भाई को 29 लाख कैश देने जा रहा था शातिर ठग, लेकिन पहुंच गई यूपी पुलिस, फिर...
Delhi-Ncr News in Hindi

भाई को 29 लाख कैश देने जा रहा था शातिर ठग, लेकिन पहुंच गई यूपी पुलिस, फिर...
पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है.

बताया जा रहा है कि शातिर ठग (Fraud) अपने भाई को पैसे देने जा रहा था. इसी दौरान पुलिस (Police) ने उसे गिरफ्तार कर लिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 15, 2020, 11:05 PM IST
  • Share this:
नोएडा. राजधानी दिल्ली से सटे जनपद गौतम बुद्ध नगर थाना फेस-3 ने बीती जुलाई महीने में फ्रेंचाइजी (Franchisee) देने के नाम ठगी (Fraud) करने वाली एक फर्जी कंपनी वेस्टमार्ट का भंडाभोड़ हुआ था. इसमें अब तक करीब आधा दर्जन से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी के साथ ज्वैलरी सहित करीब 10 करोड़ रुपए बरामद किए थे. इसी क्रम में मंगलवार को एक सुभाष नाम के आरोपी को भी गिरफ्तार किया है जिसके पास से पुलिस ने 29 लाख रुपए नगद बरामद की है.

डीसीपी हरीश चन्दर ने बताया कि बीते दिनों पुलिस ने एक वेस्टमार्ट कम्पनी का भंडाभोड़ करते हुए खुलासा किया था जोकि लोगों का पैसा इन्वेस्ट कराती थी. साथ ही लोगों को फ्रैंचाइजी देने के नाम पर ठगी करती थी. पुलिस ने कंपनी के कई लोगों को गिरफ्तार किया था. ये फर्जी कंपनी करीब 50 करोड़ का फ्रॉड करके भाग गई थी. गिरफ्तार आरोपियों से ज्वैलरी सहित करीब 10 करोड़ रुपए बरामद कर लिया गया. जबकि बाकी आरोपियों की तलाश जारी है. इसी क्रम में मंगलवार को सुभाष अपने मौसेरे भाई राजेश को 29 लाख रुपए पंहुचाने जा रहा था. तभी पुलिस ने इसे गिरफ्तार कर लिया. अब आगे की वैधानिक कार्रवाई की जा रही है.

29 लाख कैश बरामद.




ये भी पढ़ें: हल्द्वानी: मधुमक्खियों ने किया ऐसा कमाल, जान बचाकर दौड़े खुदकुशी करने टंकी पर चढ़े पार्षद
नगद बरामद

फोटो में प्लास्टिक के बॉक्स में रखी ये पांच-पांच सौ की गड्डी कोई मामूली रकम नहीं है. ये पूरे 29 लाख रुपए की धनराशि है. ये रकम पुलिस ने आरोपी सुभाष की गिरफ़्तारी के साथ बरामद की है. दअरसल सुभाष अपने मौसेरे भाई राजेश (कंपनी के मुखिया) को पहुंचाने जा रहा था, तभी पुलिस को मुखबिर द्वारा सूचना मिली और इसे वैशाली मेट्रो स्टेशन से गिरफ्तार कर लिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज