COVID-19 पॉजिटिव मिलने पर सोसायटी या कॉलोनी को सील करने के यह हैं नए नियम
Delhi-Ncr News in Hindi

COVID-19 पॉजिटिव मिलने पर सोसायटी या कॉलोनी को सील करने के यह हैं नए नियम
Demo Pic

नये नियमों के तहत अब यदि किसी सोसायटी में कोई कोरोना पॉजिटिव (COVID-19) मिलता है तो उस पूरी सोसायटी को नहीं, सिर्फ उस टावर या फ्लोर को ही सील किया जाएगा. यह निर्णय लेने का अधिकार भी अब जिले के डीएम को दे दिया गया है

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
नई दिल्ली. अगर एक भी कोरोना पॉजिटिव (COVID-19) केस मिल रहा था, तो दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में पूरी हाउसिंग सोसायटी और कॉलोनी को सील कर दिया जा रहा था. लेकिन एक केस के चलते पूरी सोसायटी (Housing Society) और कॉलोनी की परेशानी को देखते हुए अब इस नियम में कुछ बदलाव किए गए हैं. नये नियमों के तहत अब यदि किसी सोसायटी में कोई कोरोना पॉजिटिव मिलता है तो उस पूरी सोसायटी को नहीं, सिर्फ उस टावर या फ्लोर को ही सील किया जाएगा. यह निर्णय लेने का अधिकार भी अब जिले के डीएम को दे दिया गया है. इस तरह का निर्णय राज्य सरकार और गृह मंत्रालय (Home Ministry) के एक आदेश के बाद लिया गया है. नए आदेश में कंटेनमेंट जोन का एरिया भी तय किया गया है.

नए नियम से ऐसे तय होगा कंटेनमेंट जोन
गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी सुहास एलवाई ने अपने एक आदेश में कहा है कि राज्य सरकार के आदेश के बाद से शहरी क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन का एरिया फिर से तय किया गया है. अगर किसी बहुमंजिला इमारत में कोरोना पॉजिटिव का एक मामला आता है तो हाउसिंग सोसायटी के उस खास टावर को सील कर दिया जाएगा. यदि पॉजिटिव के एक से अधिक मामले या क्लस्टर हैं तो इस संबंध में पहले के आदेश के अनुसार, 500 मीटर का कंटेनमेंट एरिया और 250 मीटर के बफर जोन को चिह्नित करने का क्रम जारी रहेगा.

वहीं, अगर दो टावर में एक-एक केस हैं और दोनों टावर के बीच की दूरी 500 मीटर से ज्यादा है तो ऐसे में वो सोसायटी कंटेनमेंट जोन में नहीं आएगी. ऐसा माना जा रहा है कि यह कदम कई आरडब्ल्यूए और हाउसिंग सोसायटी में रहने वाले लोगों के विरोध के बाद उठाया गया है. कुछ दिन पहले गाजियाबाद में एक केस मिलने के बाद सील की जा रही सोसायटी को लेकर हंगामा खड़ा हो गया था.



दिल्ली में हैं 160 कंटेनमेंट जोन


गृह मंत्रालय ने अपनी गाइडलाइन जारी करते हुए वो ही पुराने नियम रखे हैं. लेकिन इसमें एक लाइन यह जोड़ दी गई है कि जिले के डीएम मौके के हालात को देखते हुए खुद भी निर्णय ले सकते हैं. यही वजह है कि दिल्ली में आज भी कंटेनमेंट जोन वाला 500 मीटर का पुराना नियम ही लागू किया जा रहा है. दिल्ली में इस वक्त 160 से ज्यादा कंटेनमेंट जोन हैं.

ये भी पढ़ें:-

दिल्ली: शाहीन बाग में फिर धरना शुरू करने पहुंचीं महिलाएं, सभी DCP को निर्देश- फोर्स तैयार रखें

चार्जशीट में SIT का बड़ा खुलासा- एक Whatsapp ग्रुप से ऑपरेट हो रही थी दिल्ली हिंसा
First published: June 4, 2020, 3:06 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading