Home /News /delhi-ncr /

Lockdown में डेढ़ करोड़ फूड पैकेट और 605 टन राशन बांटने के बाद आज बंद हो जाएगा यह हेल्‍पलाइन नंबर

Lockdown में डेढ़ करोड़ फूड पैकेट और 605 टन राशन बांटने के बाद आज बंद हो जाएगा यह हेल्‍पलाइन नंबर

आवेदन की आखिरी तारीख 7 सितंबर 2020 है. (फाइल फोटो)

आवेदन की आखिरी तारीख 7 सितंबर 2020 है. (फाइल फोटो)

सीनियर सिटीजन, बीमार और प्रवासी मजदूरों (Migrant Labour) की मदद भी इसी हेल्‍पलाइन नंबर से की गई थी.

नई दिल्ली. मार्च में लॉकडाउन (Lockdown) शुरू होते ही जरूरतमंदों और गरीबों की मदद के लिए एक हेल्पलाइन (Helpline) नंबर शुरू किया गया था. हेल्पलाइन नबर पर एक फोन कॉल करने के तुरंत बाद जरूरत के हिसाब से पकाए हुए खाने की पैकेट या राशन किट पहुंचाई जा रही थी. इतना ही नहीं, सीनियर सिटीजन, बीमार और प्रवासी मजदूरों की मदद भी इसी हेल्पलाइन की मदद से की गई.

आपको यह सुनकर ताज्जुब होगा कि लॉकडाउन में लगातार डयूटी करने वाली दिल्ली पुलिस ही इस हेल्पलाइन को चला रही थी. अब जब लॉकडाउन में तमाम तरह की छूट दी जा रही है, तो पुलिस अफसर 11 हफ्तों तक हेल्पलाइन को चलाने के बाद उसे 10 जून से बंद करने जा रहे हैं.

हेल्‍पलाइन नंबर से बहुत को मिली मदद
डीसीपी आसिफ मोहम्मद अली ने बताया कि दिल्ली पुलिस को दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से मदद के 54 हज़ार कॉल्स आईं. कुल 1.45 करोड़ फ़ूड पैकेट जरूरतमंद लोगों को बांटे गए. इसमें 605 टन सूखा राशन जरूरतमंद लोगों का एक फोन कॉल मिलने के बाद बांटा गया. इसके अलावा 100 से ज्यादा बुजुर्गों की हर तरह से मदद की गई.

पूरी दिल्ली में फ़ूड डिलीवरी नेटवर्क चलाया गया, ताकि हर जरूतमंद को खाना मिल सके. जो परिवार घर नहीं गए, ऐसे 600 लोगों के लिए दिल्ली में इंतज़ाम कराए गए. चार सौ लोगों के घरों में लॉकडाउन के दौरान कोई न होने पर मदद की गई. उन्होंने बताया कि दिल्ली के 15 जिलों के पुलिस अधिकारियों ने मदद करने वाली सामाजिक संस्थाओं के साथ लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंद लोगों की मदद की.

खो-खो टीम की कप्तान को भी पहुंचाई मदद
लॉकडाउन के दौरान भारतीय खो खो टीम की कप्तान रहीं नसरीन शेख के पिता बर्तन बेचकर घर का खर्च चला रहे थे. उनकी आर्थिक स्थिति इतनी खराब हो गई थी कि वह राशन का खर्च भी नहीं उठा पा रहे थे. दिल्ली में रहने वाली नसरीन ने मदद की गुहार लगाई थी. उनकी अपील के बाद दिल्ली पुलिस उनकी मदद के लिए आगे आई. नसरीन ने एशियाई चैम्पियनशिप और दक्षिण एशियाई चैम्पियनशिप (South Asian Championship) में भारत को गोल्ड मेडल दिलाया था. इस युवा खिलाड़ी ने भारत में 40 चैम्पियनशिप खिताब जीते हैं. शकूरपुर में रहने वाली नसरीन के घर पहुंचकर दिल्ली पुलिस ने उनकी मदद की.


ये भी पढ़ें:-

फिर बंद हो सकती है शाहीन बाग-कालिंदी कुंज सड़क, Delhi Police कमिश्नर और गृह सचिव को लिखा लैटर!

Unlock 1.0: दिल्‍ली के अस्‍पतालों में इन बाहरी मरीजों का भी होगा इलाज, केजरीवाल सरकार ने तय किए शर्त

Tags: Delhi police, Food, Lockdown. Covid 19, Migrant labour

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर