Terror Alert: गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली-एनसीआर पर आतंकी हमले का खतरा, ISI रच रही साजिश

ISI भारत पर हमले की साजिश रच रही है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)
ISI भारत पर हमले की साजिश रच रही है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर)

सरहद पार बैठे आतंक के आकाओं का मानना है कि अल बद्र (Al Badr) को जिंदा कर उसकी पहचान वापस दिलाने के लिए एक बड़ा हमला जरूरी है. इसलिये ISI ने अल बद्र को सक्रिय करने की जिम्मेदारी हिजबुल कमांडर रियाज नायकू को सौंपी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 19, 2020, 9:21 AM IST
  • Share this:
नीतीश

नई दिल्ली. पूरा देश इन दिनों गणतंत्र दिवस की तैयारियों में जुटा है. मुख्‍य कार्यक्रम राजधानी दिल्‍ली में आयोजित होता है, जबकि प्रत्‍येक राज्‍य में भी गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया जाता है. 26 जनवरी को पूरा भारत गणतंत्र दिवस (Republic Day) मनाता है, लेकिन खबर आ रही है कि पाकिस्‍तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई (ISI) इस बार के गणतंत्र दिवस पर आतंकी हमला (Terrorist Attack) करने की साजिश रच रही है. भारत की खुफिया एजेंसियों को दिल्ली में आतंकियों के कुछ हिमायती के घुसने का शक है.

रियाज नायकू को अल बद्र की जिम्मेदारी
खुफिया एजेंसियों के अनुसार, सरहद पार से अल बद्र के जरिये हमला कराने का निर्देश दिया गया है. सरहद पार बैठे आतंक के आकाओं का मानना है कि अल बद्र को फिर से सक्रिय कर उसकी पहचान वापस दिलाने के लिए एक बड़ा हमला जरूरी है. जानकारी के मुताबिक, इसलिए ISI ने अल बद्र को जिंदा करने की जिम्मेदारी हिजबुल कमांडर रियाज नायकू को सौंपी है.
रियाज नायकू ने हम्माद को सौंपी जिम्मेदारी


खुफिया सूत्रों की मानें तो रियाज नायकू गंभीर रूप से बीमार है. बताया जाता है कि उसका किडनी खराब हो गया है, इसलिए उसने यह जिम्मेदारी अपने साथी आतंकी हम्माद को सौंप दी है. हम्माद फिलहाल अल बद्र के लिए रिक्रूटमेंट और ट्रेनिंग के काम को देख रहा है. हमले के प्लान के मुताबिक, हिजबुल के लोगों से ट्रेनिंग लेकर अल बद्र के आतंकी हिजबुल के लॉजिस्टिक और सपोर्ट का इस्तेमाल कर हमला करेंगे. इस तरह गणतंत्र दिवस के मौके पर हमले की जिम्मेदारी अल बद्र की होगी.

40 सक्रिय आतंकी संगठन
बता दें कि आतंकवाद की पनाहगाह रहे पाकिस्तान में करीब 40 आतंकी संगठन सक्रिय हैं, जो हमेशा से भारत के लिए खतरा हैं. इनमें से अल बद्र भी एक है. अगर आंकड़ों पर गौर करें तो पता चलेगा कि अब तक हजारों निर्दोष लोगों की हत्या इन आतंकवादियों ने अकारण ही कर दी है.

सुरक्षा-व्‍यवस्‍था सख्‍त
गणतंत्र दिवस और आतंकी हमले को देखते हुए खुफिया एजेंसियों के साथ ही सुरक्षाबल के जवान भी चौकस हो गए हैं. राजधानी दिल्‍ली पर आतंकी हमले के खतरे को देखते हुए सुरक्षा-व्‍यवस्‍था काफी सख्‍त कर दी गई है, ताकि 26 जनवरी से पहले या उसके बाद कोई अप्रिय घटना न हो.

ये भी पढ़ें: आतंकियों के मददगार DSP दविंदर के खिलाफ IB को मिले सनसनीखेज सबूत, इस खत से खुल सकता है बड़ा राज़
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज