• Home
  • »
  • News
  • »
  • delhi-ncr
  • »
  • Electric Vehicle: देश में इलेक्ट्रिक कार-बाइक नहीं ये ई-वाहन बने लोगों की पहली पसंद

Electric Vehicle: देश में इलेक्ट्रिक कार-बाइक नहीं ये ई-वाहन बने लोगों की पहली पसंद

इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद बढ़ रही है लेकिन दिलचस्‍प है कि दोपहिया और चार पहिया ईवी के बजाय तिपहिया ईवी की बिक्री सबसे ज्‍यादा हो रही है;

इलेक्ट्रिक वाहनों की खरीद बढ़ रही है लेकिन दिलचस्‍प है कि दोपहिया और चार पहिया ईवी के बजाय तिपहिया ईवी की बिक्री सबसे ज्‍यादा हो रही है;

Electric Vehicles sale in India: 2018 से लेकर अभी तक की बात करें तब भी तिपहिया ईवी की सेल सबसे ज्‍यादा है. 2018 से लेकर अभी तक कुल 1 लाख 60 हजार तिपहिया ईवी बेचे गए हैं जबकि दोपहिया ई-वाहन सिर्फ 48 हजार बिके हैं. चार पहिया में कुल 6 हजार ईवी की सेल हुई है और माल ढुलाई वाले एक हजार वाहन बेचे गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    नई दिल्‍ली. देश में पर्यावरण प्रदूषण (Pollution) को कम करने के लिए निजी और सार्वजनिक परिवहन के लिए पेट्रोल-डीजल वाहनों के बजाय इलेक्ट्रिक व्‍हीकल को बेहतर विकल्‍प बताया जा रहा है. इसके लिए केंद्र सहित राज्‍य सरकारें ई-वाहनों (E-Vehicle) की बिक्री को बढ़ाने के लिए नई-नई योजनाएं और नीतियां भी लेकर आ रही हैं. राज्‍यों में ईवी पॉलिसी (EV Policy) लागू कर चुके कई राज्‍य इलेक्ट्रिक वाहन खरीदने के लिए प्रोत्‍साहन राशि के अलावा कई प्रकार की ऋण की सुविधा और छूट भी दे रहे हैं. यही वजह है कि लोग इलेक्ट्रिक व्‍हीकल (Electric Vehicle) खरीदने के लिए आगे आ रहे हैं. हालांकि ईवी खरीदने को लेकर दिलचस्‍प आंकड़ा सामने आ रहा है.

    दिल्‍ली स्थित पॉलिसी रिसर्च इंस्‍टीट्यूट, काउंसिल ऑन एनर्जी, एनवायरनमेंट एंड वॉटर (CEEW) से मिले आंकड़े बताते हैं कि वित्त वर्ष 2021-22 में 15 अगस्त तक देश में कुल  67,699 इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री हुई है. इनमें ई-बाइक (E-Bike), ई-कार सहित तिपहिया और अन्‍य सार्वजनिक परिवहन के वाहन शामिल हैं. दिलचस्‍प है कि देश में दोपहिया और चार पहिया ईवी के बजाय तीन पहिए (Three Wheeler) वाले इलेक्ट्रिक व्‍हीकल सबसे ज्‍यादा बेचे या खरीदे गए हैं.

    सीईईडब्‍ल्‍यू के मुताबिक देश में इस अवधि में 30,250 दोपहिया वाहन लोगों ने खरीदे हैं जो कि कुल बिक्री का 44.68 फीसदी है. जबकि इसकी तुलना में 33,169 तिपहिया वाहनों की बिक्री हुई है. जो कि दोपहिया से करीब चार फीसदी ज्‍यादा और कुल बिक्री का 48.99 प्रतिशत है. वहीं ई-चार पहिया वाहनों की बिक्री काफी कम हुई है और इनकी संख्‍या 2,973 है. यह कुल वाहन बिक्री का 4.39 फीसदी है. माल की ढुलाई करने वाले गुड्स व्हीकल सिर्फ 798 बेचे गए हैं. यह कुल ईवी बिक्री का 1.32 प्रतिशत है.

    वहीं अगर 2018 से लेकर अभी तक की बात करें तब भी तिपहिया ईवी की सेल सबसे ज्‍यादा है. 2018 से लेकर अभी तक कुल 1 लाख 60 हजार तिपहिया ईवी बेचे गए हैं जबकि दोपहिया ई-वाहन सिर्फ 48 हजार बिके हैं. चार पहिया में कुल 6 हजार ईवी की सेल हुई है और माल ढुलाई वाले एक हजार वाहन बेचे गए हैं.

    काउंसिल का अनुमान है कि 2030 तक देश में कुल 48 लाख ईवी की बिक्री होने का अनुमान है. ऐसा इसलिए भी है कि अभी देश में ईवी के लिए इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर तैयार किया जा रहा है. ईवी के लिए चार्जिंग स्‍टेशन बनाने के साथ ही बैटरी स्‍वैपिंग की सुविधाएं भी तैयार की जा रही हैं. साथ ही ऑटोमोबाइल कंपनियां भी ई-मोबिलिटी को लेकर गाड़‍ियों की नई-नई रेंज लेकर आ रही हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज