होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /बदला-बदला नजर आ रहा है पुरानी दिल्ली का ये मार्केट, बल्ब की जगह बिक रहे हैं मास्क और PPE किट

बदला-बदला नजर आ रहा है पुरानी दिल्ली का ये मार्केट, बल्ब की जगह बिक रहे हैं मास्क और PPE किट

सर्जिकल उपकरणों के इस बाजार की दुकानें कोरोना संक्रमण के कारण बढ़ी डिमांड के कारण फायदे में नजर आ रही है. (प्रतीकात्मक फोटो)

सर्जिकल उपकरणों के इस बाजार की दुकानें कोरोना संक्रमण के कारण बढ़ी डिमांड के कारण फायदे में नजर आ रही है. (प्रतीकात्मक फोटो)

पुरानी दिल्ली (Old Delhi) का एक मार्केट इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक सामानों की बिक्री के लिए पूरे देश में फेमस है. लेकि ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. जब भी किसी सामान की डिमांड ज्यादा बढ़ जाती है तो दिल्ली के व्यापारी उसे पहुंचाने के लिए हमेशा तैयार रहते हैं. अगर इसके लिए भारतीय जुगाड़ की भी जरूरत पड़े तो वो पीछे नहीं रहते. हम आपको पुरानी दिल्ली (Old Delhi) के भागीरथ पैलेस (Bhagirath Palace) की कहानी आज बताने जा रहे हैं. यह मार्केट इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक सामानों की बिक्री के लिए दिल्ली के अलावा पूरे देश में फेमस है. लेकिन कोविड-19 (Covid-19) महामारी के कारण यह मार्केट पूरी तरह बदल गया है. महामारी के दौरान यह मार्केट राजधानी के पीपीई मार्केट के तौर पर विकसित हो चुका है. यहां के दुकानदारों ने लाइट्स और बल्ब की जगह कोरोना से सुरक्षा के लिए जरूरी मेडिकल किट्स बेचना शुरू कर दिया है. क्योंकि राजधानी में इसकी डिमांड फिलहाल काफी बढ़ गई है.

    बढ़ती डिमांड के कारण फायदे में दिख रहे विक्रेता
    भागीरथ पैलेस के सर्जिकल उपकरणों के इस बाजार की दुकानें कोरोना संक्रमण के कारण बढ़ी डिमांड के कारण फायदे में नजर आ रहे हैं. इलेक्ट्रॉनिक दुकानों के मालिकों ने पीपीई सुट्स को 150-200 रुपए प्रति पीस बेचना शुरू किया. इसके अलावा यहां 2 रुपए से लेकर-80 रुपए तक का मास्क और हैंड सैनेटाइजर की 50 एमएल की बोतल 15-20 रुपए में बेची जा रही है. जबकि ग्लब्स की कीमत 3.50 रुपए से लेकर 10 रुपए तक है.

    क्वालिटी पर खड़ा हो रहा प्रश्नचिह्न
    टाइम्स ऑफ इंडिया की एक रिपोर्ट के अनुसार, वैसे तो इन सामानों के ये दाम काफी किफायती हैं. लेकिन इनकी क्वालिटी पर प्रश्न भी खड़ा हो सकता है. दरअसल, इन सामानों में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की जारी गाइंडलाइंस का पूरी तरह पालन होता नहीं दिख रहा है. पीपीई कवरऑल सामान्य तौर पर हाइ डेन्सिटी पोलिथीन (High Density Polyethylene) और बगैर बुने हुए कपड़े से बने रहते हैं. लेकिन यहां बने पीपीई सुट इस गाइडलाइन का पालन करते नजर नहीं आ रहे हैं. इस कारण आम लोगों और खरीदारों की सुऱक्षा पर भी प्रश्नचिह्न खड़ा हो रहा है.



    ये भी पढ़ें: 

    Delhi: एक और IPS अधिकारी Covid 19 की चपेट में, महिला DCP निकलीं कोरोना पॉजिटिव

    Tags: Corona Days, Corona disaster, Corona Virus, Delhi, Delhi news, New Market, PPE Kit

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें