Home /News /delhi-ncr /

toll may be imposed on ghaziabad elevated road delsp

गाजियाबाद से दिल्‍ली की ओर फर्राटा भरना हो सकता है महंगा, इस रोड पर लग सकता है टोल

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण करा रहा है सर्वे.

गाजियाबाद विकास प्राधिकरण करा रहा है सर्वे.

राजनगर एक्‍सटेंशन की ओर से दिल्‍ली जाने वाले वाहन चालक एलिवेटेड रोड का इस्‍तेमाल करते हैं. करहेड़ा से यूपी गेट तक 10.3 किमी. लंबी रोड पर जीडीए ने टोल लगाने पर मंथन शुरू कर दिया है. जीडीए के मुख्य अभियंता विवेकानंद सिंह के अनुसार टोल लगाने की संभावनाओं को तलाशा जा रहा है. इसके लिए सर्वे का आदेश दे दिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    गाजियाबाद. मेरठ, गाजियाबाद से दिल्‍ली की ओर एलिवेटेड (elevated road) से फर्राटा भरना महंगा पड़ सकता है. वाहन चालकों को इस पर चलने के लिए टोल चुकाना पड़ सकता है. गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (ghaziabad development authority) इसकी प्रक्रिया शुरू करने जा रहा है. सर्वे कराकर इस टोल (toll) पर फैसला लिया जाएगा. संभावना व्‍यक्‍त की जा रही है कि दो माह में सर्वे का काम पूरा कर लिया जाएगा.

    राजनगर एक्‍सटेंशन की ओर से दिल्‍ली जाने वाले वाहन चालक एलिवेटेड रोड का इस्‍तेमाल करते हैं. करहेड़ा से यूपी गेट तक 10.3 किमी. लंबी रोड पर जीडीए ने टोल लगाने पर मंथन शुरू कर दिया है. जीडीए के मुख्य अभियंता विवेकानंद सिंह के अनुसार टोल लगाने की संभावनाओं को तलाशा जा रहा है. इसके लिए सर्वे का आदेश दे दिया गया है. टोल की राशि अधिक नहीं रखी जाएगी, जिससे रोजाना आने जाने वाले वाहन चालकों पर अतिरिक्‍त बोझ न पड़े. पांच रुपये से 15 रुपये के बीच टोल लगाया जा सकता है.

    ये भी पढ़ें: गाजियाबाद से कानपुर तक बनने वाले इकोनॉमी कॉरिडोर से इन शहरों को होगा फायदा

    2018 में शुरू हुआ था एलिवेटेड रोड

    एलेवेटेड रोड 2018 में शुरू हुआ था. इसके एक वर्ष बाद यानी 2019 में जीडीए ने टोल वसूली की योजना पर काम शुरू किया गया था, लेकिन भाजपा नेताओं ने विरोध के चलते उस समय टोल लगाने का प्रस्‍ताव रोक दिया गया था.

    ये भी पढ़े: गाजियाबाद स्‍टंटबाजों का बना पसंदीदा अड्डा, इसलिए यहां करते हैं स्‍टंट

    रोजाना 40000 वाहन गुजरते हैं

    गाजियाबाद ट्रैफिक पुलिस के अनुसार इस रोड से रोजाना 40000 वाहन गुजरते हैं. इसे 100 किमी. प्रति घंटे की रफ्तार से वाहन गुजर सकें, इस डिजाइन से बनाया गया है. प्राधिकरण ने 700 करोड़ का लोन लिया था. लोन चुकाने के लिए रुपये की आवश्‍यकता है, इसलिए टोल पर‍ विचार किया जा रहा है.

    Tags: Ghaziabad News, Toll plaza

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर