COVID-19 Update: दिल्ली में सीरो सर्वे का तीसरा चरण शुरू, सत्येंद्र जैन बोले- हफ्तेभर में पूरा होगा काम
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19 Update: दिल्ली में सीरो सर्वे का तीसरा चरण शुरू, सत्येंद्र जैन बोले- हफ्तेभर में पूरा होगा काम
पहला सिरो सर्वे 27 जून से 10 जुलाई के बीच हुआ था.

COVID-19 Update: कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण पर काबू पाने के लिए दिल्ली (Delhi) में अब तक दो चरणों में सीरो सर्वे (SERO Survey) हो चुके हैं. तीसरे चरण के सर्वेक्षण में राजधानी के सभी इलाकों से लगभग 17,000 नमूने जुटाए जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 1, 2020, 7:16 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन (Satyendra jain) ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली (Delhi) में आज से सीरो सर्वे (SERO Survey) का तीसरा चरण शुरू हो गया है. उन्होंने कहा कि इस बार सीरो सर्वे दिल्ली के सभी वार्डों में किया जाएगा. इस बार सैंपल (Sample) का साइज 17 हजार रखा गया है. उन्होंने बताया कि एक हफ्ते के अंदर सर्व का काम पूरा हो जाएगा और इससे संसोधित करने में 7 से 10 दिन लगेंगे.

दिल्ली में कोरोना वायरस (Coronavirus) पर काबू पाने के लिए अब तक दो बार सीरो सर्वे हो चुके हैं. सर्वे का तीसरा चरण आज से शुरू हो गया है. तीसरे चरण में दिल्ली के सभी 11 जिलों से और सभी आयु वर्ग लोगों के नमूने जुटाए जाएंगे. इस दौरान लगभग 17,000 नमूने एकत्र किए जाएंगे. खास बात यह है कि तीसरे सर्वे में एकत्र किए जाने वाले नमूनों की संख्या दूसरे सर्वे से अधिक होगी, लेकिन पहले वाले की तुलना में यह अब भी कम होगी जो कि राष्ट्रीय रोग नियंत्रण केंद्र (NCDC) के नेतृत्व में हुआ था.


क्या होता है सिरोलॉजिकल सर्वे?
वास्तव में ये सीरम टेस्ट जैसा होता है. इसके ज़रिये यह पता लगाया जाता है कि किसी व्यक्ति के शरीर में कोरोना वायरस से लड़ने के लिए एंटीबॉडीज़ विकसित हो चुकी हैं या नहीं. वायरस जैसे बाहरी ऑर्गनिज़म से लड़ने के लिए शरीर का इम्यून सिस्टम जो प्रोटीन पैदा करता है, उन्हें एंटीबॉडीज़ कहा जाता है.


तकरीबन 4 हज़ार मौतों और सवा लाख से ज़्यादा कोविड केसों के बाद पिछले कुछ दिनों से दिल्ली में संक्रमण की रफ्तार पर कुछ रोकथाम नज़र आई है. इन हालात में दिल्ली में तीबारा सीरो सर्वे करने की ज़रूरत क्यों पड़ी, ये भी जानने लायक है क्योंकि लोगों में ये प्रोटीन सिर्फ तभी विकसित हो सकते हैं, जब वो संक्रमित होने के बाद रिकवर हो चुके हो.

पहला सीरो सर्वे 27 जून से 10 जुलाई के बीच हुआ था
दरअसल, पहला सिरो सर्वे 27 जून से 10 जुलाई के बीच हुआ था. इसमें  दिल्ली के 22.86% लोगों में कोरोना के खिलाफ एंटीबॉडी पाए गए थे. दूसरा सिरो सर्वे 1 से 7 अगस्त के बीच किया गया था, जिसमें 29.1% लोगों में एंटीबॉडी पाए गए थे. पहले सिरो सर्वे में 21,387 लोगों से नमूने एकत्र किए गए थे, जबकि दूसरे दौर में 15,000 नमूने एकत्र किए गए थे.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज