Tihar jail के कैदी और स्टॉफ का बढ़ रहा Covid रिकवरी रेट, अब तक 552 हो चुके हैं ठीक

कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या घटने का बड़ा असर तिहाड़ जेल के कैदियों पर भी देखने को मिल रहा है. (File Photo)

कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या घटने का बड़ा असर तिहाड़ जेल के कैदियों पर भी देखने को मिल रहा है. (File Photo)

Covid 19 in Tihar Jail: जेल में कुल 376 कैदी और 217 जेल कर्मचारी कोरोना संक्रमित हुए. 347 कैदी और 205 जेल कर्मचारी कोरोना को मात दे चुके हैं. वहीं, वहीं 22 कैदी अभी भी कोरोना संक्रमित हैं तो 12 जेल कर्मचारी अभी भी कोरोना की चपेट में हैं. जिनका उपचार चल रहा है. संक्रमित 7 कैदियों की इलाज के दौरान मौत हो गई.

  • Share this:

नई दिल्ली. दिल्ली में कोरोना (Corona) संक्रमित मरीजों का आंकड़ा आंकड़ा तेजी से कम हो रहा है. वहीं, अब हर रोज होने वाली मौतों (Deaths) में भी बड़ी कमी दर्ज की जा रही है. पिछले 24 घंटे में 156 लोगों ने अपनी जान गंवाई है. वहीं, अब कुल संक्रमित मरीजों की संख्या घटकर 21,739 रह गई है. मंगलवार को 1,568 नए मामले रिकॉर्ड किए गए तो वहीं 4,251 मरीजों ने रिकवर्ड किया. पॉजिटिविटी रेट भी 2.14 % रिकॉर्ड किया गया है.

इस बीच देखा जाए तो कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या घटने का बड़ा असर तिहाड़ जेल के कैदियों पर भी देखने को मिल रहा है. तिहाड़ जेल में बंद कैदी भी लगातार रिकवर्ड कर रहे हैं.

बीते 24 घंटे में जेल के भीतर कोरोना संक्रमित कैदियों की संख्या 376 है. इसमें से 347 कैदी ठीक हो गये हैं. जबकि मार्च माह से 24 मई तक 7 कैदियों की कोरोना से मौत हुई. फिलहाल पूरे तिहाड़ जेल में अभी 22 कैदी कोरोना संक्रमित है, जिनका उपचार चल रहा है. वहीं जेल प्रशासन को उम्मीद है कि जल्द ही यह कैदी भी संक्रमण मुक्त हो जाएंगे.

इस मामले पर तिहाड़ जेल के महानिदेशक संदीप गोयल का कहना है कि बीते अप्रैल माह में जब कोरोना के केस दिल्ली में बढ़ने लगे तो तिहाड़, मंडोली और रोहिणी जेल में भी संक्रमण बढ़ गया था. यहां न केवल कैदी बल्कि जेल कर्मचारी भी संक्रमित होने लगे थे. बीते 24 मई तक जेल में कुल 376 कैदी कोरोना से संक्रमित हुए थे. इनमें से 7 कैदियों की इलाज के दौरान मौत हो गई, जबकि 347 कैदी रिकवर्ड कर गये हैं. वहीं 22 कैदी अभी भी कोरोना संक्रमित है.
217 जेल कर्मचारी आ चुके हैं चपेट में 

इसी क्रम में 217 जेल कर्मचारी कोरोना संक्रमित हुए, जिनमें से 205 जेल कर्मचारी कोरोना को मात दे चुके हैं. डीजी के अनुसार, फिलहाल 12 जेल कर्मचारी अभी भी कोरोना की चपेट में है, जिनका उपचार चल रहा है.

कोविड गाइडलाइंस का सख्ती से हो रहा पालन 



तिहाड़ जेल में कोविड गाइडलाइंस का पालन सख्ती से किया जा रहा है. जेल के सभी कर्मचारी एवं कैदी मास्क लगा रहे हैं. सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए जेल से इमेरजेंसी पैरोल पर कैदियों को छोड़ा भी गया है. जेल में आने वाले नये कैदियों को मंडोली जेल में 14 दिन के लिए क्वारन्टीन किया जाता है.

इस दौरान अगर कोई संक्रमित होता है तो उसका पता चलता है तो उसका उपचार करवाया जाता है, जबकि अन्य कैदियों को क्वारन्टीन अवधि खत्म होने पर नियमित जेल में भेज दिया जाता है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज