निर्भया गैंगरेप: तिहाड़ जेल के अंदर इस अफसर की मौजूदगी में होगा फांसी का ट्रायल
Delhi-Ncr News in Hindi

निर्भया गैंगरेप: तिहाड़ जेल के अंदर इस अफसर की मौजूदगी में होगा फांसी का ट्रायल
चारों दोषियों को 22 जनवरी की सुबह 7 बजे फांसी दी जाएगी.

जल्द ही तिहाड़ जेल प्रशासन (Jail administration ) पीडब्ल्यूडी के एक इंजीनियर की मौजूदगी में फांसी (Hanging) का ट्रायल करेगा. इस दौरान वहां जेल सुपरिटेंडेंट सहित कई अधिकारी भी मौजूद रहेंगे

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2020, 9:50 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. निर्भया गैंगरेप (Nirbhaya Gangrape) केस से जुड़े सभी चार दोषियों की फांसी (Hanging) का डेथ वारंट (Death Warrant) पटियाला हाउस कोर्ट (Patiala House Court) से जारी हो चुका है. अब दोषियों की एकमात्र उम्मीद सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में दाखिल होने वाली क्यूरेटिव पिटीशन (पुनर्विचार याचिका) होगी. दूसरी ओर तिहाड़ जेल (Tihar Jail) प्रशासन ने फांसी की तैयारी शुरू कर दी है. न्यूज़ एजेंसी एएनआई के अनुसार जल्द ही जेल प्रशासन पीडब्ल्यूडी के एक इंजीनियर की मौजूदगी में फांसी का ट्रायल करेगा. इस दौरान जेल सुपरिटेंडेंट सहित कई अधिकारी वहां मौजूद रहेंगे.

जेल प्रशासन को पहले से तैयारी करनी होती है 

फांसी देने वाले पवन जल्लाद की मानें तो फांसी की तारीख से कई दिन पहले फांसी घर तैयार किया जाता है. वहां लाइटिंग व्यवस्था ठीक की जाती है. फांसी के तख्ते को ठीक किया जाता है. जिस हैंडल को खींचकर फांसी दी जाती है उसकी ऑयलिंग की जाती है. दोषियों के वजन के बराबर रेत के बोरे तैयार किए जाते हैं. रस्सी का फंदा बनाया जाता है, फिर रेत के बोरे को दो से तीन बार फांसी देकर ट्रायल किया जाता है.



कुछ नहीं बोल रहे दोषियों के परिवार



दोषी विनय शर्मा के पिता दिल्ली के रविदास कैंप में अपने छोटे और अंधेरे घर का दरवाजा बंद करते हुए कहते हैं, ‘अब हमारे कहने के लिए कुछ नहीं बचा है, कृपया कर हमें अकेला छोड़ दीजिए.’ इलाके में सन्नाटा पसरा है. गुट बना कर बात कर रहीं कुछ महिलाएं कॉलोनी में किसी भी अजनबी चेहरे को देखकर ठिठक जाती हैं और कुछ भी कहने से बचती हैं. उनमें से एक महिला ने कहा, ‘यहां सब ठीक है.’ इलाके का कोई भी व्यक्ति बात करने से कतराता नजर आया और जिसने भी बात की तो बस इतना कहा, ‘यहां सब ठीक है.’



मीडिया से बात करने पर झगड़ती है दोषी पवन की मां

निर्भया गैंगरेप के दो दोषियों राम सिंह और मुकेश सिंह की मां इलाका छोड़ कर अपने परिवार के पास राजस्थान चलीं गई हैं. वहीं दोषी विनय शर्मा और पवन गुप्ता का परिवार वहीं झुग्गी बस्ती में रहता है. पवन गुप्ता का परिवार जहां रहता है, वहां के लोग कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हुए. एक महिला मे कहा, ‘अगर मीडिया से बात करो को पवन की मां झगड़ा करती है. जब सब खत्म हो जाएगा तो आप लोग तो चले जाओगे लेकिन हमें तो यहीं रहना है.’ पवन गुप्ता के परिवार ने भी बात करने से मना कर दिया.

ये भी पढ़ें- निर्भया गैंगरेप के दोषियों को फांसी देने से पहले यह बड़ी बात बोला पवन जल्लाद

चार महिलाओं समेत कौन हैं वो 35 लोग जिन्हें होनी है फांसी, राष्ट्रपति भी लगा चुके हैं मुहर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading