• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Delhi-NCR में होगा देश का पहला नया बसने जा रहा वैल कनेक्टेड शहर!

Delhi-NCR में होगा देश का पहला नया बसने जा रहा वैल कनेक्टेड शहर!

दादरी और हापुड़ के 40 गांवों को मिलाकर ग्रेटर नोएडा फेज-2 बसाया जा रहा है.

मौजूदा ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के मुकाबले ग्रेटर नोएडा फेज-2 (Greater Noida Phase-2) काफी बड़ा होगा. खास बात यह है कि यहां किसानों की जमीन खरीदने के बजाए उन्हें नए शहर में हिस्सेदार बनाया जाएगा.

  • Share this:
नोएडा. अगर सब कुछ ठीक-ठाक चला तो दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) के खाते में एक और शहर जुड़ जाएगा. लेकिन यह शहर एनसीआर के सभी शहरों के मुकाबले वैल कनेक्टेड होगा. नया शहर एक्सप्रेस वे, इंटरनेशनल एयरपोर्ट, रेल कॉरिडोर (Rail Corridor), मेट्रो रेल (Metro Rail) सभी से जुड़ा होगा. इसे ग्रेटर नोएडा फेज-2 नाम दिया गया है. इसका बॉर्डर हापुड़ के गांवों तक होगा. मौजूदा ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के मुकाबले यह काफी बड़ा होगा. खास बात यह है कि यहां किसानों की जमीन खरीदने के बजाए उन्हें नए शहर में हिस्सेदार बनाया जाएगा. नए शहर के मास्टर प्लान (Master Plan) को लेकर तैयारियां भी शुरु हो गई हैं.

3 एक्सप्रेस वे, एयरपोर्ट, रेल कॉरिडोर के साथ होगा बहुत कुछ

अगर मौजूदा ग्रेटर नोएडा की बात करें तो उसकी सीमा दादरी के पास दिल्ली-हावड़ा रेल ट्रेक के पास आकर खत्म हो गई है. लेकिन नया ग्रेटर नोएडा फेज-2 रेल ट्रेक को पार कर बसाया जा रहा है. नया शहर गंगा एक्सप्रेस वे और ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस वे को छूता हुआ बनेगा तो यमुना एक्सप्रेस वे भी इससे बस कुछ ही दूरी पर होगा. साल 2024 में पहली उड़ान के साथ शुरु हो रहा जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट भी पास में ही है.



ग्रेटर नोएडा फेज-2 के अंदर ही दिल्ली-मुम्बई और अमृतसर-कोलकाता रेल कॉरिडोर का फायदा भी मिलेगा. नए शहर को बसाने से पहले मेट्रो रेल समेत पब्लिक ट्रांसपोर्ट के सभी साधनों को शुरु करने पर जोर दिया जा रहा है. साथ ही ड्रेनेज सिस्टम, वाटर सप्लाई, पावर सप्लाई को शुरु करने पर भी जोर रहेगा.

Delhi-NCR में लगने जा रही हैं 2800 फैक्ट्रियां, यमुना अथॉरिटी एरिया में लगेंगे 1564 प्‍लांट, देखें पूरी लिस्‍ट

दादरी-हापुड़ के 40 गांवों को मिलाकर बनेगा नया ग्रेटर नोएडा

जानकारों की मानें तो ग्रेटर नोएडा फेज-2 दादरी और हापुड़ के करीब 40 गांवों को मिलाकर बसाया जाएगा. सबसे ज्यादा संख्या दादरी के गांवों की होगी. अगर हापुड़ की बात करें तो पिलखुआ के पास ग्रेटर नोएडा फेज-2 का बॉर्डर होगा. दादरी के जो गांव लिए जाएंगे उसमे गांव सदोपुर, अच्छेजा, बिसाहड़ा, प्यावली, खटाना, शाहपुर, नई बस्ती, फूलपुर, आनंदपुर, खंदेड़ा, मिलक खंदेड़ा, जारचा, रानौली, छौलस, गेसूपुर, भराना, जारचा, बादलपुर, ऊंचा अमीपुर आदि शामिल हैं. मौजूदा ग्रेटर नोएडा जहां 20 हजार हेक्टेयर जमीन पर बसा हुआ है, वहीं नया ग्रेटर नोएडा 35 हजार हेक्टेयर जमीन पर बसाया जाएगा.

इसका भी मिलेगा बड़ा फायदा

यमुना अथॉरिटी ने जेवर एयरपोर्ट और यमुना एक्सप्रेस वे से सटकर कई बड़ी इंडस्ट्रियल और कमर्शियल योजनाओं के लिए प्लॉट आवंटित किए हैं. इसमे फिल्म सिटी भी शामिल है. इसके साथ ही राया हेरिटज सिटी, टप्पल लॉजिस्टिक हब, टॉय सिटी, हैंडीक्राफ्ट सिटी, गॉरमेंट पार्क, मेडिकल डिवाइस पार्क, पतंजलि फूड एण्ड आयुर्वेद पार्क समेत दर्जनों ऐसी योजनाएं हैं जिनका फायदा ग्रेटर नोएडा फेज-2 के लोगों को भी मिलेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज