Home /News /delhi-ncr /

कोविड से मरने वालों के परिजनों को इस स्‍कीम से मिल रहा नकद पैसा, आवेदन करना हुआ सरल

कोविड से मरने वालों के परिजनों को इस स्‍कीम से मिल रहा नकद पैसा, आवेदन करना हुआ सरल

ईएसआईसी की कोविड 19 रिलीफ स्‍कीम के तहत हजारों लोगों को कैश बेनिफिट मिल चुका है.

ईएसआईसी की कोविड 19 रिलीफ स्‍कीम के तहत हजारों लोगों को कैश बेनिफिट मिल चुका है.

Covid-19 Relief Scheme: तीन जून 2021 से इस योजना को लागू किया गया है. किसी खास बीमारी को लेकर आई यह पहली योजना है. इसमें कोरोना बीमारी की चपेट में आकर मरने वाले कर्मचारियों के परिवारों को आर्थिक मदद दी जा रही है. अभी तक ईएसआईसी कोविड-19 रिलीफ स्‍कीम के तहत साढ़े 3 हजार के करीब आवेदन आ चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

नई दिल्‍ली. देश में कोरोना महामारी (Corona Pandemic) ने दूसरी लहर में काफी कहर बरपाया था. इस दौरान बड़ी संख्‍या में कोरोना की चपेट में आए लोगों की मौत हुई थी. हालांकि कोरोना में मरने वाले लोगों के परिजनों को आर्थिक मदद (Financial Aid) देने के लिए सरकारों के अलावा कई अन्‍य विभागों ने भी नई-नई स्‍कीमें लागू की थीं. इसी दौरान एम्‍प्‍लॉय स्‍टेट इंश्‍योरेंस कॉर्पोरेशन (ESIC) की ओर से कोविड-19 रिलीफ स्‍कीम (Covid-19 Relief Scheme) शुरू की गई थी. जिसका लाभ हजारों की संख्‍या में लोग उठा चुके हैं.

ईएसआईसी की तरफ से शुरू की गई इस स्‍कीम के तहत उन लोगों के आश्रितों (Dependents) को राहत प्रदान की जा रही है, जिनकी ईएसआईसी में भुगतान करने के दौरान कोरोना से मौत (Covid-19 death) हो गई. खास बात है कि इस स्‍कीम का लाभ नकद भुगतान के रूप में हो रहा है और मासिक हो रहा है. ऐसे में कोविड से व्‍यक्ति की मौत के बावजूद भी आश्रित परिजनों को बतौर वेतन आर्थिक मदद मिल रही है.

इस बारे में ईएसआईसी में इंश्‍योरेंस कमिश्‍नर, रेवेन्‍यू एंड बेनिफिट एम के शर्मा ने बताया कि तीन जून 2021 से इस योजना को लागू किया गया है. किसी खास बीमारी को लेकर आई यह पहली योजना है. इसमें कोरोना बीमारी (Corona disease) की चपेट में आकर मरने वाले कर्मचारियों के परिवारों को आर्थिक मदद दी जा रही है. अभी तक ईएसआईसी कोविड-19 रिलीफ स्‍कीम के तहत साढ़े 3 हजार के करीब आवेदन आ चुके हैं. ये वे लोग हैं जो ईएसआईसी में भुगतान देते थे और कोरोना से मर गए. इनके सभी आश्रितों को हर महीने मृतक के वेतन का 90 फीसदी पैसा दिया जा रहा है.

शर्मा कहते हैं कि इसके लिए शर्तें भी काफी सरल की गई हैं. ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है. अगर कोविड होने से तीन महीने पहले भी किसी ने ईएसआईसी में रजिस्‍ट्रेशन (ESIC Registration) कराया है और सिर्फ 70 दिन ही भुगतान किया है फिर भी उसके परिजनों को उसके वेतन का 90 फीसदी हिस्‍सा हर महीने बतौर हित लाभ जीवनपर्यन्‍त दिया जा रहा है. खास बात है कि आवेदन भले ही साढ़े तीन हजार लोगों के आए हैं लेकिन इससे लाभ पाने वाले हजारों आश्रित हैं. एक परिवार में बीवी, बच्‍चे, माता-पिता या भाई-बहन कोई भी आश्रित हो सकता है ऐसे में यह पैसा सभी को बांटा जा रहा है.

एम के शर्मा कहते हैं कि मान लीजिए किसी व्‍यक्ति की सैलरी (Salary) 15 हजार रुपये महीने है तो उसकी कोरोना से मौत के बाद उसके परिवार को 15 हजार का 90 फीसदी पैसा हर महीने दिया जाएगा. यह उस परिवार के लिए काफी बड़ी राहत होगी. ऐसे में परिवार आसानी से अपना जीवनयापन कर सकेगा.

ये भी हैं शर्तें 

शर्मा कहते हैं कि इस योजना का लाभ मृत कर्मचारी की पत्‍नी तब तक उठा सकती है कि जब तक वह दूसरी शादी नहीं कर लेती. वहीं अगर परिवार में उसकी बेटी है तो उसे तब तक सैलरी का भुगतान होगा जब तक कि उसकी भी शादी नहीं हो जाती. वहीं माता-पिता को जीवनपर्यंत इस योजना का लाभ पेंशन के रूप में मिलेगा. इसके साथ ही बेटे को उसके बालिग होने तक इसका लाभ मिलेगा.

Tags: Corona death, Corona Virus, COVID 19, ESIC

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर