होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /

वेलकम इलाके में 2 महिलाओं की हत्या का हुआ खुलासा, दोस्त ही निकला दगाबाज

वेलकम इलाके में 2 महिलाओं की हत्या का हुआ खुलासा, दोस्त ही निकला दगाबाज

सर्विलांस के माध्यम से जांच पड़ताल की गई और सीसीटीवी स्कैनिंग की गई तो पता चल गया था कि 13 तारीख को यह मर्डर हो गया था. (सांकेतिक फोटो)

सर्विलांस के माध्यम से जांच पड़ताल की गई और सीसीटीवी स्कैनिंग की गई तो पता चल गया था कि 13 तारीख को यह मर्डर हो गया था. (सांकेतिक फोटो)

Delhi Police: पुलिस पूछताछ में हर्षित ने बताया है कि उसके ऊपर शशांक और सार्थक द्वारा दिया गया काफी उधार हो गया था जिसे वह चुकाना चाहता था. पुलिस को हर्षित के बारे में यह भी सबूत मिला है कि लूटपाट के बाद उसने गोल्ड बेचने के लिए ऑनलाइन माध्यम से जानकारी भी जुटाई थी. पुलिस ने आरोपी से लाखों की नगदी और गहने बरामद कर लिए हैं. बताया जा रहा है कि आरोपी हर्षित बीसीए की पढ़ाई बीच में ही छोड़ चुका था और फिलहाल कोई नौकरी नहीं कर रहा था.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

70 साल की विमला और उनकी 45 साल की पुत्रवधू डोली की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी.
उसने जल्दी पैसा कमाने के लिए अपने ही दोस्तों की दादी और मां का खून कर दिया.
वह घर से गहने और कैश लूट कर फरार हो गया था.

नई दिल्ली. दिल्ली के वेलकम थाना क्षेत्र के सुभाष पार्क में कल एक बुजुर्ग महिला विमला देवी और उनकी पुत्रवधू डोली की लाश घर में मिली थी. दोनों की चाकू से काटकर हत्या की गई थी. मामले में पुलिस ने डॉली के दोनों बेटों के दोस्त हर्षित को गिरफ्तार किया है. 70 साल की विमला और उनकी 45 साल की पुत्रवधू डोली की बेरहमी से हत्या कर दी गई थी. वारदात तब हुई थी जब विमला और डोली घर में अकेले थे. डोली के दोनों बेटे शशांक और सार्थक उत्तराखंड गए हुए थे. जब वह लौटे तब उन्होंने घर में दादी विमला देवी और मां डोली की लाश देखी थी.

उनका पालतू कुत्ता भी घर में बंधा हुआ मिला. पुलिस ने जांच शुरू की. सर्विलांस के माध्यम से जांच पड़ताल की गई और सीसीटीवी स्कैनिंग की गई तो पता चल गया था कि 13 तारीख को यह मर्डर हो गया था, क्योंकि 13 तारीख के बाद दोनों महिलाओं को नहीं देखा गया था. ना ही उन्होंने किसी को फोन नहीं किया था. इसके बाद पुलिस ने मामले में ज्यादा जानकारी जुटाई तो पुलिस को पता चल गया कि शशांक और सार्थक के दोस्त हर्षित का घर में आना जाना था. शशांक और सार्थक ने जाने से पहले अपने दोस्त हर्षित को घर का ख्याल रखने की जिम्मेदारी भी सौंपी थी. लेकिन दोस्त हर्षित दगाबाज निकल आया. हर्षित ने ही घर में बुजुर्ग महिला विमला देवी और उनकी बहू डोली के अकेले होने का फायदा उठाया और घर में घुसकर उन दोनों की हत्या कर दी थी. वह घर से गहने और कैश लूट कर फरार हो गया था.

अपने ही दोस्तों की दादी और मां का खून कर दिया
पुलिस पूछताछ में हर्षित ने बताया है कि उसके ऊपर शशांक और सार्थक द्वारा दिया गया काफी उधार हो गया था जिसे वह चुकाना चाहता था. पुलिस को हर्षित के बारे में यह भी सबूत मिला है कि लूटपाट के बाद उसने गोल्ड बेचने के लिए ऑनलाइन माध्यम से जानकारी भी जुटाई थी. पुलिस ने आरोपी से लाखों की नगदी और गहने बरामद कर लिए हैं. बताया जा रहा है कि आरोपी हर्षित बीसीए की पढ़ाई बीच में ही छोड़ चुका था और फिलहाल कोई नौकरी नहीं कर रहा था. उसके पिता ऑटो ड्राइवर हैं. उसने जल्दी पैसा कमाने के लिए अपने ही दोस्तों की दादी और मां का खून कर दिया.

Tags: Delhi news, Delhi news updates, Delhi police, Murder, New delhi crime news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर