होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

Delhi News: दिल्ली में EPOS मशीनों से शुरू हुआ राशन बांटने का काम, लेकिन बढ़ रही कार्ड धारकों की टेंशन

Delhi News: दिल्ली में EPOS मशीनों से शुरू हुआ राशन बांटने का काम, लेकिन बढ़ रही कार्ड धारकों की टेंशन

दिल्‍ली में 'वन नेशन, वन राशन कार्ड' स्‍कीम के तहत EPOS मशीनों से शुरू हुआ राशन बांटने का काम.

दिल्‍ली में 'वन नेशन, वन राशन कार्ड' स्‍कीम के तहत EPOS मशीनों से शुरू हुआ राशन बांटने का काम.

One Nation One Ration Card Scheme: दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने राशन को लेकर केन्द्र सरकार की वन नेशन वन राशन कार्ड योजना शुरू कर दी है, लेकिन इस योजना के कारण राशन कार्ड धारकों को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है. दरअसल ई-पीओएस (Electronic Point of Sale) मशीन के कारण लोगों का परेशानी हो रही है. लोगों का कहना है कि मशीन की खामियों की वजह से चीजें पहले से ज्‍यादा जटिल हो गई हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. कुछ दिनों पहले ही दिल्ली सरकार (Delhi Government) ने राशन को लेकर केन्द्र सरकार की वन नेशन वन राशन कार्ड योजना (One Nation One Ration Card Scheme) शुरू की है. इस योजना के मद्देनजर राशन कार्ड धारकों को अब किसी भी राज्य में उनके कार्ड के हिसाब से मुफ्त राशन दिया जा सकेगा. इसके अंतर्गत हर महीने 5 किलो राशन दिया जाता है, जिसमें 4 किलो गेहूं और एक किलो चावल शामिल है. साफ है कि इस योजना के शुरू होने से दिल्ली में भी प्रवासी लोग अपने राशन कार्ड पर मुफ्त में राशन ले सकते हैं, इसलिए सरकार ने सभी राशन दुकानों को ई-पीओएस (इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सेल-Electronic Point of Sale) मशीन दी है जिसके जरिये राशन दिया जाता है, लेकिन अब परेशानी ये है कि इसी मशीन की वजह से लोग इन दिनों राशन नहीं ले पा रहे है.

लोगों का कहना है कि राशन की दुकान पर पंहुचते हैं, तो दुकानदार कभी कहता है कि मशीन खराब है या कभी नेटवर्क नहीं है. कभी मशीन हैंग हो जाती है, तो कभी पूरे-पूरे दिन सर्वर डाउन ही रहता है. इन परेशानियों की वजह से लोग राशन नहीं ले पा रहे हैं. यही वजह है कि दिल्ली के कई इलाकों से हंगामे और दुकानदार के साथ राशन को लेकर झड़प की खबरें भी रोजाना सामने आ रही हैं. वहीं, लोगों का कहना है कि मशीन की खामियों की वजह से चीजें पहले से ज्‍यादा जटिल हो गयी है और राशन मिल नहीं रहा है.

मशीन कैसे करती है काम
अब आपको ये बताते हैं कि ये मशीन है क्या और क्यों इस मशीन की वजह से लोगों को राशन नहीं मिल पा रहा है. ई-पीओएस (इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सेल) एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है और इस मशीन के जरिये बायोमैट्रिक और आधार कार्ड नंबर से राशन कार्ड की पहचान की जाती है और पहचान पूरी हो जाने पर ही राशन दिया जाता है. इसके लिये राशन लेने पहुंचे व्यक्ति को सबसे पहले अपना आधार कार्ड नंबर दुकानदार को बताना होता है. आधार कार्ड नंबर इसलिए, क्योंकि आधार कार्ड राशन कार्ड से लिंक होता है, अब आधार कार्ड नंबर मशीन में डालने के बाद उस व्यक्ति का थंब इंप्रिंट या आई-इंप्रिंट के जरिये बायोमैट्रिक करवाया जाता है. ये सब होने के बाद मशीन उस व्यक्ति के राशन कार्ड का पूरा ब्यौरा स्क्रीन पर दिखा देती है कि वो राशन कार्ड किसका है और उस पर कितना राशन मिलना बकाया है. ये सब जांचने के बाद मशीन से एक स्लिप निकलती है जिसे दुकानदार राशन लेने आये व्यक्ति को पकड़ा देता है और फिर राशन दिया जाता है.

क्या है परेशानी
ये प्रक्रिया है तो बहुत आसान, लेकिन इसकी खामियों की वजह से ये बहुत जटिल हो गयी है. दरअसल मशीन के साथ परेशानी ये आ रही है कि कभी नेटवर्क ना होने या सर्वर डाउन होने की वजह से मशीन काम नहीं कर पाती, तो कभी ये लोगों का बायोमैट्रिक ठीक से नहीं ले पाती. दुकानदारों का कहना है कि कई बार एक समय पर तो मशीन ठीक काम करती है, फिर थोड़ी देर बाद हैंग होनी शुरू हो जाती है. यही वजह है कि लोगों को राशन मिल नहीं पा रहा है, क्योंकि जब तक मशीन से स्लिप नहीं निकलेगी तब तक राशन नहीं दिया जा सकता है.

मशीन को लेकर शुरू हुई राजनीति
लोगों की परेशान बढ़ी तो इस पर राजनीति भी शुरू हो गयी है. बीजेपी ने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि लोगों को मुफ्त राशन देने की बात मोदी सरकार ने कही है, पूरे देश में योजना चलाई जा रही है. दिल्ली में करीबन 10 लाख प्रवासी लोग हैं जिनको इसकी मदद से दिल्ली में भी राशन मिल सकता है, लेकिन दिल्ली सरकार की इच्छा नहीं है. सरकार को इसे ठीक से लागू करना चाहिए. वहीं, बीजेपी ने सवाल उठाये तो सत्ताधारी आम आदमी पार्टी भी बचाव में उतर आयी. आप विधायक सोमनाथ भारती ने कहा कि केजरीवाल सरकार तो दिल्ली में घर-घर राशन पहुंचाने की योजना शुरू करना चाहती थी, इसके लिये सारी तैयारियां पूरी भी कर ली गयी थी, लेकिन आखिरी वक्त में केन्द्र ने इस योजना को रुकवा दिया. अगर घर-घर राशन योजना शुरू हो गयी होती, तो लोगों को इस तरह राशन की दुकानों पर लाइन में खड़ा नहीं होना होता और मशीनों की परेशानी भी नहीं झेलनी पड़ती. इसके अलावा सोमनाथ भारती ने आरोप लगाते हुए कहा कि दिल्ली सरकार की कोशिश है कि लोगों को आसानी से राशन मिल जाए, लेकिन केन्द्र सरकार ये नहीं चाहती.

Tags: Aam aadmi party, BJP, Central government, CM Arvind Kejriwal, Delhi Government, Delhi news, One Nation One Ration Card, PM Modi, Somnath Bharti

अगली ख़बर