दिल्ली में इस उम्र के लोगों पर सबसे ज्यादा कोरोना का कहर, केजरीवाल ने केंद्र से मांगी ये मदद

दिल्ली में कोरोना का कहर एक खास उम्र के लोगों पर कहर बन कर टूट रहा है. (Pic- AP)

दिल्ली में कोरोना का कहर एक खास उम्र के लोगों पर कहर बन कर टूट रहा है. (Pic- AP)

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने केंद्र सरकार से मांग की है कि कोरोना वैक्सीनेशन (Corona Vaccination) को लेकर सभी प्रतिबंध हटा देनी चाहिए, क्योंकि दिल्ली के अस्पतालों (Hospitals) में कोरोना के 65 फीसदी मरीज 45 साल से कम उम्र के आ रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 11, 2021, 8:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. दिल्ली में एक बार फिर से कोरोना (Corona Virus) बेकाबू हो चला है. खास बात यह है कि इस बार कोरोना का कहर एक खास उम्र (Age Groups) के लोगों पर कहर बन कर टूट रहा है. दिल्ली में रविवार को कोरोना ने पिछले सारे रिकॉर्ड्स तोड़ डाले. बीते 24 घंटे में दिल्ली में कोरोना के 10774 नए मामले सामने आए हैं और 48 मरीजों की मौत हो गई है. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (CM Arvind Kejriwal) ने कोरोना के बढ़ते केस पर गंभीर चिंता जताई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तेजी से कोरोना फैल रहा है, अगर उससे ज्यादा तेजी से वैक्सीनेशन कर देते तो हम कोरोना को काबू कर सकते थे. हमें कोरोना को हराने के लिए ज्यादा गति से वैक्सीनेशन चाहिए. केंद्र सरकार को वैक्सीनेशन को लेकर सभी प्रतिबंध हटा देनी चाहिए, क्योंकि दिल्ली में कोरोना के 65 फीसदी मरीज 45 साल से कम उम्र के आ रहे हैं.

कोरोना इस उम्र के लोगों पर कहर बन कर टूट रही है

दिल्ली में पिछले 10 से 15 दिनों में बहुत तेजी से कोरोना के मामले बढ़ें हैं. रविवार को केजरीवाल ने कहा है कि दिल्ली में यह चौथी लहर बहुत खतरनाक है. पिछले 24 घंटे में दिल्ली में 10774 केस आए हैं. इससे पहले दिल्ली में तीन लहर आ चुकी है. चौथी लहर इतना तेजी से बढ़ रहा है कि बहुत सारे लोगों की समझ से बाहर है. जैसे कुछ दिन पहले यानि मार्च के दूसरे सप्ताह तक 200 से भी कम केस प्रति दिन आने चालू हो गए थे. पिछले 24 घंटे में 10 हजार से भी ज्यादा केस आए हैं. पिछले तीन दिनों से यह आंकड़ा काफी बढ़ा है.

covid-19 cases in delhi, pm modi, arvind kejriwal, delhi hospitals, 45 age groupe affected, Delhi corona updates, Corona cases in delhi, corona records, newly infected, 48 patients death, दिल्ली में कोरोना के आंकड़े, कोराना के कितने मामले दिल्ली में, इस ग्रुप के लोगों पर कोरोना कर रहा हमला, 45 साल के कम के आदमी, अस्पतालों की क्या है स्थिति, दिल्ली सरकार, केंद्र सरकार, अरविंद केजरीवाल, पीएम मोदी
अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की स्थिति बेहद चिंताजनक है. (File)

केजरीवाल ने मांगी केंद्र से ये मदद

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की स्थिति बेहद चिंताजनक है और इसमें कोई दो राय नहीं है, लेकिन दिल्ली सरकार पूरी तरह से स्थिति पर नजर रखे हुए है. मैं खुद इस पर नजर रखे हुए हूं. हमें जो भी करने की जरूरत है, हम वह सब कर रहे हैं और हम सभी का सहयोग ले रहे हैं. इस वक्त हम मोटे तौर पर तीन स्तर पर काम कर रहे हैं. पहला, किस तरह से कोरोना को फैलने से रोका जाए. हमें अपने और अपने परिवार के स्वास्थ्य के लिए बढ चढ़कर कोरोना के सभी दिशा निर्देशों का पालन करना चाहिए. हम तीन बातें बार-बार कहते हैं, मास्क पहन कर रखिए, सोशल डिस्टेंसिंग कीजिए और बार-बार हाथ धोते रहिए. हमें अब इसमें एक बात और जोड़ना होगा. हमें घर से बाहर तभी निकलना चाहिए, जब बहुत जरूरी हो.

कोरोना के साइकिल को अब ऐसे तोड़ेगी केजरीवाल सरकार



मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के अंदर हमारा जो डेटा वह दिखाता है कि दिल्ली के अंदर जो मरीज आ रहे हैं, उनमें से 65 फीसद मरीज 45 साल से कम उम्र के हैं. अगर 65 फीसद मरीज 45 साल से कम उम्र के हैं तो कोरोना रूकेगा कैसे और इसकी साइकिल कैसे टूटेगी? कोरोना की साइकिल तभी टूटेगी जब वैक्सीनेशन होगा. मेरा केंद्र सरकार से निवेदन है कि केंद्र सरकार ने बहुत से प्रतिबंध लगा रखे हैं कि ज्यादा सेंटर नहीं खोल सकते. 45 साल से कम उम्र के लोगों को वैक्सीन नहीं दे सकते. अभी तो हमें बड़े पैमाने पर युद्ध स्तर पर सारी मशीनरी को वैक्सीनेशन के ऊपर लगा देनी चाहिए. इससे बड़ा विरोधाभास क्या हो सकता है कि हमारी वैक्सीन आ गई और उसके बावजूद हम कोरोना से लड़ रहे हैं और कोरोना इतनी तेजी से फैल रहा है. अगर हम कोरोना का वैक्सीनेशन तेज कर दें तो इसका एक समाधान हो सकता है.

ये भी पढ़ें: लाखों मकान मालिकों पर पड़ी दोहरी मार, कोरोना और लॉकडाउन के बाद अब House Tax में भी हुई बढ़ोतरी

बता दें कि दिल्ली में टेस्ट बहुत ज्यादा बढ़ा दी गई है. पिछले कुछ दिनों तक 80 से 85 हजार प्रतिदिन जांच हो रही थी और पिछले कुछ दिनों से 1.10 लाख टेस्ट प्रतिदिन हो रहे हैं. साथ ही सामाजिक और सरकारी दोनों स्तर पर लोगों को जागरूक किया जा रहा है. दिल्ली पुलिस ने भी लोगो को जागरूक करने के लिए रविवार को गुलाब के फूल का सहारा लिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज