेकिन केन्द्रीय जांच एजेंसी एनआईए (National investigation agency)  दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल (Delhi police) की टीम ने अलग-अलग राज्यों में फैले इस आतंकी संगठन के तमाम नेटवर्क को ध्वस्त करने का काम किया था. लेकिन अब फिर से इस आतंकी संगठन और उसके उसके दूसरे अन्य आतंकी संगठनों के साथ सांठगांठ से जुड़े इनपुट्स मिलने के बाद एनआईए और स्पेशल सेल की टीम फिर से सक्रिय हो गई है.

आतंकी सगंठनों के बीच संबंध
अलकायदा आतंकी संगठन ने साल 2014 में भारत सहित पूरे भारतीय उपमहाद्वीप   में आतंकी गतविधियों को अंजाम देने के लिए एक संगठन की शुरुआत की थी. इसका नाम अलकायदा इंडियन सबकॉन्टिनेंट (AQIS ) है. इस आतंकी संगठन का सबसे पहला प्रमुख मौलाना असीम उमर था. जिसे साल 2019 में अमेरिकी सेना ने एयर स्ट्राइक में मार गिराया था. आसिम उमर पाकिस्तानी मूल का आतंकी था, जो अलकायदा के मुखिया अल जवाहिरी (Al jawahiri ) का बेहद करीबी माना जाता था, लेकिन अब असीम उमर के मारे जाने के बाद इस आतंकी संगठन का प्रमुख ओसामा महमूद (Osama mehmood) को बनाया गया है. ओसामा महमूद ने इस मामले में अपने इस आतंकी संगठन को और ज्यादा मजबूत बनाने के लिए अफगानिस्तान में मौजूद सबसे बड़े आतंकवादी संगठन तहरीक-ए-पाकिस्तान (TTP ) के साथ हाथ मिला लिया है.

यहां चिंता का विषय
इन दोनों संगठनों के आपस में मिलने से भारत, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, म्यांमार के लिए चिंता का विषय है. क्योंकि हाल में ही एक रिपोर्ट आई थी की AQIS के आतंकी और तहरीक-ए-पाकिस्तान के आतंकी अफगानिस्तान के अंदर कंधार, निमरूज, हेलमंद सहित कुछ अन्य लोकेशन पर एक साथ ज्वाइंट आतंकी अभ्यास किया. जिसके बाद ये रिपोर्ट भी पुख्ता हो जाती है कि उन दोनों संगठनों के बीच आपस में कनेक्शन है. हाल में ही अफगानिस्तान के अंदर कई आतंकी वारदात हुईं, जिसमें तहरीक-ए-पाकिस्तान आतंकी संगठन संगठन ने उस हमले और वारदात की जिम्मेदारी ली.

6 हजार से अधिक आतंकी सक्रिय
पाकिस्तान में भी TTP ने कई आतंकी वारदात करके अपनी मौजूदगी दिखाने का प्रयास किया. संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) ने भी अपनी विशेष रिपोर्ट में इस बात का जिक्र किया है कि अफगानिस्तान में करीब 6000 से लेकर 6500 पाकिस्तानी आतंकी सक्रिय तौर पर काम कर रहे हैं और ये लोग भारत और भारतीय उपमहाद्वीप में कभी भी बड़े आतंकी वारदात को अंजाम देने की फिराक में हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading