होम /न्यूज /दिल्ली-एनसीआर /MCD चुनाव में कैश के बदले टिकट मामला: आरोपी प्रिंस रघुवंशी को राउज एवेन्यू कोर्ट से मिली जमानत

MCD चुनाव में कैश के बदले टिकट मामला: आरोपी प्रिंस रघुवंशी को राउज एवेन्यू कोर्ट से मिली जमानत

दिल्ली नगर निगम चुनाव में कैश के बदले टिकट देने के मामले में आरोपी प्रिंस रघुवंशी को राउज एवेन्यू कोर्ट से जमानत मिल गई है. (File Photo)

दिल्ली नगर निगम चुनाव में कैश के बदले टिकट देने के मामले में आरोपी प्रिंस रघुवंशी को राउज एवेन्यू कोर्ट से जमानत मिल गई है. (File Photo)

कमला नगर के वार्ड नम्बर 69 की कार्यकर्ता शोभा खारी ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी के MLA अखिलेश पति त्रिपाठी ने MCD ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली: दिल्ली नगर निगम चुनाव में कैश के बदले टिकट देने के मामले में आरोपी प्रिंस रघुवंशी को राउज एवेन्यू कोर्ट से जमानत मिल गई है. एंटी करप्शन ब्यूरो ने प्रिंस रघुवंशी की जमानत का विरोध किया. एजेंसी ने कहा कि अभी मामले में जांच जारी है, आरोपी रिश्वत का पैसा लेने के लिए गए थे, प्रिंस रघुवंशी, ओम सिंह को पहले से जनता था, ऐसे में प्रिंस रघुवंशी को जमानत नहीं दी जानी चहिए. शिकायतकर्ता के मुताबिक 15 नवंबर की रात ओम सिंह उसकी पत्नी शोभा को कैश के बदले MCD चुनाव में आम आदमी पार्टी का टिकट दिलाने के लिए शिवशंकर पांडे और प्रिंस रघुवंशी के साथ घूस के 33 लाख रुपये लेकर  उसके घर पहुंचा था.

यहां एसीबी ने एक स्वतंत्र गवाह की मौजूदगी में तीनों को कैश के साथ रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया था. दरअसल, कमला नगर के वार्ड नम्बर 69 की कार्यकर्ता शोभा खारी के पति ने एसीबी के पास की गई  शिकायत में आरोप लगाया था कि आम आदमी पार्टी के MLA अखिलेश पति त्रिपाठी ने MCD चुनाव में टिकट दिलाने के बदले उनसे 90 लाख रुपये की मांग की थी. शिकायतकर्ता ने एसीबी को बताया कि उसने 35 लाख रुपये अखिलेश पति त्रिपाठी और 20 लाख रुपये वजीरपुर MLA राजेश गुप्ता को बतौर रिश्वत दिए थे. शिकायतकर्ता के मुताबिक बाकी 35 लाख रुपये टिकट सूची में नाम आने के बाद देने थे. लेकिन, 55 लाख रुपए देने के बावजूद शिकायतकर्ता की पत्नी शोभा खारी को चुनाव का टिकट नहीं दिया गया.

एंटी करप्शन ब्यूरो के मुताबिक, आम आदमी पार्टी के विधायक अखिलेश पाति त्रिपाठी का साला ओम सिंह, उनका निजी सहायक शिव शंकर पांडे और प्रिंस रघुवंशी उस वक्त पकड़े गए जब वे शिकायतकर्ता के घर रुपये वापस करने गए थे. उसी वक्त उन्हें घेरने के लिए जाल बिछाया गया था. एसीबी ने कहा कि आरोपियों से अभी 22 लाख रुपये और वसूले जाने हैं. फिलहाल जांच प्रारंभिक स्तर पर है. उन्हें अल सुबह गिरफ्तार किया गया. कोर्ट में सुनवाई की तारीख को एसीबी ने कहा कि एमएलए अखिलेश त्रिपाठी और एमएलए राजेश गुप्ता इस मामले में शामिल हैं. राउज एवेन्यू कोर्ट ने गत 18 नवंबर को ओम सिंह और उनके निजी सहायक शिव शंकर पांडे को 12 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा था.

Tags: AAP, Delhi MCD, Delhi MCD Election 2022

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें