• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Corona Pandemic: ऑनलाइन पढ़ाई में 60 लाख छात्र कर रहे नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी का इस्‍तेमाल, ऐसे करें रजिस्‍ट्रेशन

Corona Pandemic: ऑनलाइन पढ़ाई में 60 लाख छात्र कर रहे नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी का इस्‍तेमाल, ऐसे करें रजिस्‍ट्रेशन

नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ इंडिया के प्‍लेटफॉर्म पर इस वक्‍त सात करोड़ से ज्‍यादा डॉक्‍यूमेंट और किताबें उपलब्‍ध हैं. सांकेतिक तस्‍वीर.

National Digital Library of India: इस लाइब्रेरी में प्राइमरी से लेकर पोस्‍ट ग्रेजुएशन तक की किताबें उपलब्‍ध हैं. इसके साथ ही यहां छात्रों से लेकर टीचर्स, रिसर्चर्स, लाइब्रेरियन और अन्‍य प्रोफेशनल के लिए भी किताबें मौजूद हैं. यहां मिलने वाला कंटेंट या मेटेरियल ऑडियो, वीडियो, डॉक्‍यूमेंट और किताबों के अलावा थीसिस के रूप में है.

  • Share this:

नई दिल्‍ली. कोरोना महामारी के दौरान घर पर बैठकर की जा रही पढ़ाई में नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ इंडिया (National Digital Library Of India) छात्रों की पहली पसंद बनकर उभरी है. देश में कोरोना की पहली लहर आने के बाद भारत सरकार के शिक्षा मंत्रालय की ओर से इसे तैयार किया गया था. वहीं इसे इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी खड़गपुर (IIT Kharagpur) के द्वारा चलाया जा रहा है. खास बात है कि पिछले साल तैयार हुई इस लाइब्रेरी में अभी तक 60 लाख से ज्‍यादा छात्र रजिस्‍ट्रेशन करा चुके हैं.

आईआईटी खड़गपुर के प्रोफेसर और नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी (NDLI) के प्रिंसिपल इन्‍वेस्टिगेटर पीपी चक्रवर्ती ने न्‍यूज 18 हिंदी से बातचीत में बताया कि इस लाइब्रेरी से रोजाना तकरीबन दो लाख डॉक्‍यूमेंट पढ़ाई के लिए इस्‍तेमाल किए जा रहे हैं. यह संख्‍या लगातार बढ़ रही है. इसके साथ ही इस लाइब्रेरी के प्‍लेटफॉर्म को इस्‍तेमाल करने के लिए रजिस्‍ट्रेशन अनिवार्य है ऐसे में अभी तक 60 लाख के लगभग बच्‍चे यहां रजिस्‍टर्ड हैं.

जबकि करीब 32 लाख छात्र इस लाइब्रेरी (Library) पर सक्रिय हैं. इसमें 7.3 करोड़ पढ़ाई से संबंधित दस्‍तावेज या किताबों का मेटेरिेयल उपलब्‍ध है. जिसमें से 60-70 फीसदी मेटेरियल पूरी तरह फ्री है. हालांकि इस लाइब्रेरी से संबंधित किसी भी किताब या डॉक्‍यूमेंट के इस्‍तेमाल पर कोई शुल्‍क नहीं है लेकिन बाकी बचा हुआ करीब 30 फीसदी मेटेरियल सब्‍सक्रिप्‍शन पर मिलता है. ऐसे में करीब छह करोड़ के आसपास किताबें यहां से बच्‍चे किसी भी वक्‍त इस्‍तेमाल कर सकते हैं.

इस लाइब्रेरी में प्राइमरी से लेकर पोस्‍ट ग्रेजुएशन तक की किताबें उपलब्‍ध हैं. इसके साथ ही यहां छात्रों से लेकर टीचर्स, रिसर्चर्स, लाइब्रेरियन और अन्‍य प्रोफेशनल के लिए भी किताबें मौजूद हैं. यहां मिलने वाला कंटेंट या मेटेरियल ऑडियो, वीडियो, डॉक्‍यूमेंट और किताबों के अलावा थीसिस के रूप में है.

17 राज्‍यों के बोर्ड का मेटेरियल इस लाइब्रेरी में उपलब्‍ध

प्रो. चक्रवर्ती बताते हैं कि इस लाइब्रेरी में सीबीएसई (CBSE Board), यूपी बोर्ड (UP Board), हरियाणा बोर्ड (Haryana Board), एमपी बोर्ड सहित कुल 17 राज्‍यों के बोर्ड का सिलेबस और किताबें ऑनलाइन मौजूद हैं. रजिस्‍टर्ड छात्रों को सभी मेटेरियल एक क्लिक पर मिल रहा है. छात्रों को अगर कोई किताब बाजार में नहीं मिल रही तो वह यहां उपलब्‍ध है. एनडीएल की ओर से और भी राज्‍यों को लिखा गया है कि वे अपना सिलेबस यहां दें ताकि छात्रों को घर बैठे ही ऑनलाइन पूरा सिलेबस पढ़ाई के लिए मिल सके.

ऐसे करें रजिस्‍ट्रेशन

प्रो. चक्रवर्ती बताते हैं कि इस लाइब्रेरी पर रजिस्‍ट्रेशन करना बेहद आसान है. इसके लिए नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी ऑफ इंडिया की वेबसाइट https://ndl.iitkgp.ac.in/ पर जाना होगा. जहां से लॉग इन के विकल्‍प पर जाकर रजिस्‍ट्रेशन कर सकते हैं. इसमें छात्रों को अपनी पूरी जानकारी देनी होगी. जिसमें ईमेल आईडी से लेकर पता, भाषा, शिक्षा, संस्‍थान आदि की जानकारी शामिल होगी. इसके बाद छात्र लॉग इन करके सीधे ही इस लाइब्रेरी का फायदा उठा सकते हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज