Assembly Banner 2021

दिल्ली में एयर पॉल्यूशन से युवती को हुआ कैंसर, डॉक्‍टर बोले- यह पहला मामला

प्रतीकात्मक फोटो

प्रतीकात्मक फोटो

सर गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने जहरीली हवा से एक युवती को फेफड़ों का कैंसर होने का दावा किया है. डॉक्‍टरों का कहना है कि प्रदूषण से कैंसर होने का यह पहला मामला है.

  • Share this:
दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण की वजह से यहां की हवा इस हद तक जहरीली हो गई है कि लोगों को बीमार नहीं, बल्कि बहुत अधिक बीमार बना रही है. सर गंगाराम अस्पताल के डॉक्टरों ने जहरीली हवा से एक युवती को फेफड़ों का कैंसर होने का दावा किया है. डॉक्टर इसे पहला मामला बता रहे हैं.

अमर उजाला के अनुसार, सेंटर फॉर चेस्ट सर्जरी के प्रमुख डॉ. अरविंद कुमार ने कहा कि पिछले हफ्ते उनकी ही ओपीडी में एक मल्टीनेशनल आईटी कंपनी में कार्यरत 28 वर्षीय युवती जांच के लिए आई थी. वह शुरुआत में करीब 6 साल तक परिवार के साथ गाजीपुर इलाके में रही थी. बाद में परिवार पश्चिमी दिल्ली में आकर रहने लगा. परिवार के किसी भी सदस्य के धूम्रपान करने का रिकॉर्ड भी नहीं मिला है. यह मामला सीधे वायु प्रदूषण से ही जुड़ा है.

शोध कराए सरकार
बता दें कि हाल ही में सरकार ने लोकसभा में जानकारी दी थी कि देश में प्रदूषण से मौत का कोई मामला सामने नहीं आया है. डॉ. कुमार का कहना है कि दुनिया में सभी इंसान की शारीरिक संरचना एक जैसी है. इसमें प्रदूषण साइलेंट किलर की तरह काम करता है, जिसका असर एक-दो नहीं, बल्कि 20-30 साल बाद दिखता है. उन्होंने कहा कि अगर सरकार चाहे तो इस युवती के मामले पर किसी भी संस्था से शोध या अध्ययन करा सकती है.
WHO इसे घोषित कर चुका है स्‍वास्‍थ्‍य आपात


डब्ल्यूएचओ इसे दुनिया भर में जन स्वास्थ्य आपात (पब्लिक हेल्थ इमरजेंसी) घोषित कर चुका है. अक्तूबर 2018 में आई केंद्रीय विज्ञान मंत्रालय की एक रिपोर्ट के मुताबिक, दिल्ली में 41 फीसदी पीएम 2.5 के प्रदूषित कण वाहनों से, 21.5 फीसदी धूल और 18 फीसदी प्रदूषण कण विभिन्न फैक्टरियों की वजह से हैं. डब्ल्यूएचओ के अनुसार, भारत में प्रदूषण से सालाना करीब 15 लाख लोगों की मौत हो रही है. स्टेट ऑफ ग्लोबल एयर 2019 की रिपोर्ट के मुताबिक, घर के भीतर या लंबे समय तक बाहरी वायु प्रदूषण से घिरे रहने की वजह से 2017 में दुनियाभर में 50 लाख लोगों की मौत हो गई थी, जबकि भारत में करीब 12 लाख मौतें प्रदूषण से हुईं हैं.

ये भी पढ़ें -

देश के पहले मुस्लिम एयर फोर्स चीफ जिन्होंने 1971 में पाक को सिखाया सबक

बंद हो गया 17 साल पुराना डासना टोल प्लाजा, जाम से मिलेगी राहत

दिव्यांग की गांजा तस्करी के तरीके को देखकर पुलिस भी रह गई हैरान
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज