आवास विकास परिषद की 2700 एकड़ की मंडोला विहार योजना के दिल्‍ली-सहारनपुर हाईवे से लिंक होने में फंसा पेंच

सांकेतिक फोटो

Avas Vikas Parishad की मंडोला विहार को Delhi Saharanpur Highway से लिंक करने की योजना में पेंच फंस सकता है. परिषद ने अभी तक रोड उतारने के लिए जमीन देने को स्‍वीकृति नहीं दी है जबकि NHAI हाईवे डिजाइन फाइनल कर चुका है

  • Share this:
गाजियाबाद. आवास विकास परिषद  (Avas Vikas Parishad) की लोनी में स्थित मंडोला विहार (Mandol Vihar) योजना के दिल्‍ली सहारनपुर हाईवे (Delhi Saharanpur Highway) से लिंक होने पर पेंच फंस सकता है. इस वजह से यहां रहने वाले लोगों के लिए दिल्‍ली दूर हो सकती है. आवास विकास परिषद के लिए यह योजना इसलिए भी खास है, क्‍योंकि परिषद के पास प्रदेश में सबसे बड़ा लैंड बैंक यहीं है, यह 2700 एकड़ की योजना है. हालांकि परिषद के अधिकारियों का कहना है कि मंडोला विहार योजना को दिल्‍ली सहारनपुर हाईवे से लिंक करने की पूरी कोशिश की जा रही है.

नेशनल हाईवे अथारिटी आफ इंडिया (National Highways Authority of India) दिल्‍ली के अक्षरधाम से सहारनपुर तक 155 किमी लंबा हाईवे बना रहा है. इसका काम चार चरणों में किया जा रहा है. इस रास्‍ते में आवास विकास परिषद की मंडोला विहार योजना आती है. इस योजना के तहत करीब 5000 फ्लैट बन चुके हैं और लोग रह रहे हैं. यहां रहने वाले ज्‍यादात लोग रोजना दिल्‍ली आते जाते हैं. मौजूदा समय दिल्‍ली आने का रास्‍ता लोनी या सोनिया विहार पुस्‍ता होकर ही है. इन दोनों रास्‍तों से दिल्‍ली पहुंचने में समय लगता है. एनएचएआई मंडोला विहार योजना को दिल्‍ली सहारनपुर हाईवे से जोड़ने के लिए आवास विकास परिषद से जगह मांग रहा है, जिससे यहां रहने वाले लोगों के लिए दिल्‍ली  से कनेक्‍टीविटी आसान हो जाए, वे 15 से 20 मिलने अक्षरधाम पहुंच सकें, लेकिन एनएचएआई को परिषद की ओर से अभी तक जमीन संबंधी कोई अप्रूवल नही मिला है.

एनएचएआई के प्रोजेक्‍ट डायरेक्‍टर मुदित गर्ग का कहना है कि वे करीब साल से आवास विकास से जमीन मांग रहे हैं लेकिन अभी तक जमीन नहीं मिली है. उन्‍हें हाईवे की डिजाइन फाइनल कर काम शुरू करना है. पिछले दिनों एक लेटर आवास विकास परिषद को भेजा था, जिसमें एक सप्‍ताह का समय दिया था कि अगर वो जवाब नहीं देंगे तो डिजाइन फाइनल कर ठेकेदार को सौंप देंगे, जिसके बाद कोई भी बदलाव मुश्किल हो सकता है. आवास विकास परिषद की ओर से अभी तक कोई जवाब नहीं आया है, इसलिए डिजाइन फाइनल कर दिया गया है, जल्‍द ही इसका डिजाइन ठेकेदार को देकर काम शुरू करा दिया जाएगा. वहीं, आवास विकास परिषद के मंडोल विहार के अधिशासी अभियंता डीबी सिंह का कहना है कि ऐसे फैसले मुख्‍यालय स्‍तर पर होते हैं, लेटर मुख्‍यालय भेजा जा चुका है. परिषद के पूरे प्रदेश के मुख्‍य अभियंता एससी राय का कहना है कि एनएचएआई का लेटर मिला है, जल्‍द ही जवाब भिजवा दिया जाएगा. कागजी कार्रवाई में समय लगता है. आवास विकास परिषद मंडोला विहार योजना को दिल्‍ली सहारनपुर हाईवे से लिंक कराने के लिए पूरी तरह तैयार है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.